दुनिया की 5 बड़ी खबरें: पाकिस्तान के कराची में बड़ा विमान हादसा और ट्रंप ने घोषित किया आपातकाल

पाकिस्तान के कराची में एक भीषण हादसे में पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंसका विमान एक रिहाइशी इलाके पर गिर गया। हादसे में कई लोगों के मारे जाने की आशंका लगाई जा रही है और चीन ने कहा कि अमेरिका ने चीन-पाकिस्तान के संबंधों को खराब करने की नाकाम कोशिश की है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पाकिस्तान में बड़ा विमान हादसा, 98 लोग थे सवार

पाकिस्तान के सबसे बड़े शहर कराची में एक भीषण हादसे में पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआईए) का विमान एक रिहाइशी इलाके पर गिर गया। पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट में बताया गया है कि विमान कराची के जिन्ना एयरपोर्ट के पास की घनी आबादी वाली माडल कालोनी में गिरा है। इससे रिहाइशी इलाके में भारी नुकसान हुआ है। अभी तक कम से कम चार मकानों के खाक हो जाने की खबर मिली है। दुर्घटनाग्रस्त विमान में चालक दल के आठ सदस्य और 99 मुसाफिर सवार थे। अभी अधिकारियों ने इनके बारे में कोई जानकारी नहीं दी है। पीआईए के प्रवक्ता अब्दुल सत्तार ने बताया कि ए320 एयरबस लाहौर से कराची आ रही थी। हादसे की जगह से धुएं का भारी गुबार उठते देखा गया है। राहत और बचाव के काम में पाकिस्तानी सेना नागरिक प्रशासन की मदद कर रही है। सिंध के स्वास्थ्य मंत्री ने कराची के सभी अस्पतालों में आपातकाल का ऐलान कर दिया है।

US:कोरोना संकट के बीच बाढ़ को लेकर ट्रंप ने घोषित किया आपातकाल

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने गवर्नर ग्रेचेन व्हिटमर के अनुरोध पर एक इमरजेंसी की घोषणा की है। अब कोरोना वायरस संकट के बीच मिशिगन में आई भीषण बाढ़ से हुई तबाही में पीड़ितों को राहत देने की कोशिश की जा रही है। बांधों के फेल होने के चलते मंगलवार भीषण बाढ़ आ गई। इस बाढ़ के चलते डेट्रायट के उत्तर-पश्चिम में लगभग 120 मील (193 किमी) नदी के किनारे के कई हिस्सों में पानी भर गया और लगभग 11,000 निवासियों को विस्थापित होने के लिए मजबूर होना पड़ा। पानी की तेज धार की चपेट में एक केमिकल प्लांट भी आ गया। दावा किया गया कि इस केमिलक प्लांट में एक कंटेनमेंट तालाब भी था जिसमें कई रसायन घुले हुए थे। इससे नीचे की ओर स्थित सुपरफंड विषैली क्लीनअप साइट ही बह गई। कंपनी के आधिकारिक बयान में कहा गया कि तालाब में ब्राइन सॉल्यूशन से निवासियों या पर्यावरण को कोई जोखिम नहीं हुआ है। इस फैक्ट्री से कोई भी उत्पाद रिलीज नहीं हुआ।

कोरोना: श्रीलंका में भगदड़ में 3 महिलाओं की मौत

श्रीलंका की राजधानी कोलंबो में कोरोनोवायरस संबंधी सहायता वितरण के दौरान मची भगदड़ में कम से कम तीन महिलाओं की मौत हो गई जबकि नौ अन्य घायल हो गए। पुलिस ने यह जानकारी दी। समाचार एजेंसी एफे के मुताबिक, पुलिस ने कहा कि यह घटना गुरुवार को कोलंबो के मालिगावाट्टा इलाके में घटी, जहां एक व्यवसायी ने गरीबों को 1,500 श्रीलंकाई रुपये ( 8 डॉलर ) के नकद दान वितरित करने के लिए एक कार्यक्रम आयोजित किया था। देश भर में लॉकडाउन लगा हुआ है जिसने अर्थव्यवस्था को बिना पर्यटन के कगार पर धकेल दिया है, जिससे लाखों लोगों की आजीविका प्रभावित हुई है। पुलिस अधीक्षक जलिया सेनारत्ने ने कहा कि इस घटना के बाद चैरिटी कार्यक्रम आयोजित करने वाले छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है। सेनारत्ने ने पत्रकारों से कहा, "सब कुछ पांच या 10 मिनट के भीतर हुआ। सहायता पाने के लिए 1,000 से अधिक लोग इकट्ठा हुए थे। तीन की मौत हो गई और नौ अन्य घायल हो गए।"

कोरोनावायरस प्रसार को रोकने के लिए काठमांडू सील

नेपाल सरकार ने घनी आबादी वाले शहर राजधानी काठमांडू में कोरोनावायरस के प्रसार को रोकने के प्रयास में इसके सभी प्रवेश बिंदुओं को सील करने का फैसला लिया है। इसकी जानकारी गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने दी। नेपाल में कोरोनावायरस मामलों की संख्या लगातार बढ़ रही है। स्वास्थ्य और जनसंख्या मंत्रालय के अनुसार, देश भर में कोरोनावायरस संक्रमितों की संख्या 457 है, जबकि राजधानी में मामलों की संख्या दर्जनभर है। देश में इस वायारस से मरने वालों की संख्या कुल तीन है। गृह मंत्रालय के प्रवक्ता केदारनाथ शर्मा ने गुरुवार को समाचार एजेंसी सिन्हुआ को बताया, "14 मई को गृह मंत्री राम बहादुर थापा की अध्यक्षता और काठमांडू घाटी में मुख्य जिला अधिकारियों और स्थानीय सरकार के निर्वाचित प्रतिनिधियों द्वारा एक बैठक की गई, जिसमें संबंधित सरकारी अधिकारियों द्वारा जारी किए गए वाहन पास के बिना सभी वाहनों के प्रवेश को रोकने का निर्णय लिया गया है।"

अमेरिका ने पाक से हमारे संबंध खराब करने की कोशिश की :चीन

चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (सीपीईसी) मामले में अमेरिकी राजनयिक एलिस वेल्स के बयान पर चीन ने कड़ी आपत्ति जताते हुए बयान को गैर जिम्मेदाराना बताया है और कहा है कि अमेरिका ने चीन और पाकिस्तान के संबंधों को खराब करने की नाकाम कोशिश की है। पाकिस्तान ने भी वेल्स के बयान पर अपनी प्रतिक्रिया में कहा है कि सीपीईसी को लेकर कोई अंदेशा नहीं होना चाहिए, उसे इस परियोजना से लाभ हुआ है। पाकिस्तान स्थित चीनी दूतावास ने वेल्स के बयान पर कहा है कि वह अतीत में भी ऐसी 'बेबुनियाद' बातें करती रही हैं। चीनी दूतावास ने अपने बयान में कहा कि 'हम पाकिस्तान को बराबर का भागीदार समझते हैं। हम पाकिस्तान से 'डू मोर' (अमेरिका द्वारा पाकिस्तान पर आतंक के खिलाफ और अधिक कार्रवाई करने का दबाव) की मांगें नहीं करते रहते हैं। हम पाकिस्तान के विकास में यकीन रखते हैं और कभी इसके अंदरूनी मामलों में दखल नहीं देते। हमने हमेशा क्षेत्र में पाकिस्तान की सकारात्मक भूमिका को उजागर किया है। हमें किसी शिक्षक, विशेषकर अमेरिका जैसे शिक्षक की जरूरत नहीं है।'

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

लोकप्रिय
next