रूस ने मारियुपोल में यूक्रेनी सैनिकों को दिया सरेंडर का एक और मौका, स्टील प्लांट से बिना हथियार निकलने को कहा

रूस की ओर से जारी बयान में चेतावनी को दोहराया गया है, क्योंकि इसने रविवार को भी ऐसा ही एक बयान जारी किया था और यूक्रेनी सेना ने उसे खारिज कर दिया था। पता चला है कि कीव अधिकारियों ने अपने सैनिकों को रूसियों के सामने आत्मसमर्पण करने से सख्ती से मना किया है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

रूस ने मंगलवार को काला सागर बंदरगाह शहर मारियुपोल के अजोवस्टल स्टील प्लांट में छिपे बाकी के यूक्रेनी सैनिकों को आत्मसमर्पण करने का एक और मौका दिया है। रसिया टूडे (आरटी) की रिपोर्ट के अनुसार, रूसी रक्षा मंत्रालय ने चेतावनी है कि अजोवस्टल में मौजूद सभी लोगों को बिना किसी हथियार या गोला-बारूद के दो घंटे की समय सीमा के भीतर परिसर से बाहर निकल जाना चाहिए।

रूसी रक्षा मंत्रालय ने कहा, "अजोवस्टल मेटलर्जिकल प्लांट में भयावह स्थिति को देखते हुए, रूसी सशस्त्र बल फिर से राष्ट्रवादी बटालियनों और विदेशी भाड़े के आतंकवादियों को रोकने के लिए 19 अप्रैल, 2022 को मॉस्को के समयानुसार दोपहर 12 बजे से हथियार डालने की पेशकश करता है।" मंत्रालय ने कहा, "अपने हथियार डालने वाले सभी लोगों के लिए उनके जीवन के संरक्षण की गारंटी है।"


रूस की ओर से जारी बयान में चेतावनी को दोहराया गया है, क्योंकि इसने रविवार को भी ऐसा ही एक बयान जारी किया था और यूक्रेनी सेना को एक समान प्रस्ताव दिया गया था, जिसे उन्होंने खारिज कर दिया था। यह पता चला है कि कीव अधिकारियों ने अपने सैनिकों को रूसियों के सामने आत्मसमर्पण करने से सख्ती से मना किया है।

रूस के नए प्रस्ताव के तहत, आजोव बटालियन के कमांडरों को रूसी पक्ष के साथ निर्बाध रेडियो संपर्क स्थापित करने, सभी तरह की शत्रुता को समाप्त करने और इस्पात संयंत्र की परिधि के साथ सफेद झंडे उठाने के लिए कहा गया है। मॉस्को ने फिर से यूक्रेनी नेतृत्व से अपने लड़ाकों को 'मूर्खतापूर्ण प्रतिरोध को रोकने' और आत्मसमर्पण करने का आदेश देने का आह्वान किया है। मंत्रालय ने कहा कि हम समझते हैं कि उन्हें कीव के अधिकारियों से इस तरह के आदेश नहीं मिलने वाले, इसलिए वो खुद ही निर्णय लें और हथियार डाल दें।"


रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे संघर्ष के दौरान मारियुपोल में भयंकर लड़ाई चल रही है। शहर अब लगभग पूरी तरह से रूसी सेना के नियंत्रण में है। जबकि अजोवस्टल प्रतिरोध का आखिरी किला बना हुआ है। आरटी की रिपोर्ट के अनुसार, इंटरसेप्टेड संचार के आधार पर रक्षा मंत्रालय ने पहले कहा था कि स्टील प्लांट में छिपे हुए लोग भूमिगत सुरंगों के विशाल नेटवर्क के साथ, पानी और भोजन की कमी का सामना कर रहे हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia