पाकिस्तान में तेल कंपनियों से आपूर्ति बंद! इस्लामाबाद, रावलपिंडी में पेट्रोल पंपों पर लगीं लंबी कतारें

तेल मार्केटिंग कंपनियों (ओएमसी) द्वारा आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति बंद किए जाने के बाद पाकिस्तान के दो शहरों- इस्लामाबाद और रावलपिंडी में पेट्रोल पंपों के बाहर लंबी कतारें लग गई हैं।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

तेल मार्केटिंग कंपनियों (ओएमसी) द्वारा आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति बंद किए जाने के बाद पाकिस्तान के दो शहरों- इस्लामाबाद और रावलपिंडी में पेट्रोल पंपों के बाहर लंबी कतारें लग गई हैं। जियो न्यूज के मुताबिक, पेट्रोल पंप एसोसिएशन के एक प्रतिनिधि ने कहा कि आपूर्ति रोक दी गई है और टैंकरों को तेल डिपो के बाहर रिफिलिंग के लिए खड़ा कर दिया गया है।

अधिकारी ने ओएमसी को पेट्रोलियम उत्पादों की आपूर्ति फिर से शुरू करने के लिए कहा, क्योंकि अगर पेट्रोल पंपों के भंडार खत्म हो जाते हैं, तो व्यवसाय बुरी तरह प्रभावित होंगे।
उन्होंने कहा, "हम मामले को लेकर तेल आपूर्ति कंपनियों से बातचीत कर रहे हैं।"

इस बीच, पाकिस्तान पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन (पीपीडीए) के अध्यक्ष अब्दुल सामी खान ने कहा, "वित्त मंत्री मिफ्ता इस्माइल द्वारा पेट्रोल की कीमतों में एक और संभावित बढ़ोतरी की घोषणा के तुरंत बाद पेट्रोल पंपों पर कतार लगनी शुरू हो गई।"


उन्होंने कहा कि पेट्रोल पंपों की आपूर्ति अभी बंद नहीं हुई है, लेकिन फिलिंग स्टेशनों पर भीड़ के कारण उनके भंडार जल्द ही खत्म हो सकते हैं। बाद में, रिपोर्टो का खंडन किया गया और स्पष्ट किया गया कि सरकार की पेट्रोलियम उत्पादों की कीमत बढ़ाने की कोई योजना नहीं है।

पाकिस्तान के वित्त मंत्री ने एक ट्वीट में कहा, "आज पेट्रोल की कीमतों में कोई वृद्धि नहीं होगी, और कीमतें बढ़ाने की अभी कोई योजना नहीं है।" वित्त मंत्री ने कहा, "बजट पूर्व सेमिनार में मैंने कभी भी पेट्रोलियम कीमतों के बारे में बात नहीं की। ऐसे टिकर को चलाने वाले चैनल अपने दर्शकों का नुकसान कर रहे हैं।"

एक दिवसीय बजट पूर्व व्यापार सम्मेलन को संबोधित करते हुए इस्माइल ने कहा कि सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान और पाकिस्तान के पूर्व वित्त मंत्री शौकत तारिन के अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के सौदे के मुताबिक फैसला लिया था, उस हिसाब से कीमत पेट्रोल की कीमत 300 रुपये प्रति लीटर होती।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia