ओबामा, बिल गेट्स समेत कई हस्तियों के ट्विटर अकाउंट हैक, बड़े बिटकॉइन घोटाले को अंजाम देने की कोशिश

हैकर्स ने नामी लोगों के ट्विटर अकाउंट का सहारा लेते हुए एक बड़े बिटकॉइन घोटाले को अंजाम देने की कोशिश की। ट्विटर पर ब्लू टिक वाले यूजर्स के अकाउंट पर ऐसे संदेश पोस्ट किए गए जिससे यूजर्स उसे पढ़ कर बताए गए बिटकॉइन पते पर दान कर सके। यह एक तरह का छलावा था।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

DW

एक सनसनीखेज घटना में बुधवार को दुनिया के कई जाने-माने राजनेता, बड़ी कंपनियों के सीईओ और दानकर्ताओं के ट्विटर अकाउंट को हैक किए जाने का मामला सामने आया है। जिन लोगों के ट्विटर अकाउंट हैक किए गए हैं, उनमें अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा, अमेरिका के पूर्व उप राष्ट्रपति और डेमोक्रेटिक पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बाइडेन, माइक्रोसॉफ्ट के सह-संस्थापक बिल गेट्स, कारोबारी एलन मस्क और एप्पल और उबर जैसी कंपनियों के नामी गिरामी लोग शामिल हैं।

दरअसल हैकर्स ने नामी लोगों के ट्विटर अकाउंट का सहारा लेते हुए एक बड़े बिटकॉइन घोटाले को अंजाम देने की कोशिश की। ट्विटर पर ब्लू टिक वाले यूजर्स के अकाउंट पर ऐसे संदेश पोस्ट किए गए जिससे यूजर्स उसे पढ़ कर बताए गए बिटकॉइन पते पर दान कर सके। यह एक तरह का छलावा था, जिसका लक्ष्य था आम यूजर्स को बहकाकर उनसे हजारों डॉलर वसूलना। हैकर्स ने नामी लोगों के अकाउंट के सहारे संदेश पोस्ट किया कि हम समाज सेवा करना चाहते हैं, आप तीस मिनट में जितनी रकम के बिटकॉइन भेजेंगे, मैं उसका दोगुना लौटाऊंगा।

बिल गेट्स के ट्विटर अकाउंट से भी इसी तरह का संदेश हैकर्स ने पोस्ट किया। उस संदेश में लिखा था, "हर कोई मुझसे कह रहा है कि ये समाज को वापस देने का वक्त है, तो मैं कहना चाहता हूं कि अगले तीस मिनट में जो रकम मुझे भेजी जाएगी, मैं उसका दोगुना लौटाऊंगा। आप मुझे एक हजार डॉलर भेजेंगे, मैं दो हजार डॉलर वापस भेजूंगा।" हर नामी हस्ती के हैक किए गए ट्विटर पोस्ट के साथ बिटकॉइन भेजने का पता भी दिया गया था। हालांकि इस तरह के पोस्ट बाद में डिलीट कर दिए गए।

जेमिनी क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज के सह-संस्थापक कैमरॉन विंकलवोस ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर लिखा, "यह एक घोटाला है, इसमें शामिल ना हों।" बराक ओबामा, जो बाइडेन, कान्ये वेस्ट, एमेजॉन के मालिक जेफ बेजो, माइक ब्लूमबर्ग के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से इस तरह की फर्जी पोस्ट की गई। बाद में सभी पोस्ट डिलीट भी कर दी गईं।

ट्विटर ने इस तरह के ट्वीट पोस्ट होने के बाद कुछ वेरीफाइड हाई प्रोफाइल अकाउंट को ब्लॉक कर दिया है। ट्विटर ने इस घटना पर स्पष्टीकरण तो नहीं दिया, लेकिन उसने एक बयान में कहा, "जब तक हम इस घटना की जांच और समीक्षा करते हैं, यूजर्स ट्वीट करने और नए पासवर्ड बनाने में असमर्थ हो सकते हैं।" ट्विटर के सीईओ जैक डोरसी ने भी इस घोटाले पर ट्वीट कर कहा, "ये हमारे लिए चुनौती भरा वक्त है। हमारी टीम इसे ठीक करने के लिए कड़ी मेहनत कर रही है।"

वेरीफाइड या ब्लू टिक वाले अकाउंट आमतौर पर नेताओं, कंपनियों, सेलिब्रिटी, पत्रकार, न्यूज एजेंसी के साथ-साथ सरकारों, राष्ट्र अध्यक्षों और आपात सेवाओं के लिए सामान्य तौर पर रिजर्व रहते हैं। समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक हाल के समय में ये सबसे बड़ा साइबर हमला है। बिटकॉइन के जरिए पैसे दोगुना करने के पोस्ट पहले भी सोशल मीडिया पर डाले जाते रहे हैं, लेकिन यह पहला मौका है, जब इस तरह के घोटाले को अंजाम देने के लिए दिग्गज हस्तियों और कंपनियों के ट्विटर अकाउंट को हैक कर इस तरह के संदेश पोस्ट किए गए हों।

बिटकॉइन एक डिजीटल करंसी है, जो पारंपरिक सिक्कों और नोटों की शक्ल में मौजूद नहीं है। इसे इलेक्ट्रॉनिक तरीके से ही खरीदा-बेचा और रखा जा सकता है। कई देशों में बिटकॉइन के कारोबार को मंजूरी है। वहीं इस घटना पर ट्विटर ने कहा है कि वह मामले की जांच कर रहा है और उसे ठीक करने में लगा हुआ है। जल्द ही लोगों को इस बारे में और जानकारी दी जाएगी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia