बंदरगाह शहर मारियुपोल यूक्रेन के हाथ से निकला, रूस ने लंबी लड़ाई के बाद कब्जे का किया दावा

आरटी की रिपोर्ट में कहा गया है कि राष्ट्रपति पुतिन ने रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगु की मारियुपोल में अजोवस्टल संयंत्र पर हमला करने की योजना को 'अनुचित' बताया है और इसके बजाय क्षेत्र को 'सुरक्षित रूप से अवरुद्ध' करने का आदेश दिया है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

रूस के रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगु ने गुरुवार को राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को सूचित किया कि देश की सेना ने यूक्रेन के प्रमुख बंदरगाह शहर मारियुपोल पर पूरी तरह कब्जा कर लिया है। हालांकि आरटी न्यूज ने शोइगु के हवाले से बताया कि 2,000 से अधिक यूक्रेनी उग्रवादी अभी भी शहर के अजोवस्टल स्टील प्लांट में फंसे हुए हैं।

रूसी रक्षा मंत्री के अनुसार, "मार्च की शुरुआत में जब मारियुपोल को घेरा गया था, तब लगभग 8,100 यूक्रेनी सैनिक, विदेशी भाड़े के सैनिक शहर के अंदर ही फंस गए थे। शोइगु ने कहा कि 1,400 से अधिक उग्रवादियों ने अपने हथियार डाल दिए हैं। 142,000 से अधिक नागरिकों को भी शहर से निकाला गया है।


आरटी रिपोर्ट में कहा गया है कि राष्ट्रपति पुतिन ने शोइगु की अजोवस्टल संयंत्र पर हमला करने की योजना को 'अनुचित' बताया है और इसके बजाय क्षेत्र को 'सुरक्षित रूप से अवरुद्ध' करने का आदेश दिया है। इसमें कहा गया है कि रूस ने हाल के दिनों में संयंत्र छोड़ने के इच्छुक लोगों के लिए मानवीय गलियारा स्थापित करने की दो बार मांग की, लेकिन दोनों प्रयास विफल रहे।

शोइगु ने कहा कि रूसी सेना ने पिछले दो दिनों से संघर्ष विराम की घोषणा की और अजोवस्टल संयंत्र के अंदर के लोगों को जाने की अनुमति देने के पुतिन के आदेश पर पिछले दो दिनों से मानवीय गलियारे खोले थे। शोइगु ने कहा, "हमने उनके लिए करीब 90 बसें और 25 एंबुलेंस तैयार की हैं।" उन्होंने कहा कि स्थिति पर नजर रखने के लिए इलाके में कैमरे लगाए गए हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia