दुनिया: पाक में टल जाएगा आम चुनाव? संसद में पास हुआ प्रस्ताव और जापान में भूकंप से मरने वालों की संख्या 90 के पार हुई

पाकिस्तानी संसद के ऊपरी सदन में एक प्रस्ताव पारित किया गया है जिसमें जिसमें सुरक्षा चिंताओं के कारण चुनाव में देरी करना की मांग की गई है और मध्य जापानी प्रान्त इशिकावा में आए शक्तिशाली भूकंप से मरने वालों की संख्या बढ़कर 92 हो गई है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पाकिस्तान में टल जाएगा आम चुनाव! संसद में पास हुआ प्रस्ताव

पाकिस्तान में 8 फरवरी को होने वाला आम चुनाव टल सकता है। दरअसल, पाकिस्तानी संसद के ऊपरी सदन में एक प्रस्ताव पारित किया गया है जिसमें जिसमें सुरक्षा चिंताओं के कारण चुनाव में देरी करना की मांग की गई है। यह प्रस्ताव सीनेटर दिलावर खान की ओर से पेश किया गया था। संसद के ऊपरी सदन में इस प्रस्ताव का केवल दो लोग कार्यवाहक सूचना मंत्री मुर्तजा सोलांगी और पीएमएल एन सीनेटर अफनान उल्लाह खान ने विरोध किया था।

दिलावर खान ने जिस समय प्रस्ताव को ऊपरी सदन में पेश किया उस समय वहां मंत्रा 14 सांसद उपस्थित थे, जबकि पाकिस्तान के ऊपरी सदन में कुल 100 सांसद हैं। दिलावर खान ने कहा कि संविधान ने पाकिस्तान के प्रत्येक नागरिक के लिए वोट देने के अधिकार को बरकरार रखा है। पाकिस्तान का चुनाव आयोग समावेशिता और सभी क्षेत्रीय लोगों की भागीदारी सुनिश्चित करने के आधार पर स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए बाध्य है।

जापान में भूकंप से मरने वालों की संख्या बढ़कर 92 हुई, 242 लोग लापता

मध्य जापानी प्रान्त इशिकावा में आए शक्तिशाली भूकंप से मरने वालों की संख्या बढ़कर 92 हो गई है, जबकि कम से कम 242 लोग लापता हैं। वहीं, बढ़ती क्षति की चिंताओं के बीच बचाव कार्य तेज हो गए हैं। जापानी समाचार एजेंसी क्योदो के अनुसार कुल लापता व्यक्तियों में से सबसे अधिक प्रभावित वाजिमा शहर में 40 लोगों की सूचना मिली है। सिन्हुआ समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, लापता लोगों की सुरक्षा की पुष्टि और खोज में तेजी लाने के लिए पुलिस और अग्निशमन विभागों के साथ सहयोग करते हुए आत्मरक्षा बलों ने भी लगभग 4,600 कर्मियों के साथ अपने प्रयास तेज कर दिए हैं।

क्योडो ने जापान के भू-स्थानिक सूचना प्राधिकरण के नवीनतम अनुमानों का हवाला देते हुए बताया कि भूकंप के दौरान वाजिमा शहर के केंद्र में भीषण आग लगने से लगभग 48,000 वर्ग मीटर का क्षेत्र नष्ट हो गया। आवश्यक आपूर्ति की डिलीवरी एक चुनौती बनी हुई है, भूस्खलन के कारण 10 से अधिक स्थानों पर सड़कें बंद हैं। इस बीच पूरे प्रांत में अलग-थलग समुदायों में 700 से अधिक लोग फंसे हुए हैं। क्षेत्र के बुनियादी ढांचे को गंभीर झटका लगा है, 13 शहरों और कस्बों में लगभग 30,000 घरों को बिजली कटौती और 80,000 अन्य लोगों को पानी की आपूर्ति में व्यवधान का सामना करना पड़ा है।


भीषण लड़ाई के बीच गाजा में मरने वालों की संख्या बढ़कर 22,438 हुई

फिलीस्तीनी स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, गाजा में इजरायली सेना और हमास के बीच लड़ाई तेज हो गई है। अक्टूबर 2023 में युद्ध शुरू होने के बाद से घिरे इलाके में मारे गए लोगों की संख्या बढ़कर 22,438 हो गई है। मंत्रालय ने अपने नवीनतम अपडेट में कहा कि कुल मृतकों में से 70 प्रतिशत बच्चे और महिलाएं हैं। इसमें कहा गया है कि पिछले 24 घंटों में कम से कम 125 फिलिस्तीनी मारे गए और 318 अन्य घायल हो गए। इस बीच, घायल लोगों की संख्या भी बढ़कर 57,614 हो गई है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता अशरफ अल-केदरा ने गुरुवार देर रात एक बयान में कहा कि गाजा शहर और उत्तर में तीन प्रमुख अस्पतालों के निदेशकों सहित 99 स्वास्थ्य कर्मचारियों को इजरायली बलों ने पकड़ लिया है। अल-केदरा ने चेतावनी दी कि दक्षिणी शहर खान यूनिस में नासिर मेडिकल कॉम्प्लेक्स और रेड क्रिसेंट सोसाइटी से संबद्ध अल-अमल अस्पताल इजरायली हमलों के निशाने पर आ गए हैं। अंतरराष्ट्रीय संस्थानों से अस्पतालों की सुरक्षा के लिए तत्काल कार्रवाई करने और घायलों और बीमारों को चिकित्सा सुविधाओं तक पहुंच सुनिश्चित करने का आह्वान किया गया है। 2023 के अंत तक 1.9 मिलियन लोग या गाजा की कुल आबादी का लगभग 85 प्रतिशत युद्ध के कारण आंतरिक रूप से विस्थापित होने का अनुमान लगाया गया था, जिसमें कई लोग कई बार विस्थापित हुए हैं। परिवारों को सुरक्षा की तलाश में बार-बार स्थानांतरित होने के लिए मजबूर होना पड़ा है। इस बीच अधिकारियों के अनुसार, वेस्ट बैंक में शुक्रवार तक मरने वालों की संख्या बढ़कर 314 हो गई, जिसमें 80 बच्चे भी शामिल हैं।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;