मलेशियाई पीएम का जाकिर नाइक पर बड़ा बयान, बोले- मोदी ने प्रत्यर्पण पर नहीं की बात, विदेश सचिव ने दी गलत सूचना?

मलेशिया के पीएम महातिर मोहम्मद ने जाकिर नाइक के भाषण पर रोक लगाए जाने के मुद्दे पर कहा कि किसी भी स्थायी निवासी को देश की राजनीति और सिस्टम पर टिप्पणी करने का कोई अधिकार नहीं है।

फोटो: 
फोटो:

नवजीवन डेस्क

केंद्री की मोदी सरकार द्वारा विवादित इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाइक के मलेशिया से प्रत्यर्पण के दावे पर मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि पीएम मोदी ने उनसे मुलाकात के दौरान जाकिर नाइक के प्रत्यर्पण को लेकर कोई चर्चा नहीं की थी। मलेशिया के प्रधानमंत्री मीडिया से बात कर रहे थे। इस दौरान जब उनसे पूछा गया कि क्या जाकिर नाइक को भारत वापस भेजने का कोई प्रस्ताव है? इस पर उन्होंने कहा, “कई देश उसे (जाकिर नाइक) नहीं चाहता है। मैं पीएम मोदी से मिला, उन्होंने मुझसे उसके (जाकिर नाइक) बारे में चर्चा नहीं की। यह शख्स भारत के लिए भी मुसीबत है।”

मलेशियाई पीएम का जाकिर नाइक पर बड़ा बयान, बोले- मोदी ने प्रत्यर्पण पर नहीं की बात, विदेश सचिव ने दी गलत सूचना?

मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ने जाकिर नाइक के भाषण पर रोक लगाए जाने के मुद्दे पर कहा कि किसी भी स्थायी निवासी को देश की राजनीति और सिस्टम पर कमेंट करने का अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा, “जाकिर नाइक मलेशिया का नागरिक नहीं है, उसे पिछली सरकार द्वारा स्थायी निवासी का दर्जा दिया गया था। स्थायी निवासी का मतलब यह नहीं है कि वह देश के सिस्टम या राजनीति पर कमेंट करे। उसने इसका उल्लंघन किया है, अब उसे बोलने की इजाजत नहीं है।”

मलेशियाई पीएम का जाकिर नाइक पर बड़ा बयान, बोले- मोदी ने प्रत्यर्पण पर नहीं की बात, विदेश सचिव ने दी गलत सूचना?

रूस के व्लादिवोस्तोक में पीएम मोदी और मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद के बीच मुलाकात हुई थी। इस मुलाकात के बाद विदेश सचिव विजय गोखले ने इस बैठक के बारे में जानकारी दी थी। गोखले ने बताया था, “मलेशिया के पीएम महातिर मोहम्मद से मुलाकात के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने जाकिर नाइक के प्रत्यर्पण का मामला उठाया। दोनों पक्षों ने फैसला किया है कि हमारे अधिकारी इस संबंध में संपर्क में रहेंगे और यह हमारे लिए महत्वपूर्ण मामला है।”

गौरतलब है कि 53 साल का जाकिर नाइक टेलीविजन के माध्यम से उपदेश देने वाला एक कट्टरपंथी उपदेशक है। उसने 2019 में कथित तौर पर भारत छोड़ा और मुस्लिम बहुल देश मलेशिया चला गया, जहां पर उसे वहां की सरकार ने स्थायी रूप से रहने की इजाजत दे दी थी।

Published: 17 Sep 2019, 11:53 AM
लोकप्रिय