दुनिया की 5 बड़ी खबरें: पाकिस्तान में लॉकडाउन से हाहाकार और कोरोना वायरस के मामलों में इटली से आगे निकला स्पेन

प्रधानमंत्री इमरान खान को जिस बात का अंदेशा था, वही पाकिस्तान में होता दिख रहा है। कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन में रोजाना कमाकर खाने वाली बड़ी आबादी के सामने भुखमरी का संकट आ खड़ा हुआ है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

पाकिस्तान : लॉकडाउन से हाहाकार, राशन की मांग के साथ लोग सड़क पर उतरे

प्रधानमंत्री इमरान खान को जिस बात का अंदेशा था, वही पाकिस्तान में होता दिख रहा है। कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन में रोजाना कमाकर खाने वाली बड़ी आबादी के सामने भुखमरी का संकट आ खड़ा हुआ है। सरकारी मदद से वंचित गरीब समुदाय के लोग अब देश में जगह-जगह सड़क पर उतर कर प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदर्शनों में एक साथ भारी भीड़ के पहुंचने से लॉकडाउन में लोगों के बीच संपर्क नहीं होने का उद्देश्य भी नाकाम हो रहा है।

पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक, पंजाब की राजधानी लाहौर में बड़ी संख्या में लोग गर्वनर हाउस पर पहुंच गए। गरीब परिवारों से ताल्लुक रखने वाले इन प्रदर्शनकारियों में बड़ी संख्या में महिलाएं भी शामिल थीं जिनका कहना था कि अब उनके घरों में चूल्हा जलना मुश्किल हो गया है और भूखे रहने की नौबत आ गई है।

पाकिस्तान में अप्रैल अंत तक 50 हजार हो सकती है कोरोना मरीजों की संख्या

पाकिस्तान सरकार ने देश के सुप्रीम कोर्ट को बताया है कि मौजूदा अप्रैल महीने के आखिरी हफ्ते तक पाकिस्तान में कोरोना वायरस पीड़ितों की संख्या पचास हजार तक पहुंच सकती है। पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा, नियोजन एवं समन्वय मंत्रालय (एनएचएसआसी) द्वारा सुप्रीम कोर्ट में शनिवार को दाखिल की गई एक रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि इन पचास हजार मरीजों में से 2392 मरीजों की हालत बेहद नाजुक हो सकती है, 7024 मरीजों की स्थिति गंभीर हो सकती है और 41482 मरीज ऐसे हो सकते हैं जिनमें कोरोना वायरस के हल्के लक्षण होंगे और जिन्हें केवल उनके घरों में आइसोलेशन में रख कर ठीक कर लिया जाएगा।

एक तरफ तो रिपोर्ट में इतनी सटीक संख्या दी गई है और इसके साथ यह भी इसमें कहा गया है कि यह महज अनुमान है और इसका आधार अन्य देशों में इस बीमारी के प्रसार का ट्रेंड हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि यह अनुमान 25 अप्रैल तक बदल भी सकता है।

कोविड-19 मामलों में इटली से आगे निकला स्पेन

स्पेन में सामने आए कोरोनावायरस मामलों की कुल संख्या बढ़कर 126,168 हो गई है, जो इटली के 124,632 मामलों से ज्यादा है। अब यह कोरोना संक्रमण के मामले में सबसे अधिक प्रभावित यूरोपीय देश बन गया है।

आंकड़ों में यूरोप में स्पेन पहले स्थान पर है। कुल मामलों में अमेरिका के बाद यह दुनिया में दूसरे नंबर पर है। वाशिंगटन स्थित जॉन्स हॉपकिंस युनिवर्सिटी में सेंटर फॉर सिस्टम साइंस एंड इंजीनियरिंग (सीएसएसई) के अनुसार, वर्तमान में कुल 312,076 मामलों के साथ अमेरिका सबसे ऊपर है।

सीएसएसई अपडेट से पता चला है कि कोरोनावायरस के कारण दुनिया में सबसे अधिक मौतें इटली में 15,362 हुईं। इसके बाद स्पेन 11,947 मौतें हुईं और यह दुनिया में दूसरे स्थान पर

मेक्सिको में हुई गोलीबारी में 19 की मौत

मेक्सिको के चिहुआहुआ राज्य में प्रतिद्वंदी समूहों के बीच हुई गोलीबारी में कम से कम 19 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। अधिकारियों ने इस हादसे की सूचना दी। राज्य के अटॉर्नी जनरल के कार्यालय की ओर से जारी एक बयान के हवाले से सिन्हुआ समाचार एजेंसी ने बताया कि चुहुईचुपा शहर में शुक्रवार को शाम के करीब 6.35 बजे इस गोलीबारी के होने की खबर मिली।

सूचना मिलते ही पुलिस और जवान मौके पर पहुंचे और वहां उन्होंने दो घायल सहित 18 लोगों को मृत पाया। घायलों को तुरंत अस्पताल पहुंचाया गया। बयान में कहा गया, सशस्त्र लोगों की तलाश घटनास्थल के आसपास जारी है, जबकि राज्य अटॉर्नी जनरल के कार्यालय के विशेषज्ञ और जांचकर्ता सबूतों के लिए घटनास्थल की जांच कर रहे हैं।

ईरान कोरोनावायरस से निपटने 'स्मार्ट डिस्टेंसिंग' योजना लांच करेगा

ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी ने कहा है कि कोरोनोवायरस महामारी के खिलाफ देश की लड़ाई जारी रखने के लिए 'स्मार्ट डिस्टेंसिंग' योजना लांच की जाएगी। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की एक रिपोर्ट के अनुसार, मध्य पूर्व में कोरोना से सबसे बुरी तरह प्रभावित देश ईरान ने शनिवार को 55,743 कोरोना मामलों की घोषणा की, जिनमें 3,452 लोगों की मौत हो गई।

रूहानी ने शनिवार को कोरोनोवायरस से लड़ने के लिए राष्ट्रीय मुख्यालय में आयोजित एक बैठक में कहा, "पिछले महीने लॉन्च की गई 'सोशल डिस्टेंसिंग' योजना ने 'अच्छी उपलब्धियां' प्राप्त की हैं।"

उन्होंने कहा, "योजना का अगला चरण 'स्मार्ट डिस्टेंसिंग' है, जिसके नियम तय किए जाएंगे।"

लोकप्रिय