दुनिया

सीरिया के बाद अफगानिस्तान से सेना को वापस बुलाने का अमेरिका ने किया फैसला  

डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन अफगानिस्तान से तैनात हजारों अमेरिकी सैनिकों को वापस बुलाने की योजना बना रहा है। अमेरिकी मीडिया ने यह जानकारी दी। खबरों के मुताबिक, महीने भर के अंदर करीब 7,000 सैनिक अमेरिका लौट सकते हैं।

फोटो: सोशल मीडिया 

नवजीवन डेस्क

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अफगानिस्तान से बड़ी संख्या में अमेरिकी सैनिकों को वापस बुलाने का फैसला किया है। अमेरिकी मीडिया ने यह जानकारी दी। खबरों के मुताबिक, महीने भर के अंदर करीब 7,000 सैनिक वतन लौट सकते हैं।

खबरों के मुताबिक, एक अधिकारी ने नाम नहीं जाहिर किए जाने की शर्त पर कहा, ‘‘बड़ी संख्या में सैनिकों को वापस बुलाने का फैसला किया गया है।’’ फिलहाल, अफगानिस्तान में तकरीबन 14000 अमेरिकी सैनिक हैं। वे या तो अफगान बलों के समर्थन में नाटो मिशन के साथ काम कर रहे हैं या अलग आतंकवाद निरोधक अभियान में काम कर रहे हैं।

ट्रंप के मुताबिक सीरिया में आईएसआईएस की हार हो चुकी है। ट्रंप प्रशासन के अंदर उनके सीरिया पर लिए गए फैसले पर खलबली मची हुई है। इससे पहले अमेरिकी रक्षा मंत्री जिम मैटिस ने गुरूवार को अपने पद से यह कहते हुए इस्तीफा दे दिया कि उनके विचार ट्रंप के साथ मेल नहीं खा रहे हैं। सीरिया और अफगानिस्तान के बारे में ट्रंप के फैसले से पश्चिम एशिया और अफगानिस्तान में अप्रत्याशित घटनाएं हो सकती हैं।

बीबीसी के मुताबिक, कुर्दिश नेतृत्व वाले एक गठबंधन ने चेतावनी देते हुए कहा कि इससे एक खालीपन हो जाएगा और इस्लामिक स्टेट फिर से खड़ा हो सकता है। रिपब्लिकन सीनेटर लिंडसे ग्राहम ने ट्वीट किया कि अफगानिस्तान से सैनिकों को वापस बुलाना बड़ा जोखिम होगा, जो क्षेत्र में अमेरिका की प्रगति पर पानी फेर सकता है और फिर से 9/11 जैसे वारदात को अंजाम देने का मार्ग प्रशस्त कर सकता है।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

लोकप्रिय