दुनिया: इजरायल-हमास जंग के कारण इजरायल के लिए रद्द हो रहीं उड़ानें और खालिस्तान समर्थक को कनाडा में रहने की अनुमति

गाजा पट्टी पर चल रहे संघर्ष के कारण तुर्की स्थित दो एयरलाइनों ने इजरायल से आने-जाने वाली उड़ानें निलंबित कर दी हैं। अमेरिकन एयरलाइंस ने घोषणा की कि वह 4 दिसंबर तक इजरायल के मुख्य अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के लिए सभी उड़ानें रद्द कर रही है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

भारत में खालिस्तानी आतंकवादियों को आश्रय देने और खाना खिलाने वाले सिख को कनाडा में रहने की अनुमति

फोटो: IANS
फोटो: IANS

कनाडा में एक आव्रजन न्यायाधिकरण ने फैसला सुनाया है कि भारत में खालिस्तानी आतंकवादियों को आश्रय देने और खाने खिलाने वाले सिख व्यक्ति को उत्तरी अमेरिकी देश में अनुमति दी जानी चाहिए क्योंकि उसने आवश्यकता और प्रतिशोध के डर से ऐसा किया था।

कनाडा में एक आव्रजन न्यायाधिकरण ने फैसला सुनाया है कि एक सिख व्यक्ति जिसने "भारत में खालिस्तानी आतंकवादियों को आश्रय दिया और खिलाया" को उत्तरी अमेरिकी देश में अनुमति दी जानी चाहिए क्योंकि उसने ऐसा "ज्यादातर आवश्यकता से" और प्रतिशोध के डर से किया था।

सिंगापुर में नशे में धुत तमिल व्यक्ति ने रेलवे अधिकारी को चोट पहुंचाई, जुर्माने के साथ हुई जेल

फोटो: IANS
फोटो: IANS

 सिंगापुर में एक 24 वर्षीय नशे में धुत तमिल व्यक्ति ने एक रेलवे अधिकारी को चोट पहुंचाई। इसके लिए उस पर 800 सिंगापुर डॉलर का जुर्माना लगाया गया है और चार सप्ताह जेल की सज़ा सुनाई गई है। चैनल न्यूज एशिया की रिपोर्ट के अनुसार, इस साल 16 जनवरी को पुंगगोल एमआरटी स्टेशन पर मीनाचिसुंथरम पांडीसेल्वम ने ट्रेन से उतरने से इनकार कर दिया और 55 वर्षीय सहायक स्टेशन प्रबंधक के साथ हाथापाई की।

पांडीसेल्वम ने वोदका की 180 मिलीलीटर की दो बोतलें पी ली थी और बार-बार पीड़ित के सिर को ट्रेन के दरवाजे पर पटक दिया, जिससे वह बेहोश हो गया। अदालत ने कहा कि घटना के दिन लगभग 12.15 बजे पीड़ित ने पांडीसेल्वम को एक ट्रेन के डिब्बे के अंदर देखा जो डिपो लौटने वाली थी।

जब पांडीसेल्वम से ट्रेन से बाहर जान के लिए कहा तो उसने इनकार कर दिया। इसके बाद पीड़ित को पांडीसेल्वम और उसके सामान को ट्रेन से बाहर खींचना पड़ा।


तुर्की की दो एयरलाइनों ने चल रहे संघर्ष के कारण इजरायल के लिए उड़ानें निलंबित की

फोटो: IANS
फोटो: IANS

गाजा पट्टी पर चल रहे संघर्ष के कारण तुर्की स्थित दो एयरलाइनों ने इजरायल से आने-जाने वाली उड़ानें निलंबित कर दी हैं। समाचार एजेंसी शिन्हुआ के अनुसार, तुर्की एयरलाइंस ने अगली सूचना तक उड़ानें निलंबित कर दी हैं। अपनी वेबसाइट के अनुसार, एयरलाइन का कहना है कि वह तेल अवीव फ्लाइटों वाले लोगों के लिए टिकट में कुछ बदलाव और रिफंड की अनुमति देगी।

कम लागत वाली पेगासस एयरलाइंस ने भी अपनी वेबसाइट पर देश में हालिया घटनाक्रम और मौजूदा परिस्थितियों के कारण इजरायल के लिए उड़ानें निलंबित करने की घोषणा की।

इजराइल ने 7 अक्टूबर को आतंकवादी समूह के अप्रत्याशित हमले के प्रतिशोध के रूप में हमास पर युद्ध की घोषणा की है। परिस्थितियों को देखते हुए कई एयरलाइनों ने यहूदी राष्ट्र के लिए उड़ानें रद्द या निलंबित कर दी हैं।

अमेरिकन एयरलाइंस ने 4 दिसंबर तक इजरायल के लिए उड़ानें रद्द की

फोटो: IANS
फोटो: IANS

अमेरिकन एयरलाइंस ने घोषणा की कि वह 4 दिसंबर तक इजरायल के मुख्य अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के लिए सभी उड़ानें रद्द कर रही है। एयरलाइंस ने यह फैसला वर्तमान स्थिति को देखते हुए लिया है।

सीएनएन की रिपोर्ट के अनुसार, एयरलाइन न्यूयॉर्क के जॉन एफ. कैनेडी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से तेल अवीव के बेन गुरियन अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे तक उड़ानें संचालित करती है, जो गाजा से 40 मील से भी कम दूरी पर स्थित है।

अमेरिकन एयरलाइंस ने मंगलवार देर रात एक बयान में कहा था, ''हम टीएलवी से बाहर निकलने के इच्छुक लोगों को सहायता प्रदान करने के लिए अपनी साझेदार एयरलाइनों के साथ मिलकर काम करना जारी रखेंगे, सुरक्षा हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता रहेगी।''


प्रौद्योगिकी जगत के दिग्गजों ने की इजरायल पर हमास के हमले की निंदा, कर्मचारियों की सुरक्षा का किया वादा

फोटो: IANS
फोटो: IANS

गूगल, माइक्रोसॉफ्ट, अमेजन और अन्य टेक जायंट ने इजरायल पर हमास हमले की निंदा की है और देश में अपने कर्मचारियों की सुरक्षा का वादा किया है। इन कंपनियों के ऑफिस इजरायल में भी हैं। अल्फाबेट और गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने एक्स पर लिखा, "इस हफ्ते के अंत में इजरायल में हुए आतंकवादी हमलों और बढ़ते संघर्ष से बहुत दुखी हूं। इजरायल में गूगल के 2 कार्यालय और 2,000 से अधिक कर्मचारी हैं।

यह अकल्पनीय है कि वे क्या अनुभव कर रहे हैं। शनिवार से हमारा तत्काल ध्यान कर्मचारी सुरक्षा पर है। हमने अब अपने सभी स्थानीय कर्मचारियों से संपर्क किया है और उनका समर्थन करना जारी रखेंगे।"

7 अक्टूबर को हमास के आतंकवादी इजरायल में घुस गए, गाजा सीमा के करीब सड़कों और घरों में सैकड़ों लोगों की हत्या कर दी। दशकों में पहली बार इजरायली समुदायों पर गोलीबारी की।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;