दुनिया की 5 बड़ी खबरें: पाक के सिंध में सभी धार्मिक आयोजनों पर रोक और WHO के बारे में राष्ट्रपति ट्रम्प का बयान गलत!

अंतर्राष्ट्रीय चिकित्सा पत्रिका लैंसेट ने ‘डब्ल्यूएचओ के बारे में राष्ट्रपति ट्रम्प का बयान क्यों गलत है’ शीर्षक से लेख प्रकाशित किया। पाकिस्तान के सिंध प्रांत की सरकार ने कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए रमजान के महीने में सभी तरह के धार्मिक आयोजनों पर रोक लगा दी है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

रवि प्रकाश

कोविड-19 : इटली में संक्रमितों की संख्या दो लाख के पार, 27,359 की मौत

इटली में कोरोनावायरस महामारी के चलते लागू लॉकडाउन के बीच कोविड-19 संक्रमण से संक्रमित होने वालों का कुल आंकड़ा दो लाख के पार हो गया, जबकि 27 हजार से अधिक लोगों की जान इसके चलते गई है। इटली के सिविल प्रोटेक्शन डिपार्टमेंट ने मंगलवार को कहा कि देश में अभी तक कोविड-19 संक्रमण के दो लाख एक हजार 505 मामले सामने आए हैं। वहीं उत्तरी लोम्बार्डी क्षेत्र में पहली बार महामारी के प्रसार के बाद से अब तक 27,359 लोगों ने अपनी जान गंवाई है।

पुतिन ने नेशनल पेड लीव को 11 मई तक बढ़ाया

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने मंगलवार को कोविड-19 के प्रसार की रोकथाम के मद्देनजर 11 मई तक के लिए नेशनल पेड लीव को बढ़ाने का निर्णय किया है। पुतिन ने सरकार और रीजनल गवर्नर्स के साथ अपनी ऑनलाइन बैठक के दौरान राष्ट्र को टेलिविजन के माध्यम से संबोधित किया।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने पुतिन के हवाले से कहा, "अब हम महामारी के खिलाफ लड़ाई में एक नए व शायद सबसे तीव्र चरण का सामना कर रहे हैं। संक्रमित होने का जोखिम चरम सीमा पर पहुंच गया है।" उन्होंने आगे कहा, "(कोविड-19) वायरस का खतरा बना हुआ है और यह किसी को भी प्रभावित कर सकता है।"

लैंसेट के प्रमुख संपादक : विश्व स्वास्थ्य संगठन के बारे में राष्ट्रपति ट्रम्प का बयान गलत

अंतर्राष्ट्रीय चिकित्सा पत्रिका लैंसेट के प्रमुख संपादक रिचर्ड हॉर्टन ने पत्रिका में 'डब्ल्यूएचओ के बारे में राष्ट्रपति ट्रम्प का बयान क्यों गलत है' शीर्षक लेख प्रकाशित किया।

लेख ने वर्ष 2019 की 31 दिसंबर को चीन द्वारा पहली बार विश्व स्वास्थ्य संगठन को वुहान के अज्ञात निमोनिया सूचित किए जाने के बाद डब्ल्यूएचओ के सभी निपटान का सिंहावलोकन किया और कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चार ही दिनों के भीतर विश्व को नये प्रकार के निमोनिया के बारे में सूचित किया और तीस दिन के बाद इसे सार्वजनिक स्वास्थ्य आपात स्थिति घोषित किया। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा डब्ल्यूएचओ के प्रति की गयी आलोचना निराधार है।

पाकिस्तान : सिंध में सभी धार्मिक आयोजनों पर रोक

पाकिस्तान के सिंध प्रांत की सरकार ने कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए रमजान के महीने में सभी तरह के धार्मिक आयोजनों पर रोक लगा दी है। इनमें हजरत अली के शहादत दिवस पर निकलने वाले सभी जुलूस व सभी महफिल-ए-शबीना (एक ही रात में पूरी कुरान का पाठ करते हुए पढ़ी जाने वाली नमाज) शामिल हैं। पाकिस्तान में कोरोना वायरस का तेजी से प्रसार हो रहा है और सिंध प्रांत इससे सर्वाधिक प्रभावित जगहों में से एक है। इसी के मद्देनजर सिंध सरकार ने संघीय सरकार व उलेमा के बीच रमजान में मस्जिदों में सामूहिक नमाज की अनुमति देने के फैसले को प्रांत में नहीं लागू करने का फैसला किया था। अब, इस फैसले के बाद प्रांत में रमजान के महीने में सभी तरह के धार्मिक आयोजनों पर रोक लगाने का फैसला किया गया है।

पर्ल के परिजन भी सिंध हाईकोर्ट के फैसले को देंगे चुनौती

अमेरिकी पत्रकार डेनियल पर्ल की हत्या के आरोपियों को बरी करने के सिंध हाईकोर्ट के फैसले को पर्ल के परिजन भी पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देंगे। इस फैसले के खिलाफ सिंध सरकार सुप्रीम कोर्ट में पहले ही चुनौती दे चुकी है। 'एक्सप्रेस ट्रिब्यून' ने अपनी रिपोर्ट में यह जानकारी देते हुए सूत्रों के हवाले से बताया कि पर्ल के परिवार ने सिंध हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती देने के लिए एक प्रसिद्ध वकील की सेवाएं लेने का फैसला किया है और उम्मीद है कि वे इसी हफ्ते अपनी याचिका सुप्रीम कोर्ट में दायर कर देंगे।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय