जापान के माउंट एसो ज्वालामुखी में विस्फोट, एक किलोमीटर दूर तक फैली राख, लोगों को अलर्ट रहने के निर्देश

माउंट एसो जापान का सबसे बड़ा सक्रिय ज्वालामुखी है और दुनिया के सबसे बड़े ज्वालामुखी में से एक है। यह अतीत में भी कई बार फट चुका है और कुछ लोगों की मौत भी हुई है। 2016 में एक विस्फोट के कारण ज्वालामुखीय धुआं समुद्र तल से 11 किमी ऊपर तक देखने को मिला था।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

जापान मौसम विज्ञान एजेंसी (जेएमए) ने बताया है कि दक्षिण-पश्चिमी जापान के क्यूशू क्षेत्र में स्थित माउंट एसो ज्वालामुखी पर बुधवार को एक जोरदार विस्फोट की आवाज सुनी गई। प्रशासन ने ज्वालामुखी में विस्फोट की पुष्टि की है। मुख्य कैबिनेट सचिव हिरोकाजू मात्सुनो ने टोक्यो में कहा कि इससे अब तक किसी के हताहत होने की खबर नहीं है।

इस बीच स्थानीय अधिकारी यह पता लगाने के लिए काम कर रहे हैं कि पहाड़ पर अभी भी कोई पर्वतारोही है या नहीं। जेएमए के अनुसार, विस्फोट स्थानीय समयानुसार सुबह 11.43 बजे माउंट एसो पर नंबर 1 नाकाडेक क्रेटर में हुआ। जिसके बाद कुमामोटो प्रान्त स्थित पहाड़ से धुआं निकलते देखा गया।


जेएमए ने कहा कि ज्वालामुखी की राख क्रेटर से 1 किमी से अधिक दूर तक फैल गई और लगभग 3,500 मीटर की ऊंचाई तक पहुंच गई। एजेंसी ने माउंट एसो के ज्वालामुखी चेतावनी स्तर को 5 के पैमाने से बढ़ाकर 3 कर दिया है। साथ ही लोगों से पहाड़ पर ना जाने और राख फैलने को लेकर अलर्ट पर रहने का आह्वान किया है।

बता दें कि माउंट एसो जापान का सबसे बड़ा सक्रिय ज्वालामुखी है और दुनिया के सबसे बड़े ज्वालामुखी में से एक है। यह क्यूशू द्वीप पर कुमामोटो प्रान्त में एसो कुजो राष्ट्रीय उद्यान में स्थित है। इसकी चोटी समुद्र तल से 1,592 मीटर है। माउंट एसो अतीत में भी कई बार फट चुका है और कुछ लोगों की मौत भी हुई है। 2016 में, एक विस्फोट के कारण ज्वालामुखीय धुआं समुद्र तल से 11 किमी ऊपर तक देखने को मिला था।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia