तालिबान ने पंजशीर पर किया हमला, जवाबी कार्रवाई में कई लड़ाके ढेर, मजबूरी में लेना पड़ा ये फैसला

पंजशीर प्रांत के सूत्रों ने दावा किया है कि तालिबान ने एक समझौते का उल्लंघन किया है और घाटी के प्रतिरोध बल पर हमले शुरू किए हैं।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

पंजशीर प्रांत के सूत्रों ने दावा किया है कि तालिबान ने एक समझौते का उल्लंघन किया है और घाटी के प्रतिरोध बल पर हमले शुरू किए हैं। खामा न्यूज ने बताया कि सूत्रों ने दावा किया कि विभिन्न स्थानों पर किए गए हमलों का जवाब दिया गया है और तालिबान लड़ाके पीछे हट गए, लेकिन तालिबाने ने इस मुद्दे पर अभी तक कोई टिप्पणी नहीं की है।

इस दौरान पंजशीर में लोगों ने टेलीफोन सेवा न होने की शिकायत की। उनका कहना है कि तालिबान ने दूरसंचार सेवाओं को अवरुद्ध कर दिया है जिससे उन्हें बड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ा है। दूसरी ओर, तालिबान ने पंजशीर प्रांत के सभी रास्तों को भी अवरुद्ध कर दिया है, जिसके कारण घाटी में कीमतें आसमान छू रही हैं।



रिपोर्ट में कहा गया है कि पजशीर प्रांत के लोग तालिबान से प्रांत के लिए रास्ते खोलने के लिए कह रहे हैं। काबुल से 120 किमी उत्तर पूर्व में पंजशीर प्रांत, एकमात्र ऐसा प्रांत है जो तालिबान के नियंत्रण में नहीं है और दिवंगत सैन्य कमांडर अहमद शाह मसूद के बेटे अहमद मसूद के नेतृत्व में तथाकथित प्रतिरोध बल तालिबान से लड़ने का दावा कर रहे हैं।

अहमद मसूद ने कहा कि वह तालिबान के साथ बातचीत करने को तैयार हैं, लेकिन वार्ता विफल होने की स्थिति में प्रतिरोध की चेतावनी दी। तालिबान और पंजशीर प्रांत के नेताओं की परवन प्रांत में एक बैठक हुई थी, जिसका कोई अंतिम परिणाम नहीं निकला था।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 31 Aug 2021, 2:09 PM