Russia Ukraine War: युद्ध के बीच मारियुपोल में चारों तरफ तबाही का मंजर, मारे गए 5 हजार नागरिक, 1.70 लाख की घेराबंदी

यूक्रेन के मारियुपोल में कम से कम 61,200 निजी आवास क्षतिग्रस्त हुए हैं, जबकि कुल सात अस्पताल भी प्रभावित हुए हैं। अनुमानों से यह भी पता चला है कि दो विनिर्माण संयंत्र, एक बंदरगाह और 3,057 सैन्य ठिकाने भी क्षतिग्रस्त हुए हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध जारी है। दोनों देशों में से कोई भी पीछे हटने को तैयार नहीं है। वहीं, युद्ध की कीमत यूक्रेन की जनता चुका रही है। जंग के बीच मारियुपोल में चारों तरफ तबाही का मंजर है। मारियुपोल में 1 मार्च को रूसी नाकेबंदी शुरू होने के बाद से, लगभग 5,000 लोग मारे गए हैं, 170,000 अन्य अभी भी घेराबंदी में हैं, जबकि 150,000 को प्रारंभिक अनुमानों के अनुसार रणनीतिक यूक्रेनी बंदरगाह शहर से निकाला गया है। उक्रेइंस्का प्रावदा ने सरकारी अनुमानों का हवाला देते हुए बताया, "5,000 पीड़ितों में से 210 बच्चे थे।"

जंग के बीच चल रही घेराबंदी शुरू होने से पहले, 140,000 निवासियों ने तटीय शहर छोड़ दिया। अनुमानों से आगे पता चला है कि 30,000 लोगों को रूसी सैनिकों द्वारा निर्वासित किया गया है। उन्हें बलपूर्वक यूक्रेन या रूस के पूर्व में कब्जे वाले क्षेत्रों में ले जाया गया है।

इस बीच, शहर में 90 प्रतिशत ऊंची इमारतें क्षतिग्रस्त हो गई हैं, जिनमें से 1,560 (60 प्रतिशत) सीधे रूसी मिसाइलों, बमों, या तोपखाने से प्रभावित हुए और 1040 (40 प्रतिशत) पूरी तरह से नष्ट हो गए।


कम से कम 61,200 निजी आवास क्षतिग्रस्त हुए हैं, जबकि कुल सात अस्पताल भी प्रभावित हुए हैं। अनुमानों से यह भी पता चला है कि दो विनिर्माण संयंत्र, एक बंदरगाह और 3,057 सैन्य ठिकाने भी क्षतिग्रस्त हुए हैं।

शिक्षा संस्थानों में, उनमें से 90 प्रतिशत क्षतिग्रस्त हो गए हैं, जिनमें 23 स्कूल और 28 किंडरगार्टन शामिल हैं जो पूरी तरह से नष्ट हो गए हैं। सोमवार को, मारियुपोल के मेयर वादिम बॉयचेंको ने शहर को पूरी तरह से खाली करने का आह्वान किया है क्योंकि पानी, बिजली या संचार का कोई साधन नहीं है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia