दुनिया

अमेरिकाः भारतवंशी कमला हैरिस का चुनावी अभियान शुरू, 2020 के राष्ट्रपति चुनाव में होंगी डेमोक्रेटिक उम्मीदवार

कमला हैरिस ने राष्ट्रपति ट्रंप की मैक्सिको सीमा पर दीवार बनाने की योजना की निंदा करते हुए ऐसे अमेरिका की बात की जहां हर शरणार्थी का स्वागत होता है। उन्होंने यह भी वादा किया कि अगर वह निर्वाचित होती हैं तो वह हमेशा शालीनता और नैतिक स्पष्टता के साथ बात करेंगी और सभी के साथ सम्मान से पेश आएंगी।

आईएएनएस

भारतीय मूल की अमेरिकी सीनेटर कमला हैरिस ने एक रैली के जरिये 2020 के राष्ट्रपति चुनाव के लिए आधिकारिक रूप से अपने चुनाव अभियान की शुरुआत कर दी। रविवार को ऑकलैंड की रैली में उन्होंने लोगों को आगाह करते हुए कहा कि इस समय अमेरिका समेत पूरी दुनिया इतिहास के 'एक संक्रमण काल' से गुजर रहे हैं। उन्होंने सभी अमेरिकियों से 'जो हो रहा है उसके बारे में सच बोलने' का आग्रह किया।

54 वर्षीय कमला हैरिस अमेरिकी सीनेट में सेवा करने वाली पहली भारतीय मूल की अमेरिकी और दूसरी अश्वेत महिला हैं। समाचार पत्र 'द न्यूयॉर्क टाइम्स' के अनुसार, ओकलैंड में 20,000 से ज्यादा लोगों की भीड़ के सामने रविवार को हैरिस ने अपने जीवन के कई पहलुओं की चर्चा की। इस दौरान उन्होंने सैनफ्रांसिस्को खाड़ी क्षेत्र में एक वकील के रूप में काम करने और फिर बाद में सीनेटर बनने और अब राष्ट्रपति उम्मीदवार बनने के पूरे सफर का जिक्र किया।

2020 के राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी की आधिकारिक उम्मीदवार कमला हैरिस ने रैली में कहा, "हम अपनी दुनिया के इतिहास में एक संक्रमण काल से गुजर रहे हैं। हम हमारे राष्ट्र के इतिहास के मुहाने पर हैं। हम यहां इसलिए हैं क्योंकि अमेरिकी सपने और हमारा अमेरिकी लोकतंत्र हमले की जद में है और पहले कभी ऐसा नहीं हुआ। जब हमारे पास ऐसे नेता हैं जो प्रेस की आजादी पर हमला कर रहे हैं और हमारे लोकतांत्रिक संस्थानों को कमजोर कर रहे हैं, यह हमारा अमेरिका नहीं है।"

कमला हैरिस ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के मेक्सिको सीमा पर दीवार के निर्माण की योजना की निंदा करते हुए ऐसे अमेरिका की बात की जहां हर शरणार्थी का खुले दिल से स्वागत होता है। उन्होंने यह भी वादा किया कि अगर वह निर्वाचित होती हैं तो वह हमेशा शालीनता और नैतिक स्पष्टता के साथ बात करेंगी और सभी के साथ सम्मान से पेश आएंगी। बता दें कि कमला हैरिस ने 21 जनवरी को आधिकारिक रूप से 2020 का राष्ट्रपति चुनाव लड़ने की घोषणा की थी।

समाचार पत्र 'द वाशिंगटन पोस्ट' के अनुसार, अपने 35 मिनट के भाषण के दौरान हैरिस ने नस्लवाद, पुलिस गोलीबारी और पुलिस क्रूरता के प्रभाव के बारे में भी बोला। उन्होंने कहा कि अमेरिका में बहुत से निहत्थे अश्वेत पुरुष और महिलाएं मारे गए हैं। बहुत से अश्वेत और 'ब्राउन' अमेरिकियों को जेल में बंद किया जा रहा है। हैरिस ने कहा, "हमारी अपराध न्याय प्रणाली में कड़े बदलाव की जरूरत है। आइए, उस सच को बोलें।"

हैरिस ने अपने चुनाव प्रचार अभियान को ट्रंप को जवाब के रूप में पेश करते हुए इस बात पर प्रकाश डाला कि कैसे राष्ट्रपति ट्रंप ने देश को विभाजित कर दिया है और वह उसे एकजुट करेंगी।
उन्होंने कहा कि सत्ता पर काबिज लोग हमें यह यकीन दिलाने की कोशिश कर रहे हैं कि हमारी अमेरिकी कहानी में हम एक-दूसरे के लिए खलनायक हैं। हैरिस ने कहा, "लेकिन यह हमारी कहानी नहीं है। हम ऐसे नहीं हैं। यह हमारा अमेरिका नहीं है। आप देख सकते हैं कि हमारा संयुक्त राज्य अमेरिका 'हम' बनाम वे' के बारे में नहीं है। यह हम लोगों के बारे में है।" उन्होंने ट्रंप की विदेश नीति का मजाक उड़ाते हुए कहा, "हमारे पास मैलवेयर जैसी व्हाइट हाउस को संक्रमित करने वाली विदेशी शक्तियां हैं।"

लोकप्रिय