ईरान का पाकिस्तान पर हमला क्यों है अभूतपूर्व और क्या है एयर स्ट्राइक की पूरी कहानी, जानें

ईरान द्वारा पाकिस्तान पर मिसाइल हमला अभूतपूर्व है, ऐसा पहला कभी नहीं हुआ। मंगलवार के हमले में बलूचिस्तान के विशाल दक्षिण-पश्चिमी प्रांत का एक गांव प्रभावित हुआ, जो दोनों देशों की सीमा से लगा हुआ है।

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर
user

नवजीवन डेस्क

ईरान के इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड्स ने पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत में आतंकी ठिकानों पर एक बड़ा हमला किया है। इस हमले से क्षेत्र में और भी ज्यादा तनाव बढ़ गया है। यह हमला अभूतपूर्व है।

ईरान के स्थानीय मीडिया ने बताया है कि ईरान के मिसाइल हमले के दौरान पाकिस्तान में आतंकवादी समूह जैश अल-अदल के दो महत्वपूर्ण ठिकाने नष्ट हो गए हैं। मेहर न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, जैश उल-अदल आतंकी समूह वाले इन दो महत्वपूर्ण ठिकानों को मंगलवार को मिसाइल और ड्रोन से निशाना बनाया गया और नष्ट कर दिया गया।

ईरान के कुछ अन्य स्थानीय मीडिया का कहना है कि लक्षित अड्डे पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत में कुहे सब्ज़ नामक क्षेत्र में स्थित हैं, जहां जैश उल-अदल आतंकवादी समूह का सबसे बड़ा ठिकाना है।

बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान का कहना है कि मंगलवार को ईरान के हमलों में दो बच्चे मारे गए और तीन अन्य घायल हो गए। उधर ईरान ने कहा कि उसने आतंकवादी समूह जैश अल-अदल से जुड़े दो ठिकानों को निशाना बनाया। लेकिन पाकिस्तान ने इसे ख़ारिज करते हुए इसे एक "अवैध काम" बताया जिसके "गंभीर परिणाम" हो सकते हैं।


बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, इराक और सीरिया के बाद पाकिस्तान तीसरा देश है, जो पिछले कुछ दिनों में ईरानी हमले का शिकार हुआ है।

ईरान द्वारा पाकिस्तान पर मिसाइल हमला अभूतपूर्व है, ऐसा पहला कभी नहीं हुआ। मंगलवार के हमले में बलूचिस्तान के विशाल दक्षिण-पश्चिमी प्रांत का एक गांव प्रभावित हुआ, जो दोनों देशों की सीमा से लगा हुआ है।

कड़े शब्दों में एक बयान में, पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने "ईरान द्वारा उसके हवाई क्षेत्र के अकारण उल्लंघन" की कड़ी निंदा की है। इसने इस घटना को "पूरी तरह से अस्वीकार्य" कहा, और कहा कि "यह और भी चिंताजनक है कि यह अवैध कृत्य पाकिस्तान और ईरान के बीच बातचीत के कई चैनलों के रहते हुए हुआ है"।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;