यूक्रेन पर हमले के बाद रूस ने अपना हवाई क्षेत्र बंद किया, अमेरिका समेत NATO देशों की ओर से कार्रवाई का खौफ!

रूस की संघीय हवाई परिवहन एजेंसी ने कहा है कि रोस्तोव (प्लेटोव), क्रास्नोडार (पशकोवस्की), अनापा (विटयाजेवो), गेलेंदजिक, एलिस्टा, स्टावरोपोल, बेलगोरोड, ब्रांस्क, कुस्र्क, वोरोनिश और सिम्फरोपोल हवाई अड्डे अस्थायी रूप से निलंबित रहेंगे। प्रतिबंध 2 मार्च 2022 तक लागू रहेगा।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

रूस की संघीय हवाई परिवहन एजेंसी ने देश के दक्षिण में 12 हवाई अड्डों से आने-जाने वाली सभी उड़ानों को निलंबित कर दिया है। आरटी ने एक रिपोर्ट में बताया कि यह कदम मास्को द्वारा यह खुलासा किए जाने के बाद सामने आया है कि उसने यूक्रेन में हवाई हमले शुरू कर दिए हैं।

रूस की संघीय हवाई परिवहन एजेंसी ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर यह जानकारी दी है। रिपोर्ट के अनुसार, रूस ने एडवाइजरी में कहा है कि लोगों को एयरपोर्ट जाने से बचना चाहिए। यह प्रतिबंध 2 मार्च 2022 तक लागू रहेगा। एजेंसी ने बताया कि रोस्तोव (प्लेटोव), क्रास्नोडार (पशकोवस्की), अनापा (विटयाजेवो), गेलेंदजिक, एलिस्टा, स्टावरोपोल, बेलगोरोड, ब्रांस्क, कुस्र्क, वोरोनिश और सिम्फरोपोल हवाई अड्डों को अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया गया है।


गुरुवार की सुबह, राष्ट्र के नाम एक टेलीविजन संबोधन में पुतिन ने घोषणा की है कि रूस यूक्रेन में एक विशेष सैन्य अभियान शुरू करेगा। क्रेमलिन के अनुसार, कार्रवाई का लक्ष्य उन लोगों (डोनबास के) की रक्षा करना है, जिन्हें यूक्रेनी शासन द्वारा कथित तौर पर आठ साल से प्रताड़ित किया गया है। रूस ने दावा किया है कि वह सैन्य बुनियादी ढांचे, वायु रक्षा सुविधाओं, सैन्य हवाई क्षेत्रों और विमानन (यूक्रेन में) को लक्षित कर रहा है। वहीं रक्षा मंत्रालय ने दावा किया है कि नागरिक आबादी के लिए कोई खतरा नहीं है।

पुतिन ने यूक्रेन के पूर्ण 'विसैन्यीकरण' और 'विनाजीकरण' का भी आह्वान किया और उन लोगों पर मुकदमा चलाने का संकल्प लिया जो नागरिकों के खिलाफ कई खूनी अपराधों में शामिल रहे हैं। रूसी नेता ने यूक्रेनी सैनिकों से तुरंत हथियार डालने का आह्वान किया है, ताकि वे अपने परिवारों के पास घर लौट सकें।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia