'यूक्रेन के राष्ट्रपति को मारने की प्लानिंग, एक हफ्ते में 3 बार हुई कोशिश, रूसी एजेंसी ने ही विफल की योजना'

यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडिमिर जेलेंस्की को जान से मारने की कोशिश हो रही है। उन्हें खत्म करने की कोशिशें लगातार जारी है, पिछले एक हफ्ते में तीन बार उनकी जान लेने की कोशिश हो चुकी है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडिमिर जेलेंस्की को जान से मारने की कोशिश हो रही है। उन्हें खत्म करने की कोशिशें लगातार जारी है, पिछले एक हफ्ते में तीन बार उनकी जान लेने की कोशिश हो चुकी है। ये दावा किया है ब्रिटेन के अखबार द टाइम ने। हैरानी की बात यह है कि उनकी हत्या की कोशिश को विफल करने में रूसी एजेंसी का ही हाथ है, क्योंकि वे यूक्रेन से यूद्ध के खिलाफ हैं।

गौरतलब है कि रूस यूक्रेन पर पिछले 9 दिनों से हमला कर रहा है। रूस यूक्रेनियन राष्ट्रपति जेलेंस्की के सख्त खिलाफ है। रूस लगातार यूक्रेन पर कब्जा जमाने की कोशिश कर रहा है। कई शहरों पर रूस का कब्जा भी हो चुका है, लेकिन राजधानी कीव पर अब भी यूक्रेन का ही कब्जा है।


द टाइम की खबर के मुताबिक यूक्रेन के राष्ट्रपति को मारने के लिए भाड़े के लोग भेजे गए थे। ये रूसी समर्थित वैगनर समूह और चेचन विशेष बल के थे। खास बात यह है कि राष्ट्रपति जेलेंस्की की हत्या की कोशिश को रूस की ही एक एजेंसी फेडरल सिक्योरिटी ब्यूरो (एफएसबी) की मदद से विफल किया गया। कहा जा रहा है कि एफएसबी के कर्मचारी यूक्रेन के साथ जंग नहीं चाहते हैं और वे इस युद्ध के खिलाफ हैं।

जेलेंस्की ने इससे पहले खुद भी दावा किया था कि उनको मारने के लिए कीव में 400 हत्यारे भेजे गए हैं और इस काम के बदले उनको बड़ा इनाम देने की घोषणा रूस ने की है।


कीव में वैगनर के सैनिकों को उनके प्रयासों के दौरान नुकसान हुआ है और कहा जाता है कि वे इस बात से चिंतित हैं कि यूक्रेनियन ने उनकी चाल का कितना सटीक अनुमान लगाया है।

द टाइम्स ने बताया कि समूह के एक करीबी सूत्र ने कहा कि यह अद्भुत है कि जेलेंस्की की सुरक्षा टीम कितनी सटीक जानकारी थी। शनिवार को, कीव के बाहरी इलाके में जेलेंस्की के जीवन पर एक प्रयास को विफल कर दिया गया था। यूक्रेन के सुरक्षा अधिकारियों ने कहा कि चेचन हत्यारों के एक कैडर को खत्म कर दिया गया है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 04 Mar 2022, 6:07 PM