दुनिया: ईरानी कमांडर की कब्र के पास दोहरे विस्फोटों में 73 लोग मारे गए और टीटीपी आतंकवादी पाक में हैं सक्रिय

ईरान के दिवंगत कमांडर कासिम सुलेमानी की कब्र पर उन्‍हें श्रद्धांजलि देने के लिए जुटी भीड़ के बीच दो विस्फोटों में कम से कम 73 लोग मारे गए। टीटीपी पाक के खैबर पख्तूनख्वा (केपी) प्रांत के कई विलय वाले जिलों में अपनी मौजूदगी और संख्या बढ़ा रहा है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

पाकिस्तान : टीटीपी आतंकवादी खैबर पख्तूनख्वा के विलय वाले जिलों में हैं सक्रिय

पाकिस्तान के गृह मंत्रालय ने खुलासा किया है कि प्रतिबंधित तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) देश के खैबर पख्तूनख्वा (केपी) प्रांत के कई विलय वाले जिलों में भर्ती, प्रशिक्षण और आत्मघाती हमलावरों को तैनात करके अपनी मौजूदगी और संख्या बढ़ा रहा है।

गृह मंत्रालय ने पाकिस्तान की सीनेट को जानकारी देते हुए कहा कि केपी के विभिन्न जिलों में टीटीपी की बढ़ती मौजूदगी और संचालन चिंता का एक गंभीर कारण है। यह पाकिस्तान-अफगान सीमाओं पर आतंकवादी संगठन के प्रभाव और गतिविधियों को बढ़ाता है।

मंत्रालय ने कहा कि टीटीपी की बढ़ती मौजूदगी का कारण अंतरिम अफगान सरकार की निष्क्रियता है, जिसने अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की वापसी के बाद नियंत्रण ले लिया था।

उच्च सदन में मंत्रालय की लिखित प्रतिक्रिया में यह भी बताया गया कि 2023 में पाकिस्तान और टीटीपी के बीच शांति वार्ता के दौरान टीटीपी का पुन उद्भव और पुनर्गठन काफी बढ़ गया। बातचीत को अफगान तालिबान द्वारा सरल बनाया गया और काबुल में आयोजित किया गया।

सिंगापुर में भारतीय मूल के सहकर्मी की मौत के आरोप से बरी हुआ कर्मचारी

दुनिया: ईरानी कमांडर की कब्र के पास दोहरे विस्फोटों में 73 लोग मारे गए और टीटीपी आतंकवादी पाक में हैं सक्रिय

सिंगापुर में बांग्लादेश के 44 वर्षीय मशीन ऑपरेटर को 2020 में एक भारतीय मूल के कर्मचारी की मौत के आरोप से बरी कर दिया गया।

द स्ट्रेट्स टाइम्स अखबार ने बुधवार को बताया कि उत्तम पर लापरवाही से काम करके कर्मचारी की सुरक्षा को खतरे में डालने का आरोप लगाया गया, जिसके कारण करुप्पैया सेल्वराज की मौत हो गई।

अदालत को बताया गया कि 24 फरवरी, 2020 को उत्तम 11 शिपयार्ड क्रिसेंट के एक प्लांट में कतरनी मशीन चला रहा था, जब दुर्घटना हुई।

जनशक्ति मंत्रालय (एमओएम) ने पिछले साल एक मीडिया अलर्ट में कहा था कि करुप्पैया की मौत पर विदेशी निर्यात के लिए स्क्रैप मेटल का प्रोसेसिंग करने वाली कंपनी किम हॉक कॉर्प पर 2,40,000 सिंगापुर डॉलर का जुर्माना लगाया है।


अमेरिका में भारतीय मूल के परिवार की मौत को हत्या-आत्महत्या करार दिया गया

अमेरिकी राज्य मैसाचुसेट्स में हाल ही में एक भारतीय मूल के कपल और उनकी नाबालिग बेटी की मौत हो गई थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बड़ा खुलासा हुआ है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार, उनकी मौत को हत्या-आत्महत्या करार दिया गया है।

राकेश कमल (57), उनकी पत्नी टीना कमल (54) और उनकी 18 वर्षीय बेटी एरियाना 28 दिसंबर 2023 को डोवर में उनकी 5 मिलियन डॉलर की हवेली में मृत पाए गए थे। एनबीसी-बोस्टन के अनुसार, नॉरफ़ॉक डिस्ट्रिक्ट अटॉर्नी कार्यालय ने मंगलवार को घोषणा की कि राकेश ने खुद को गोली मारने से पहले अपनी पत्नी और बेटी को गोली मार दी थी।

राकेश के पास ए. 40 कैलिबर का ग्लॉक 22 पाया गया, लेकिन यह न तो उसके नाम पर पंजीकृत था और न ही उसके पास इसे रखने का लाइसेंस था। नॉरफ़ॉक डिस्ट्रिक्ट अटॉर्नी माइकल मॉरिससे ने कहा कि मुख्य चिकित्सा परीक्षक के कार्यालय के पोस्टमार्टम की रिपोर्ट से टीना और एरियाना को बंदूक की गोली लगने से हुई हत्या माना गया।

दिवंगत ईरानी कमांडर की कब्र के पास दोहरे विस्फोटों में कम से कम 73 लोग मारे गए, 173 घायल

दुनिया: ईरानी कमांडर की कब्र के पास दोहरे विस्फोटों में 73 लोग मारे गए और टीटीपी आतंकवादी पाक में हैं सक्रिय
Ians

ईरान के दक्षिणी-पश्चिमी प्रांत करमान में बुधवार को एक कब्रगाह में दिवंगत कमांडर कासिम सुलेमानी की कब्र पर उन्‍हें श्रद्धांजलि देने के लिए जुटी भीड़ के बीच दो विस्फोटों में कम से कम 73 लोग मारे गए और 173 अन्य घायल हो गए। अर्द्घ-आधिकारिक समाचार एजेंसी फ़ार्स ने यह जानकारी दी।

इस्लामिक रिपब्लिक ऑफ ईरान न्यूज़ नेटवर्क (IRINN) के अनुसार, विस्फोट कब्रिस्तान से एक किलोमीटर दूर एक अंडरपास में हुआ, पहला विस्फोट स्थानीय समयानुसार 15:04 बजे (1134 GMT) और दूसरा कुछ मिनट बाद सुना गया।

समाचार एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, आईआरआईएनएन ने कहा, 15:17 बजे, जब लोग दिवंगत कमांडर को उनकी चौथी हत्या की बरसी पर श्रद्धांजलि दे रहे थे। रिपोर्ट के मुताबिक, धमाकों का कारण अभी तक पता नहीं चल पाया है और बचाव दल को घटनास्थल पर भेजा गया है। इसमें कहा गया है कि ज्यादातर चोटें भीड़भाड़ और लोगों की घबराहट के कारण लगी हैं।


जापान में भूकंप से मरने वालों की संख्या बढ़कर 65 हुई, खराब मौसम के कारण बचाव कार्य में आ रही बाधा

दुनिया: ईरानी कमांडर की कब्र के पास दोहरे विस्फोटों में 73 लोग मारे गए और टीटीपी आतंकवादी पाक में हैं सक्रिय

इस हफ्ते की शुरुआत में मध्य जापान के इशिकावा प्रांत में आए सिलसिलेवार शक्तिशाली भूकंपों से मरने वालों की संख्या बुधवार को बढ़कर 65 हो गई। लगातार आ रहे झटकों और खराब मौसम के कारण बचाव कार्य में बाधा आ रही है।

समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने स्थानीय अधिकारियों के हवाले से जापान के क्योडो न्यूज के हवाले से बताया कि इशिकावा में सबसे ज्यादा प्रभावित वाजिमा शहर ने कुल 32 मौतों की पुष्टि की है।

क्षेत्र में महसूस किए गए सिलसिलेवार झटकों की श्रृंखला में बुधवार की सुबह 5.6 तीव्रता का एक और झटका आया। इससे पहले मंगलवार की शाम 4.6 तीव्रता का झटका नोटो प्रायद्वीप पर आया था।

भूकंप की पूरी तीव्रता अज्ञात है, क्योंकि मलबे और टूटी सड़कों के कारण बुधवार को खोज और बचाव अभियान अभी भी बाधित हो रहा है, सोमवार को आए 7.6 तीव्रता के भूकंप के दो दिन बाद वाजिमा में बड़े पैमाने पर संरचनात्मक क्षति हुई और आग लग गई।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;