श्रीलंका ब्लास्ट: पहली बार सामने आईं संदिग्धों की तस्वीर, सरकार ने मृतकों की संख्या घटाकर 253 की

ईस्टर के मौके पर हुए भीषण आतंकी हमलों को अंजाम देने वाले संदिग्‍ध आतंकियों की फोटो श्रीलंका की ओर से जारी की गई हैं। पुलिस ने जिन संदिग्धों के फोटो जारी किए हैं। उनके नाम मोहम्मद इवुहईम सादिक अब्दुल हक, मोहम्मद कासिम मोहम्मद रिलवान, पुलास्थिनी राजेंद्रन उर्फ साराह हैं।

फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

श्रीलंका में ईस्टर के मौके पर हुए सीरियल बम ब्लास्ट को अंजाम देने वाले संदिग्ध आतंकियों की फोटो पुलिस ने जारी की है। पुलिस ने जिन संदिग्धों के फोटो जारी किए हैं। उनके नाम मोहम्मद इवुहईम सादिक अब्दुल हक, मोहम्मद कासिम मोहम्मद रिलवान, पुलास्थिनी राजेंद्रन उर्फ साराह हैं। बता दें कि पुलिस ने एक अन्य महिला संदिग्ध की फोटो अब्दुल कादर फातिमा नाम से भी जारी की थी। हालांकि, बाद में पता चला कि वे अमेरिकी सामाजिक कार्यकर्ता अमारा मजीद हैं। इसके बाद पुलिस ने माफी मांग ली थी। वहीं इस मामले में अभी तक 60 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

दूसरी ओर बम विस्फोट में मरने वालों की संख्या को लेकर नए आंकड़े सामने आए हैं। श्रीलंका सरकार की ओर से जारी संशोधित आंकड़े के मुताबिक, मरने वालों की संख्या 359 नहीं बल्कि 253 है। श्रीलंका के स्वास्थ्य मामलों के डायरेक्टर जनरल ने एक बयान जारी कर कहा कि मौत के आंकड़े ज्यादा इसलिए बता दिए गए क्योंकि क्षतिग्रस्त शवों की गणना अलग-अलग बिखरे अंगों के आधार पर हुई थी।

श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना का कहना है कि गृह युद्ध के बाद सैन्य खुफिया अधिकारियों पर मुकदमा चलाना राष्ट्रीय सुरक्षा को कमजोर करता है। खुफिया सेवा को कमजोर करने के बाद सरकार को ईस्टर के हमलों की जिम्मेदारी लेनी चाहिए।

इससे पहले बुधवार को राज्य के गृह मंत्री रुवान विजेवर्दने ने घोषणा की थी कि मौत के आंकड़े बढ़कर 359 हो गए हैं। लेकिन इसके बाद गुरुवार को इन आंकड़ों को संशोधित करते हुए श्रीलंका के स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि मरने वालों की संख्या 253 है।

वहीं इन हमलों के बाद रक्षा सचिव हेमासीरी फर्नांडो ने गुरुवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया। राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना ने देश के पुलिस प्रमुख पी जयसुंदर और रक्षा सचिव एच फर्नांडो को बुधवार को ही इस्तीफा देने के लिए कहा था। राष्ट्रपति सिरिसेना ने यह भी कहा था कि आने वाले दिनों में पुलिस और सुरक्षाबलों का पूरी तरह से पुनर्गठन किया जाएगा।

बम धमाकों के करीब 56 घंटे बाद इसकी जिम्मेदारी आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने ली थी। आईएस ने सिलसिलेवार बम धमाकों का वीडियो जारी किया था। इसमें हमलावर बगदादी की कसम खाकर न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च की दो मस्जिदों पर हुए हमलों का बदला लेने की बात करते हुए देखे गए थे। वीडियो में सभी हमलावर आईएस की ड्रेस में दिखे थे।

लोकप्रिय