यूक्रेन के बाद अब इस देश में घुसे रूस के लड़ाकू विमान, यूरोपीय देश में मचा हड़कंप

रूस का यूक्रेन पर हमला जारी है। इसी बीच खबर है कि रूसी सेना के 4 फाइटर जेट बुधवार को स्वीडन के हावई क्षेत्र में घुस गए थे। स्वीडन ने रूस पर उसकी हवाई सीमा के उल्लंघन का आरोप लगा कर सनसनी मचा दी है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

रूस का यूक्रेन पर हमला जारी है। इसी बीच खबर है कि रूसी सेना के 4 फाइटर जेट बुधवार को स्वीडन के हावई क्षेत्र में घुस गए थे। स्वीडन ने रूस पर उसकी हवाई सीमा के उल्लंघन का आरोप लगा कर सनसनी मचा दी है। इस खबर के आने के बाद यूरोपीय देश स्वीडन में दहशत फैल गई। बता दें कि रूस यूक्रेन पर लगातार हमला कर रहा है। यूक्रेन की राजधानी कीव पर भी रूसी सेना के हमले तेज हो गए हैं। वहीं इस घटना से स्वीडन में भी डर का माहौल व्याप्त हो गया है। स्वीडन की ओर से जारी बयान के मुताबिक दो सुखोई-27 और दो सुखाई 24 फाइटर जेट अचानक वायु सीमा में घुस आए थे।

गौरतलब है कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कुछ दिन पहले ही चेतावनी दी थी कि अगर स्वीडन और फिनलैंड जैसे देश नाटो के सदस्य बनते हैं तो उन्हें भी खामियाजा भुगतना होगा। इस चेतावनी के बाद घटी इस घटना से स्वीडन में खौफ का माहौल है। वहीं इस घटना को लेकर स्वीडिश एयरफोर्स चीफ कार्ल जोहान एड्सट्रॉम का बयान भी आया है। स्वीडिश एयरफोर्स चीफ इस घटना को अनप्रोफेशनल और गैर-जिम्मेदाराना बताया है। उन्होंने कहा, 'मौजूदा हालात में इस घटना को लेकर हम बेहद चिंतित हैं। यह जो घटना रूस की तरफ से हुई है, वह बेहद अनप्रोफेशनल और गैर-जिम्मेदाराना है।' स्वीडिश एयरफोर्स का दावा है कि स्वीडिश फाइटर जेट्स की ओर से रूसी लड़ाकू विमानों की तस्वीरें भी ली गई हैं।


यूक्रेन पर हमले के बाद से ही स्वीडन और फिनलैंड जैसे देश सतर्क हैं। स्वीडिश एयरफोर्स के चीफ ने कहा कि हम अपनी सुरक्षा और अखंडता की रक्षा के लिए तत्पर हैं। उन्होंने कहा कि स्थिति पूरी तरह से कंट्रोल में है। स्वीडन से इस घटना पर कड़ा विरोध जताया है। स्वीडन के रक्षा मंत्री ने कहा कि रूस के इस हरकत को कतई स्वीकार नहीं किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि स्वीडन इसके खिलाफ कड़ा कूटनीतिक विरोध दर्ज कराएगा।

बता दें कि यूक्रेन पर रूस के हमले पर स्वीडन ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। स्वीडन ने यूक्रेन को हथियार देने का भी ऐलान किया है। स्वीडन का कहना है कि वह यूक्रेन को 5,000 ऐंटी टैंक हथियार भेजेगा। स्वीडन के पीएम मागडालेना एंडरसन ने कहा कि रूस ने जिस तरह से यूक्रेन पर हमला किया है, उससे हमारे लिए अपनी ताकत को बढ़ाना जरूरी है ताकि किसी भी तरह के संकट से निपटा जा सके।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 03 Mar 2022, 5:48 PM