यूक्रेन की राजधानी में रूसी हेलीकॉप्टरों ने बरपाया कहर, राष्ट्रपति ने हमले की तुलना नाजी आक्रमण से की

यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की ने रूसी सेना द्वारा यूक्रेन के खिलाफ किए गए हमले को एक 'नीच' कार्य करार दिया। उन्होंने कहा कि इसी तरह नाजी जर्मनी ने द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान सोवियत संघ पर हमला किया था। उन्होंने कहा कि रूस 'बुराई की राह' पर चल रहा है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

राष्ट्रपति पुतिन की युद्ध की घोषणा के बाद रूसी लड़ाकू हेलीकॉप्टर गुरुवार को यूक्रेन की राजधानी कीव तक पहुंच गए। देखते ही देखते कीव के आसमान में मंडरा रहे रूसी लड़ाकू हेलीकॉप्टरों ने गोस्टोमेल हवाईअड्डे पर अपना कहर ढाना शुरू कर दिया। डेली मेल की रिपोर्ट के अनुसार, हालांकि, यूक्रेनी सेना ने बचाव के लिए एक लड़ाई शुरू की और जमीनी सुरक्षा बल हवाई क्षेत्र पर नियंत्रण स्थापित करने के लिए आगे बढ़ा। इसके बाद चार रूसी हेलिकॉप्टरों पर हवा में ही हमला किया गया।

सुबह क्रीमिया से बाहर निकलते हुए रूसी टैंक खेरसॉन के पास पहुंचे और नीपर नदी की ओर बढ़े, जहां उनके साथ और अधिक हेलीकाप्टर भी जुड़ गए और बिजली संयंत्र पर कब्जा कर लिया। दोपहर में कखोवका हाइड्रोइलेक्ट्रिक प्लांट के ऊपर रूसी झंडा देखा गया। हालांकि यूक्रेनी सेनाएं पूर्व में खार्व के आसपास एक कड़ा प्रतिरोध करती दिखाई दीं, जहां कई रूसी टैंक और बख्तरबंद वाहनों को कीव की सेना द्वारा नष्ट कर दिया गया। रिपोर्ट के अनुसार, इस दौरान सड़कों पर शव पड़े हुए दिखाई दिए। रिपोर्ट में कहा गया है कि दो रूसी सैनिकों को भी क्षेत्र में कीव की सेना ने पकड़ लिया था।


इस बीच यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर जेलेंस्की ने गुरुवार को एक टेलीविजन बयान में घोषणा करते हुए कहा कि उनके देश ने रूस के साथ सभी राजनयिक संबंध तोड़ लिए हैं। आरटी ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया कि यूक्रेन के खिलाफ रूसी हमले को नाजी आक्रमण के समान बताते हुए, जेलेंस्की ने रूसी नागरिकों से सैन्य हमले शुरू करने के अपने सरकार के फैसले का विरोध करने के लिए कहा।

जेलेंस्की ने रूसी सेना द्वारा यूक्रेनी सेना के खिलाफ सुबह के हमले को एक 'नीच' कार्य करार दिया। उन्होंने कहा कि इसी तरह नाजी जर्मनी ने द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान सोवियत संघ पर हमला किया था। उन्होंने कहा कि रूस 'बुराई की राह' पर चल रहा है। जेलेंस्की ने रूसी लोगों से यूक्रेन में हुए हमलों का बड़े पैमाने पर विरोध करने की अपील की और साथ ही यूक्रेन के लोगों से राष्ट्रीय सशस्त्र बलों का समर्थन करने के लिए कहा, जिसमें हथियार उठाना और लड़ाई की तैयारी करना शामिल है।


आरटी ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि उन्होंने यूक्रेन की रक्षा के इच्छुक किसी भी व्यक्ति से व्यक्तिगत प्रतिबंध हटाने का वादा किया, जो उन्होंने पहले लगाया था। यूक्रेनी नेता ने देश के मीडिया से 'सूचना जुटाने' के साथ राष्ट्रीय एकता का समर्थन करने का आह्वान किया। जेलेंस्की ने मीडिया से यह रिपोर्ट करने के लिए कहा कि हमारी सेना कितनी मजबूती से लड़ रही है। उन्होंने कहा कि इस तरह की जानकारी की कमी है और सैनिकों को जनता के समर्थन की जरूरत है।

राष्ट्रपति ने दावा किया कि 'दुश्मन को गंभीर नुकसान हुआ है' और नुकसान और बढ़ेगा। जेलेंस्की ने कहा कि उनकी सरकार यूक्रेन की संप्रभुता की रक्षा करने के इच्छुक सभी लोगों को पहले से ही हथियार वितरित कर रही है, क्योंकि उन्होंने सभी सक्षम व्यक्तियों से मोबिलाइजेशन केंद्रों पर ड्यूटी के लिए रिपोर्ट करने का आह्वान किया है।

आरटी के अनुसार, उन्होंने जोर देकर कहा कि मौजूदा परिस्थितियों में हमारे बीच कोई विरोधी नहीं है और उन्होंने व्यक्तिगत प्रतिबंधों को हटाने की पेशकश की, जो उनकी सरकार ने कुछ राजनीतिक विरोधियों पर लगाए थे, बशर्ते वे 'हमारे देश को हथियारों से बचाने के लिए' तैयार हों।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia