महंगाई की चपेट में स्वीडन, 1993 के बाद से सबसे ज्यादा हालात खराब

सांख्यिकी स्वीडन के मूल्य सांख्यिकीविद् कैरोलिन निएंडर ने शुक्रवार को एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा, "2000 के दशक में मापी गई बिजली की कीमतों में यह सबसे ज्यादा मासिक परिवर्तन है।"

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

स्वीडन में दिसंबर 2021 में 1993 के बाद सबसे ज्यादा महंगाई दर्ज की गई। एक निश्चित ब्याज दर के साथ मापी गई उपभोक्ता कीमतों में एक साल पहले की समान अवधि की तुलना में 4.1 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। मुख्य कारक बिजली की लागत है जो पिछले कुछ महीनों में बढ़ गई है। दिसंबर में यह प्रवृत्ति तेज हो गई।

सांख्यिकी स्वीडन के मूल्य सांख्यिकीविद् कैरोलिन निएंडर ने शुक्रवार को एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा, "2000 के दशक में मापी गई बिजली की कीमतों में यह सबसे ज्यादा मासिक परिवर्तन है।"

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, कपड़ों और परिवहन सेवाओं की तरह खाद्य पदार्थों, विशेष रूप से सब्जियों की लागत में भी वृद्धि हुई है।

बिजली की बढ़ती लागत के कारण स्वीडिश सरकार ने इस सप्ताह की शुरूआत में लगभग 18 लाख घरों को मुआवजा देने का वादा किया है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia