भीषण भूकंप से तुर्की और सीरिया में कई शहर मलबे में तब्दील, 550 से ज्यादा की मौत, 3,000 से अधिक लोग घायल

तुर्की में भूकंप सुबह 4.17 बजे आया, जिसका केंद्र गाजियांटेप के पास जमीन से 17.9 किलोमीटर अंदर था। यह क्षेत्र सीरिया बॉर्डर से 90 किमी दूर है। ऐसे में सीरिया के कई शहरों में भी भूकंप के तेज झटके आए और बॉर्डर के दोनों ओर भारी तबाही हुई।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

तुर्की के दक्षिणपूर्वी हिस्से और सीरिया में आज आए भीषण भूकंप से भारी तबाही हुई है। कई शहर भूकंप की भयावहता से मलबे में तब्दील हो गए हैं। इस प्राकृतिक आपदा का कहर कई परिवारों पर टूटा है, जिसमें जानमाल का भारी निकसान हुआ है। ताजा रिपोर्ट के मुताबिक 7.8 तीव्रता वाले इस भीषण भूकंप से आई तबाही से अब तक 550 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है। वहीं 3000 से ज्यादा लोगों के घायल होने की खबर है। यूएस जियोलॉजिकल सर्वे ने आशंका जताई है कि तुर्की और सीरिया में मौत का आंकड़ा एक हजार के पार जा सकता है। वहीं लेबनान में भी तबाही हुई है।

दक्षिणपूर्वी तुर्की के शहर गाजियांटेप के पास 17.9 किमी की गहराई में आज सुबह 4.17 बजे आए शक्तिशाली भूकंप के झटके लेबनान और साइप्रस में भी महसूस किए गए। रिक्टर पैमाने पर भूकंप की तीव्रता 7.8 मापी गई। तुर्की के उप-राष्ट्रपति फुअत ओकटे ने कहा कि मरने वालों की संख्या अब बढ़कर 284 हो गई है। वहीं सीरियाई स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि अलेप्पो, हमा, टार्टस और लताकिया के क्षेत्रों से अब तक 237 लोगों के हताहत होने की सूचना है। तुर्की में घायलों की संख्या 2,323 है, जबकि सीरिया ने 639 की सूचना दी है।

मीडिया को दिए एक बयान में, तुर्की के आंतरिक मंत्री सुलेमोन सोयलू ने कहा कि भूकंप से गाजि़यांटेप, कहारनमारस, हटे, उस्मानिया, आदियामन, मालट्या, सनलीउर्फा, अदाना, दियारबाकिर और किलिस के 10 शहर प्रभावित हुए हैं। मंत्री ने कहा कि गजियांटेप के उत्तर-पूर्व में मालट्या प्रांत, पूर्व में सान्लिउर्फा, दियारबाकिर और उस्मानिया में कई लोगों की मौत हुई।

भीषण भूकंप से तुर्की और सीरिया में कई शहर मलबे में तब्दील, 550 से ज्यादा की मौत, 3,000 से अधिक लोग घायल

समाचार एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, सीरिया के उप स्वास्थ्य मंत्री अहमद दामिरियाह ने कहा कि प्रभावित क्षेत्रों को उपलब्ध कराने के लिए सामान्य आपातकालीन योजनाओं को लागू किया गया है और निजी अस्पतालों से कहा गया है कि वो घायलों का इलाज करें। परिवहन मंत्रालय ने एहतियात के रूप में रेलवे नेटवर्क के पुलों और पटरियों के निरीक्षण तक रेल यातायात को निलंबित करने की घोषणा की है।

दोनों पड़ोसी देशों के अधिकारियों को मरने वालों की संख्या में वृद्धि की आशंका जताई है। कई इमारतें ढह गई हैं और मलबे के ढेर के नीचे बचे लोगों की तलाश के लिए बचाव दलों को तैनात किया गया है। समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने तुर्की के डिजास्टर एंड इमरजेंसी मैनेजमेंट अथॉरिटी (एएफएडी) के हवाले से बताया कि शुरुआती भूकंप के बाद सुबह 4.26 बजे रिक्टर पैमाने पर 6.4 तीव्रता का एक और भूकंप आया। एएफएडी ने कहा कि कम से कम 50 झटके दर्ज किए गए। अभी भी कई और झटके आने की आशंका जताई गई है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;