कराची में मानव बम बनकर आई मह‍िला, बस के नजदीक आते ही खुद को उड़ाया, देखें वीडियो

पाकिस्तान के कराची में हुए एक आतंकी विस्फोट में तीन चीनी और एक पाकिस्तानी नागरिक की मौत हो गई। जानकारी के अनुसार, विस्फोट आईबीए (व्यवसाय प्रशासन संस्थान) के कराची विश्वविद्यालय परिसर के बाहर हुआ।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पाकिस्तान के कराची में हुए एक आतंकी विस्फोट में तीन चीनी और एक पाकिस्तानी नागरिक की मौत हो गई। जानकारी के अनुसार, विस्फोट आईबीए (व्यवसाय प्रशासन संस्थान) के कराची विश्वविद्यालय परिसर के बाहर हुआ। विस्फोट में गाड़ी के परखच्चे उड़ गए। इसमें तीन चीनी नागरिकों की मौत हो गई। जिसमें एक पुरुष और दो महिलाएं शामिल है। इनके अलावा, एक ड्राइवर की भी मौत हो गई।

कराची में मानव बम बनकर आई मह‍िला, बस के नजदीक आते ही खुद को उड़ाया, देखें वीडियो

बताया जा रहा है कि यह एक आतंकी योजना थी, जिसे बुर्का पहने महिला ने अंजाम दिया था।
मारे गए चीनी नागरिकों में कन्फ्यूशियस इंस्टीट्यूट के निदेशक झांग शियाओपिंग शामिल हैं, जबकि अन्य दो चीनी नागरिक उसी संस्थान के कर्मचारी थे।

पुलिस अधिकारियों, रेंजर्स और बम निरोधक दस्ते ने इलाके की घेराबंदी कर जांच की और पुष्टि की, कि यह एक आतंकवादी हमला था।

पुलिस अधिकारियों का कहना है कि जांच की जा रही है और विस्फोट के वास्तविक कारणों का पता लगाने के लिए इंस्टीट्यूट के सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं। बलूचिस्तान लिबरेशन आर्मी ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है। हालांकि, यह दावा किया जा रहा है कि हमला चीनी नागरिकों को निशाना बनाकर किया गया था।


कराची के पुलिस प्रमुख गुलाम नबी मेमन ने कहा, हमें संदेह है कि यह एक आत्मघाती हमला है। बुर्का पहने एक महिला वैन के पास पहुंची और विस्फोट हो गया।

शहर के पुलिस प्रमुख ने कहा, हम सबूत इकट्ठा कर रहे हैं, लेकिन ऐसा लगता है कि चीनी नागरिकों को ही असल निशाना बनाया गया था।

विस्फोट के बाद सिंध के मुख्यमंत्री मुराद अली शाह ने पुलिस प्रमुख से संपर्क किया और कराची आयुक्त को घटना पर एक रिपोर्ट सौंपने का भी आदेश दिया।


पाकिस्तान में चीन के बढ़ते प्रभाव, निवेश और उपस्थिति पर भी पश्चिमी शक्तियों द्वारा सवाल उठाए जा रहे हैं और आलोचना की जा रही है। ऐसे में यह धमाका बड़ी साजिश की ओर इशारा करता है। चीनी नागरिकों को निशाना बनाकर किए गए धमाके ने पाकिस्तान के सुरक्षा बलों के लिए सुरक्षा संबंधित परेशानियां और चुनौतियां खड़ी कर दी हैं।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 26 Apr 2022, 8:15 PM