एलन मस्क की कंपनी स्पेसएक्स पर भेदभाव और यौन उत्पीड़न के गंभीर आरोप, जांच जारी

सात पूर्व कर्मचारियों ने आरोप लगाया कि स्पेसएक्स के अधिकारियों ने यौन उत्पीड़न का मजाक उड़ाया और इस पर बात करने के लिए कर्मचारियों को निकाल दिया।

स्पेसएक्स पर भेदभाव और यौन उत्पीड़न के आरोप
स्पेसएक्स पर भेदभाव और यौन उत्पीड़न के आरोप
user

नवजीवन डेस्क

कुछ दिन पहले तक दुनिया के सबसे अमीर शख्स रहे एलन मस्क इन दिनों गलत वजहों से चर्चा में हैं। अब उनकी कंपनी पर भी सवाल उठने लगे हैं। दरअसल मस्क की कंपनी स्पेसएक्स पर कई गंभीर आरोप लगे हैं। स्पेसएक्स पर अमेरिका में भेदभाव और यौन उत्पीड़न के मामले में जांच की जा रही है।

कई रिपोर्ट के अनुसार, सात पूर्व कर्मचारियों ने आरोप लगाया कि स्पेसएक्स के अधिकारियों ने यौन उत्पीड़न का मजाक उड़ाया और इस पर बात करने के लिए कर्मचारियों को निकाल दिया।

कैलिफोर्निया नागरिक अधिकार विभाग अब कर्मचारियों की उन शिकायतों की जांच कर रहा है कि स्पेसएक्स के अधिकारी महिलाओं के साथ भेदभाव करते हैं।

स्पेसएक्स की शिकायतों में, कर्मचारी भेदभाव के पैटर्न के साथ-साथ मस्क के अनुचित ट्वीट्स का हवाला देते हैं, जिसमें उन्होंने कहा था कि वे आसानी से इससे बच नहीं सकते। वह कंपनी की महत्वपूर्ण घोषणाओं के लिए प्लेटफॉर्म का उपयोग करते हैं।


ब्लूमबर्ग द्वारा रिव्यू की गई एक फाइलिंग के अनुसार, ''एक पूर्व कर्मचारी ने कहा कि उनके परफॉर्मेंस रिव्यू में उन पर अत्यधिक इमोशनल होने का आरोप लगाया गया और सुझाव दिया गया कि उन्हें और ज्यादा विनम्र होना चाहिए, क्योंकि उसने अपने एक पुरुष सहकर्मी द्वारा उसके काम का श्रेय लेने पर चिंता जताई थी।''

वही एजेंसी नस्लीय रूप से पृथक कार्यस्थल संचालित करने के आरोप में टेस्ला पर मुकदमा भी कर रही है। स्पेसएक्स या मस्क ने अभी तक जांच पर टिप्पणी नहीं की है।

कर्मचारियों ने पहले यूएस नेशनल लेबर रिलेशंस बोर्ड को एक शिकायत में स्पेसएक्स पर उन्हें अवैध रूप से नौकरी से निकालने का आरोप लगाया था।

इससे पहले, कैलिफ़ोर्निया डिपार्टमेंट ऑफ फेयर एम्प्लॉयमेंट एंड हाउसिंग (डीएफईएच) ने कैलिफोर्निया में नस्लीय रूप से पृथक कार्यस्थल के रूप में वर्णित संचालन के लिए टेस्ला पर मुकदमा दायर किया।

डीएफईएच के निदेशक केविन किश ने एक बयान में कहा था, ''कर्मचारियों से सैकड़ों शिकायतें प्राप्त करने के बाद, डीएफईएच को सबूत मिले कि टेस्ला की फ्रेमोंट फैक्ट्री एक नस्लीय रूप से अलग कार्यस्थल है, जहां ब्लैक वर्कस को नस्लीय अपमान का सामना करना पड़ता है और नौकरी के असाइनमेंट, अनुशासन, वेतन और पदोन्नति में भेदभाव किया जाता है, जिससे कार्य वातावरण में बाधा आती है।''

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;