अमेरिका ने ईरान से तेल आयात करने वाले देशों को दी चेतावनी, भारत दूसरा सबसे बड़ा आयातक

8 मई को ईरान के साथ ऐतिहासिक परमाणु समझौते से अलग होने के अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के फैसले के बाद अमेरिका ने ईरान से हटाए गए प्रतिबंधों को फिर से लागू करने का संकल्प लिया है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

ईरान के साथ बढ़ते तनाव के बीच अमेरिका के विदेश विभाग ने सहयोगी देशों को 4 नवंबर तक ईरान से तेल आयात बंद करने का अल्टीमेटम दिया है। अमेरिकी विदेश विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा है कि डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन ने अमेरिका के सहयोगी देशों से कहा है कि 4 नवंबर तक ईरान से तेल आयात करना बंद कर दें। गौरतलब है कि भारत और चीन ईरानी क्रूड ऑयल (कच्चे तेल) के सबसे बड़े आयातक देश हैं। भारत ईरान के तेल का दूसरा सबसे बड़ा खरीदार है, जबकि चीन तीसरा सबसे बड़ा आयातक देश है।

अमेरिकी विदेश विभाग के अधिकारी ने स्पष्ट तौर पर कहा है कि अमेरिका के प्रतिबंध का मिडिल ईस्ट के सभी देशों को पालन करना होगा। उन्होंने कहा कि भारत और चीन समेत सभी देशों को ईरान से तेल का आयात बंद करना होगा। अधिकारी ने चेतावनी दी है कि अमेरिकी प्रतिबंध ना मानने अमेरिका इन देशों पर भी प्रतिबंध लगा सकता है। इसके साथ ही ईरान में व्यवसाय कर रही कंपनियों को भी 180 दिनों में अपने निवेश बंद करने के लिए कहा गया है। इसका पालन नहीं करने पर भारी जुर्माना देना होगा। चीन की समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, अमेरिका वर्तमान में ईरान के साथ व्यापार में शामिल किसी देश को छूट नहीं दे रहा है।

8 मई को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान के साथ हुए परमाणु समझौते से अमेरिका के हटने की घोषणा की थी। अमेरिका के इस कदम की कई यूरोपीय देशों ने कड़ी आलोचना की थी। समझौते से अलग होने के बाद अमेरिका ने ईरान से हटाए गए प्रतिबंधों को फिर से लागू करने का फैसला लिया है। ईरान पर कुछ प्रतिबंध 6 अगस्त से लागू हो जाएंगे, जबकि तेल निर्यात पर प्रतिबंध 4 नवंबर से लागू होंगे।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;