संघर्ष विराम के दौरान हमास नेताओं को कोई छूट नहीं, इजरायल ने बंधकों की रिहाई के बीच किया ऐलान

इजरायल के रक्षा मंत्री योव गैलेंट ने स्पष्ट रूप से कहा कि हमास के वरिष्ठ नेता, इस्माइल हनीयेह, खालिद मशाल, याह्या सिनवार और मोहम्मद दीफ अंतिम दिन गिन रहे हैं और वे जल्द ही मारे जाएंगे, भले ही वे दुनिया के किसी भी कोने में छुपे हों।

संघर्ष विराम के दौरान हमास नेताओं को कोई छूट नहीं, इजरायल ने बंधकों की रिहाई के बीच किया ऐलान
संघर्ष विराम के दौरान हमास नेताओं को कोई छूट नहीं, इजरायल ने बंधकों की रिहाई के बीच किया ऐलान
user

नवजीवन डेस्क

हमास और इजरायल के बीच चार दिवसीय युद्धविराम जारी है। बंधकों के दो समूहों को शुक्रवार और शनिवार को रिहा किया गया है। लेकिन इस बीच इजरायली सरकार ने हमास नेताओं को कोई छूट नहीं देने का ऐलान करते हुए अपनी खुफिया एजेंसी मोसाद को हमास के वरिष्ठ नेताओं की हत्या करने का आदेश दे दिया है।

इजरायल सरकार के सूत्रों ने बताया कि कतर और मिस्र के मध्यस्थों को कोई आश्वासन नहीं दिया गया कि युद्धविराम के दौरान और उसके बाद भी हमास के नेताओं को कोई छूट मिलेगी। इजरायल के रक्षा मंत्री योव गैलेंट ने स्पष्ट रूप से कहा कि हमास के वरिष्ठ नेता, इस्माइल हनीयेह, खालिद मशाल, याह्या सिनवार और मोहम्मद दीफ अंतिम दिन गिन रहे हैं और वे जल्द ही मारे जाएंगे, भले ही वे दुनिया के किसी भी कोने में छुपे हों।


हालांकि, इज़रायल सरकार के सूत्रों ने बताया कि प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कतर को पुष्टि की है कि इन नेताओं को उसकी धरती पर नहीं मारा जाएगा। दरअसल कतर मध्यस्थता वार्ता में प्रवेश के लिए एक आश्वासन चाहता है। उपलब्ध जानकारी के अनुसार, इज़रायल खलील अल-हया को भी निशाना बना रहा है, जो हमास का पोलित ब्यूरो का सदस्य है और याह्या सिनवार और मोहम्मद दीफ के बाद सैन्य अभियानों में दूसरे स्थान पर है। 7 अक्टूबर के नरसंहार और दक्षिणी इज़रायल में तबाही के लिए जिम्मेदार यही दो व्यक्ति हैं।

युद्धविराम के तीसरे दिन में प्रवेश के साथ, सवाल यह है कि क्या इज़रायल युद्धविराम के विस्तार के लिए सहमत होगा या सोमवार के बाद सैन्य जमीनी हमले फिर से शुरू होंगे? जानकारी रखने वाले इजरायल के सूत्रों ने बताया कि दोनों पक्ष संघर्ष विराम को कुछ और दिनों के लिए बढ़ाने और लोगों को रिहा करने पर सहमत हुए हैं।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;