दुनिया की 5 बड़ी खबरें: चीन ने जानबूझकर फैलाया कोरोना वायरस? ब्रिटेन के प्रिंस चार्ल्स का भी टेस्ट पॉजिटिव

दुनिया भर में कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए अमेरिका की एक कंपनी चीन सरकार पर 20 ट्रिलियन डॉलर हर्जाने का मुकदमा ठोक दिया है। ब्रिटेन के प्रिंस चार्ल्स महामारी कोरोना वायरस की चपेट में आ गए हैं। वो कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। उनकी टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

चीन पर जानबूझकर कोरोना वायरस फैलाने का आरोप, अमेरिकी कंपनी ने ठोका 20 ट्रिलियन डॉलर का मुकदमा

दुनिया भर में कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए अमेरिका की एक कंपनी चीन सरकार पर 20 ट्रिलियन डॉलर हर्जाने का मुकदमा ठोक दिया है। इस कंपनी का आरोप है कि चीन ने इस वायरस का प्रसार एक जैविक हथियार के रूप में किया है। अमेरिका के टेक्सास की कंपनी बज फोटोज, वकील लैरी क्लेमैन और संस्था फ्रीडम वाच ने मिलकर चीन सरकार, चीनी सेना, वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी, वुहान इंस्टीट्यूट के डायरेक्टर शी झेनग्ली और चीनी सेना के मेजर जनरल छेन वेई के खिलाफ यह मुकदमा किया है।

मुकदमा करने वाले यानी वादियों ने दावा किया है कि चीनी प्रशासन एक जैविक हथियार तैयार कर रहा था, जिसकी वजह से यह वायरस फैला है और इसीलिए उन्होंने 20 ट्रिलियन डॉलर का हर्जाना मांगा है। इतना तो चीन का कुल सकल घरेलू उत्पाद यानी जीडीपी भी नही है। उन्होंने आरोप लगाया है कि चीन ने वास्तव में अमेरिकी नागरिकों को मारने और बीमार करने की साजिश रची है।

कोरोना को लेकर ट्रंप का ऐतिहासिक ऐलान- हर युवा को 1200 और बच्चे को 500 डॉलर देंगे

जानलेवा कोरोना वायरस पूरी दुनिया में फैल चुका है, लेकिन कुछ देशों की स्थिति बेहद खराब है। तमाम देशों में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इनमें से एक देश अमेरिका भी है। अब राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस महामारी को रोकने के लिए अमेरिकी इतिहास के सबसे बड़े आर्थिक पैकेज का ऐलान कर दिया है। ट्रंप प्रशासन ने 2 लाख करोड़ डॉलर के ऐतिहासिक पैकेज का ऐलान किया है। इस आर्थिक पैकेज में अमेरिका ने अपने नागरिकों के लिए एक रकम तय की है। हर अमेरिकी युवा को 1200 डॉलर मिलेगा, जबकि हर बच्चे को 500 डॉलर दिया जाएगा। ट्रंप सरकार ये आर्थिक मदद लाभार्थियों के खाते में सीधे डालेगी।

ब्रिटेन के शाही परिवार पर भी कोरोना का अटैक, प्रिंस चार्ल्स पॉजिटिव पाए गए

ब्रिटेन के प्रिंस चार्ल्स महामारी कोरोना वायरस की चपेट में आ गए हैं। वो कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। उनकी टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। क्लेरेंस हाउस ने बुधवार को घोषणा की है कि प्रिंस चार्ल्स का कोरोना वायरस टेस्ट पॉजिटिव आया है मगर उनका स्वास्थ्य ठीक है। 71 वर्षीय प्रिंस चार्ल्स का कोरोना वायरस के लिए टेस्ट स्कॉटलैंड में किया गया था। यहां वह अपनी पत्नी कामिला, डचेस ऑफ कॉर्नवाल के साथ थे, जिनका टेस्ट निगेटिव आया है। क्लेरेंस हाउस के एक प्रवक्ता ने कहा कि सरकार और चिकित्सा सलाह के अनुसार प्रिंस और डचेस ने अब स्कॉटलैंड में घर पर खुद को आइसोलेट कर लिया है।

पाकिस्तान : पेट्रोल-डीजल 15 रुपये प्रति लीटर सस्ता, व्यापक राहत पैकेज का ऐलान

पाकिस्तान में इमरान सरकार ने पेट्रोल, डीजल, केरोसिन व अन्य ईंधनों के दाम में 15 रुपये (पाकिस्तानी) प्रति लीटर की कटौती करने का ऐलान किया है। यह उपाय प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा कोरोना वायरस से निपटने के लिए घोषित लगभग 1.2 ट्रिलियन रुपये (पाकिस्तानी) के राहत पैकेज का हिस्सा है। पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट में यह जानकारी देते हुए बताया गया है कि प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस से अर्थव्यवस्था और लोगों की रोजाना की जिंदगी पर पड़ने वाले बड़े नकारात्मक असर को कम करने के लिए मंगलवार को इस पैकेज का ऐलान किया।

इमरान ने संवाददाताओं से कहा कि पेट्रोल-डीजल-केरोसिन और अन्य पेट्रोलियम उत्पादों के दाम में 15 रुपये प्रति लीटर की कमी करने का फैसला किया गया है। उन्होंने कहा कि इससे राष्ट्रीय खजाने पर 75 अरब रुपयों का भार पड़ेगा। उन्होंने आर्थिक राहत पैकेज के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि 200 अरब रुपये रोजाना मजदूरी कर जिंदगी चलाने वाले दैनिक मजदूर वर्ग के लिए आवंटित किए गए हैं जिसकी रोजी-रोटी पर कोरोना वायरस की सर्वाधिक मार पड़ी है।

काबुल गुरुद्वारा हमले में 27 सिखों की मौत, आईएसआईएस ने ली जिम्मेदारी

मध्य काबुल स्थित गुरुद्वारे में हुए आतंकी हमले की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट खोरासान (आईएसकेपी) ने ली है। हमले में सिख समुदाय के कम से कम 27 सदस्य मारे गए हैं। सूत्रों ने कहा कि बुधवार को शोरबाजार क्षेत्र में एक आत्मघाती हमलावर ने गुरुद्वारे के प्रवेश द्वार पर खुद को उड़ा लिया और इसके बाद आईएस के अन्य तीन आतंकवादियों ने गुरुद्वारे पर हमला कर दिया। हमले के वक्त कम से कम 150 लोग मौजूद थे। सुरक्षा बलों ने गुरुद्वारे से करीब 80 श्रद्धालुओं को सुरक्षित बाहर निकाल लिया।

अफगान सुरक्षाबलों ने लंबे समय तक चली गोलीबारी में सभी तीन आतंकवादियों को ढेर कर दिया और इसमें नाटो के सैनिकों ने भी मदद की। काबुल से आई शुरुआती रपटों में अशरफ गनी सरकार ने पाकिस्तान समर्थित हक्कानी नेटवर्क पर इस हमले का आरोप लगाया था। इसके साथ ही तालिबान ने हमले में अपनी संलिप्तता से इनकार किया है।

लोकप्रिय
next