यूक्रेन ने रूस के परमाणु उद्योग पर प्रतिबंध लगाने की मांग की, अपने संयत्र पर हमले से दुनिया को डराने का आरोप लगाया

जेलेंस्की ने चेतावनी दी कि परमाणु ऊर्जा संयंत्र की साइट पर रूसी सैनिकों की तैनाती 'यूरोप के लिए रेडियोधर्मी खतरे को उस स्तर तक बढ़ा देती है जो शीतयुद्ध के समय के टकराव के सबसे कठिन क्षणों में भी मौजूद नहीं था। जेलेंस्की ने 'कड़ा जवाब' देने का आह्वान किया।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोदिमिर जेलेंस्की ने पश्चिम देशों से रूस के परमाणु उद्योग के खिलाफ प्रतिबंध लगाने का आह्वान किया है। जेलेंस्की ने शनिवार शाम प्रसारित एक वीडियो संबोधन में कहा कि रूस लोगों को डराने और यूक्रेनी नेतृत्व और पूरी दुनिया को ब्लैकमेल करने के लिए दक्षिणी यूक्रेन में जापोरिज्‍जया परमाणु ऊर्जा संयंत्र पर हमले का उपयोग कर रहा है।

डीपीए समाचार एजेंसी ने बताया, रूस, हथियारों के मामले में एक परमाणु शक्ति, 'कई देशों में परमाणु ऊर्जा संयंत्रों का निर्माण' कर रहा है। कीव और मॉस्को यूरोप के सबसे बड़े परमाणु ऊर्जा संयंत्र पर बमबारी के लिए कई दिनों से एक-दूसरे पर जिम्मेदार होने का आरोप लगाते रहे हैं।


जेलेंस्की ने रूसी सैनिकों पर रूसी-कब्जे वाली साइट को एक किले के रूप में इस्तेमाल करने का आरोप लगाया है, जहां से निकोपोल और मारहानेज के छोटे शहरों पर गोलीबारी की जाती है, जो कि निप्रो जलाशय के दूसरे किनारे पर स्थित है। उन्होंने चेतावनी दी कि परमाणु ऊर्जा संयंत्र की साइट पर रूसी सैनिकों की तैनाती 'यूरोप के लिए रेडियोधर्मी खतरे को उस स्तर तक बढ़ा देती है जो शीतयुद्ध के समय में टकराव के सबसे कठिन क्षणों में भी मौजूद नहीं था।"
जेलेंस्की ने वीडियो में 'कड़ा जवाब' देने का आह्वान किया।

इससे पहले, शनिवार को यूक्रेन ने पश्चिमी राज्यों से देश पर आक्रमण के दौरान किए गए रूसी युद्ध अपराधों पर मुकदमा चलाने में मदद करने का आह्वान किया। यूक्रेन के रक्षा मंत्री ओलेक्सी रेजनिकोव ने शनिवार को फेसबुक पर प्रकाशित एक लंबे बयान में कहा कि कीव को सैन्य कानून के विशेषज्ञों और रूसी हमलावरों को दंडित करने के लिए युद्ध अपराधों की जांच में विशेषज्ञों की जरूरत है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


/* */