दुनिया की 5 बड़ी खबरें: पाकिस्तान कोरोना से लड़ने को ले रहा कर्ज, वित्तपोषण मामले में जमात के 4 आतंकी दोषी करार

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने देश में कोविड-19 संकट का मुकाबला करने के लिए तीन अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय संस्थानों के साथ 150 करोड़ डॉलर के ऋण समझौतों पर हस्ताक्षर किए हैं। पाकिस्तान के आतंकवाद रोधी अदालत ने जमात-उद-दावा के चार नेताओं को आतंकी वित्तपोषण के एक मामले में दोषी ठहराया है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

पाकिस्तान कोविड-19 से लड़ने को ले रहा 150 करोड़ डॉलर का कर्ज

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने देश में कोविड-19 संकट का मुकाबला करने के लिए तीन अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय संस्थानों के साथ 150 करोड़ डॉलर के ऋण समझौतों पर हस्ताक्षर किए हैं। शनिवार को इसकी सूचना दी गई। डॉन समाचार की रिपोर्ट के अनुसार, प्रधानमंत्री कार्यालय ने शुक्रवार को विश्व बैंक (डब्ल्यूबी), एशियाई विकास बैंक (एडीबी) और एशियाई इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट बैंक (एआईआईबी) के साथ समझौतों पर हस्ताक्षर किए हैं।

स्वास्थ्य प्रणाली को मजबूत करने और महामारी के सामाजिक प्रभावों को कम करने के पाकिस्तान सरकार के प्रयासों का समर्थन करने के उद्देश्य से एडीबी कोविड-19 एक्टिव रिस्पांस एंड एक्सपेंडिचर सपोर्ट प्रोग्राम में 50 करोड़ डॉलर का विस्तार कर रहा है।

एआईआईबी भी इसी कार्यक्रम के तहत 50 करोड़ डॉलर की को-फाइनेंसिंग कर रहा है।

वैश्विक स्तर पर कोविड-19 मामलों की संख्या 86 लाख पार

जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय के अनुसार वैश्विक स्तर पर कोविड-19 मामलों की कुल संख्या 86 लाख से अधिक हो गई है, जबकि मौतों की संख्या 4.6 लाख के करीब थी। विश्वविद्यालय के सेंटर फॉर सिस्टम साइंस एंड इंजीनियरिंग (सीएसएसई) ने अपने ताजा अपडेट में खुलासा किया है कि शनिवार सुबह तक कुल मामलों की संख्या 86,39,023 थी, जबकि मृत्यु दर बढ़कर 4,59,437 हो गई थी।

सीएसएसई के अनुसार 22,19,976 मामलों और 1,19,099 मौतों के साथ अमेरिका दुनिया में अब भी सबसे अधिक कोविड-19 संक्रमण और मौतों की संख्या के मामले में सबसे अधिक प्रभावित देश बना हुआ है।

10,32,913 संक्रमण और 48,954 मौतों के साथ ब्राजील दूसरे स्थान पर है।


बीजिंग में फैल रहे कोरोना पर काबू पाता चीन

समूचे बीजिंग में, इस समय लोगों का शारिरिक तापमान जांच किया जाता है, अपने फोन पर एक हेल्थ क्यूआर कोड स्कैन करके दिखाना होता है कि आप बीमार तो नहीं हैं, या फिर किसी कोरोना संक्रमित व्यक्ति के निकट संपर्क में तो नहीं आए। इसके अलावा, आवासीय परिसर में जाने से पहले एक प्रवेश पास भी दिया जाता है।

इस समय बीजिंग में जो निवासी 'मध्यम या उच्च जोखिम वाले' क्षेत्रों में रहते हैं, वो अभी बीजिंग से बाहर नहीं जा सकते हैं, उनके बीजिंग छोड़ने पर प्रतिबंध है, जबकि अन्य लोग जो जोखिम क्षेत्र में नहीं रहते हैं, उनको अगर शहर से बाहर जाना हैं, तो अपना न्यूक्लिक एसिड टेस्ट करवाना होगा।

अमेरिका की शिनच्यांग मामलों में हस्तक्षेप करने की साजिश विफल होगी : चीन

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता चाओ लीच्येन ने कहा कि चीन अविचल रूप से शिनच्यांग प्रदेश के विकास, स्थिरता और जातीय एकता की रक्षा करेगा। अमेरिका की शिनच्यांग मुद्दे पर चीनी अन्दरूनी मामलों में हस्तक्षेप करने की साजिश विफल होगी।

चीनी प्रवक्ता ने कहा कि चीन के सीजीटेएन टीवी नेटवर्क ने शिनच्यांग में आतंकवाद विरोध के बारे में एक डॉक्यूमेंट्री फिल्म जारी की है, जिसमें तथ्यों से यह बताया गया है कि शिनच्यांग में आतंकवाद और चरमपंथ का विरोध करने की बड़ी आवश्यकता है। लेकिन अमेरिका ने तथ्यों का उल्लंघन कर अधिमान्य जारी किया और चीन सरकार की शिनच्यांग नीति की आलोचना की। चीन शिनच्यांग मुद्दे पर अमेरिका के दोहरे मापदंड का सख्त विरोध करता है।


जेयूडी के 4 नेता आतंकी वित्तपोषण मामले में दोषी करार

पाकिस्तान के आतंकवाद रोधी अदालत (एटीसी) ने जमात-उद-दावा (जेयूडी) के चार नेताओं को आतंकी वित्तपोषण के एक मामले में दोषी ठहराया है। आतंकवाद रोधी विभाग (सीटीडी) ने पंजाब प्रांत के विभिन्न शहरों में इस प्रतिबंधित संगठन के खिलाफ मामले दर्ज कराए हैं। समाचार पत्र डान की रपट के अनुसार, एटीसी-3 के पीठासीन न्यायाधीश अहमद बत्तार ने मलिक जफर इकबाल और मुहम्मद याहया अजीज को दोषी ठहराया और उन्हें पांच साल के सश्रम कारावास की सजा सुनाई और प्रत्येक पर 50,000 पीकेआर का जुर्माना भी लगाया।

न्यायाधीश ने अब्दुल रहमान मक्की और अब्दुल सलाम को भी एक-एक साल कारावास की सजा सुनाई और प्रत्येक पर 20,000 पीकेआर का जुर्माना भी लगाया। सीटीडी ने दोषियों के खिलाफ 2019 में एफआईआर दर्ज की थी।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia