दुनिया की 5 बड़ी खबरें: चीन में कोरोना वायरस का कहर जारी और इमरान को जब इंजेक्शन से नर्से हूर दिखने लगीं

चीन में कोरोना वायरस से 100 से ज्यादा लोगों की मौत से कोहराम मचा हुआ है। अब तक हजारों मामलों की पुष्टि हुई, जिनमें से 976की हालत गंभीर बनी हुई है। वहीं पाक पीएम इमरान खान ने खुलासा किया है कि एक बार इंजेक्शन लगने से नर्सें उन्हें हूर दिखने लगी थीं।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

चीन में कोरोना वायरस का कहर जारी

चीन में कोरोना वायरस से कोहराम मचा हुआ है। इसकी गिरफ्त में आने से बड़ी संख्या में लोगों की मौत हो चुकी है और मौत का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। खबरों के मुताबिक, अब तक इस वायरस की चपेट में आने से चीन में 106 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, 1300 नए मरीज सामने आए हैं। इससे पहले चीन के 30 प्रांतीय क्षेत्रों में 4,515 मामलों की पुष्टि हो चुकी है, जिनमें से 976 मरीजों की स्थिति गंभीर बनी हुई है। इसके चलते चीन से आने वालों की भारत समेत कई देशों में स्क्रीनिंग हो रही है।

भारत ने अपने नागरिकों को जारी किया निर्देश

चीन में कोरोना वायरस के कहर को देखते हुए भारत ने अपने नागरिकों से बीजिंग में देश के दूतावास को अपना पासपोर्ट विवरण प्रस्तुत करने के लिए कहा है। क्योंकि मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि कई भारतीय अभी भी वुहान शहर में फंसे हुए हैं, जो नोवेल कोरोना वायरस के प्रकोप का केंद्र है और वहां लोगों के आने-जाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। हुबेई प्रांत की राजधानी वुहान में 500 से अधिक भारतीय छात्र कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में पढ़ते हैं। हालांकि उनमें से अधिकतर छात्रों ने कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप की सूचना मिलते ही वुहान शहर छोड़ दिया था।

सूत्रों ने कहा कि भारत सरकार वुहान में फंसे लोगों की संख्या के बारे में आकलन करने के लिए चीनी अधिकारियों के साथ काम कर रही है। बीजिंग में भारतीय दूतावास ने जानकारी दी कि कुछ भारतीय नागरिकों के पास पासपोर्ट नहीं है, क्योंकि उन्होंने अपने पासपोर्ट वीजा विस्तार, कार्य परमिट या अन्य कारणों के लिए चीनी अधिकारियों को सौंप दिया था।

ब्राजील में भारी बारिश से 45 लोगों की मौत

ब्राजील के मिनस जेराइस प्रांत में भारी बारिश के कारण मरने वालों की संख्या बढ़कर 45 हो गई है। अधिकारियों ने बताया कि 101 शहरों में आपात स्थिति घोषित की गई है। मिनस जेराइस आपातकालीन प्रबंधन कार्यालय ने सोमवार को कहा कि 18 लोग लापता के रूप में दर्ज हैं और 13,887 अन्य को अपने घरों को खाली करने के लिए मजबूर होना पड़ा है। रविवार और सोमवार को बारिश थोड़ी कम हुई, जिससे मंगलवार को दमकलकर्मियों को फंसे लोगों की तलाश करने में मदद मिली जिनकी गुमशुदगी की सूचना मिली थी। आपातकालीन प्रबंधन के अधिकारियों ने कहा कि खोजी दलों को भूस्खलन की घटना में मरे एक शख्स का शव मलबे से मिला है।

इस बीच, मिनस जेराइस की राज्य सरकार ने सोमवार को मूसलाधार बारिश से प्रभावित 101 शहरों में आपातस्थिति घोषित कर दी, जबकि कैटस अल्तास, इबीराईट और ओरीजानिया शहरों के लिए आपदा घोषणाएं जारी की गईं। राजधानी बेलो होरिजोंते ने 24 घंटे की अवधि में 171.8 मिलीमीटर बारिश के साथ नया रिकॉर्ड बनाया है।

न्यूजीलैंड में आम चुनाव की तारीख का ऐलान

न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जसिंडा अर्डर्न ने मंगलवार को आम चुनाव की घोषणा करते हुए कहा कि 2020 के आम चुनाव के लिए मतदान 19 सितंबर को होगा। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने बताया कि प्रधानमंत्री अर्डर्न ने कहा कि, "मैं न्यूजीलैंड के लोगों से अपने नेतृत्व और सरकार की वर्तमान दिशा के लिए समर्थन जारी रखने का आग्रह करूंगी। जिसके चलते देश स्थिरता, एक मजबूत अर्थव्यवस्था और दीर्घकालिक चुनौतियों के लिए तैयार हो सके।" प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न उनका मानना है कि तारीख की घोषणा पहले से करना उचित है।

न्यूजीलैंड हेराल्ड की खबर के अनुसार, चुनाव की इस तारीख की घोषणा का सीधा मतलब है कि संसद 6 अगस्त को आखिरी बार बैठेगी और 12 अगस्त को आधिकारिक तौर पर भंग कर दी जाएगी। न्यूजीलैंड में पिछली बार चुनाव 23 सितंबर, 2017 को हुए थे। जिसमें करीब 35.7 लाख लोगों ने मतदान करने के लिए पंजीकरण कराया था, लेकिन 26.3 लाख लोगों ने इसमें भाग लिया था। चुनाव में जीतीं जेसिंडा अर्डर्न ने 26 अक्टूबर, 2017 को प्रधानमंत्री का पदभार संभाला था। उस वक्त उनकी उम्र 37 साल थी। ऐसा करके सरकार की प्रमुख बनने वाली वह दुनिया की पहली सबसे कम उम्र की महिला थीं।

इमरान को जब इंजेक्शन से नर्से हूर दिखने लगीं

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने मंगलवार को हल्के-फुल्के अंदाज में यह 'रहस्योद्घाटन' किया कि एक बार अस्पताल में डॉक्टर ने उन्हें ऐसा इंजेक्शन लगाया था कि अस्पताल की नर्से उन्हें हूर नजर आने लगी थीं। कराची में एक समारोह के दौरान इमरान ने कहा, "2013 में जब मैं सीढ़ी से गिरकर जख्मी हुआ तो लाहौर के शौकत खानम अस्पताल के डॉक्टर आसिम ने मुझे ऐसा इंजेक्शन लगाया था कि दर्द गायब हो गया।"

इसी दौरान इमरान ने कहा कि इंजेक्शन लगने के बाद उन्हें अस्पताल की नर्से हूर लगने लगी थीं। इमरान ने कहा, "दोबारा दर्द होने पर मैंने डॉक्टर आसिम से कहा कि एक और इंजेक्शन लगा दो, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया। मैंने उन्हें धमकाया कि लगा दो, वरना मैं तुम्हें छोड़ूंगा नहीं लेकिन फिर भी उन्होंने नहीं लगाया।" इमरान खान साल 2013 में लाहौर के उस हादसे का जिक्र कर रहे थे जब वह विपक्षी नेता की हैसियत से एक सभा को संबोधित कर रहे थे और मंच से उतरते समय गिर पड़े थे।

लोकप्रिय