अमेरिका पहुंचे पीएम मोदी, क्वाड समिट में लेंगे हिस्सा, नेताओं के साथ करेंगे द्विपक्षीय वार्ता

पीएम मोदी ने कहा कि वाशिंगटन डीसी में भारतीय समुदाय के द्वारा किए गए गर्मजोशी से स्वागत के लिए आभारी हूं। हमारा प्रवासी हमारी ताकत है। यह बहुत सराहनीय है कि भारतीय प्रवासियों ने दुनिया भर में खुद को कैसे प्रतिष्ठित किया है।

फोटो: @narendramodi
फोटो: @narendramodi
user

नवजीवन डेस्क

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी क्वाड शिखर सम्मेलन में भाग लेने, नेताओं के साथ द्विपक्षीय वार्ता करने और संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करने के लिए अमेरिका पहुंच गए हैं। बुधवार शाम जब मोदी वाशिंगटन के बाहर एक सैन्य हवाई अड्डे, संयुक्त बेस एंड्रयूज पर उतरे तो उनका स्वागत अमेरिकी अधिकारियों, भारतीय राजनयिकों और भारतीय डायस्पोरा के सदस्यों ने किया। इस सैन्य हवाई अड्डे का उपयोग वीआईपी द्वारा किया जाता है।

पीएम मोदी ने ट्वीट किया, "वाशिंगटन डीसी में भारतीय समुदाय के द्वारा किए गए गर्मजोशी से स्वागत के लिए आभारी हूं। हमारा प्रवासी हमारी ताकत है। यह बहुत सराहनीय है कि भारतीय प्रवासियों ने दुनिया भर में खुद को कैसे प्रतिष्ठित किया है।"

बाइडेन के राष्ट्रपति बनने के बाद यह प्रधानमंत्री मोदी की उनसे पहली मुलाकात होगी। विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने नई दिल्ली में संवाददाताओं से कहा, "'वे अफगानिस्तान में विकास के बाद मौजूदा क्षेत्रीय सुरक्षा स्थिति' और "कट्टरपंथ, चरमपंथ, सीमा पार आतंकवाद और वैश्विक आतंकवादी नेटवर्क को खत्म करने की आवश्यकता" पर चर्चा करेंगे।

वह उपराष्ट्रपति कमला हैरिस, ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन और जापान के योशीहिदे सुगा से भी मुलाकात करेंगे। क्वाड शिखर सम्मेलन में बाइडेन, मॉरिसन और सुगा के साथ, मोदी मार्च में अपनी वर्चुअल बैठक के बाद से समूह द्वारा की गई प्रगति का जायजा लेंगे और भारत-प्रशांत क्षेत्र में अपनी पहुंच बढ़ाने की योजना बनाएंगे, जो अमेरिकी भू-राजनीतिक रणनीति में चीन का सामना करने के लिए महत्वपूर्ण हो गया है।


बाइडेन ने मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र में कहा, "हमने ऑस्ट्रेलिया, भारत, जापान और संयुक्त राज्य अमेरिका के बीच स्वास्थ्य सुरक्षा से लेकर जलवायु और उभरती प्रौद्योगिकियों तक क्षेत्रीय संस्थानों के साथ जुड़ने के लिए क्वाड साझेदारी को बढ़ाया।"

यह क्वाड का पहला इन-पर्सन समिट है। मोदी 'मेक इन इंडिया' पहल को आगे बढ़ाने के लिए व्यापारिक नेताओं और निवेशकों से भी मिल सकते है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia