दुनियाः पाकिस्तान में मंहगाई का कहर, अब तक के उच्चतम स्तर पर, फ्रांस में मई दिवस पर लाखों लोगों का प्रदर्शन

पाकिस्तान के पूर्व पीएम इमरान खान ने आज लाहौर हाईकोर्ट को सूचित किया कि मीडिया में आई खबरों के मुताबिक तीसरी बार उनकी हत्या की साजिश रची गई है। इजरायली मिसाइलों ने सीरिया के अलेप्पो प्रांत में अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट और कई सैन्य स्थलों को निशाना बनाया।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

पाकिस्तान में मंहगाई का कहर, अब तक के उच्चतम स्तर पर

पाकिस्तान में लोग महंगाई की मार से परेशान हैं। पाकिस्तान सांख्यिकी ब्यूरो (पीबीएस) के ताजा आंकड़ों के अनुसार, पाकिस्तान में जारी राजनीतिक और आर्थिक उथल-पुथल नागरिकों के जीवन को दयनीय बना रही है। इस बीच मासिक मुद्रास्फीति अब तक के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है। जियो न्यूज के अनुसार, उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) द्वारा मापी गई मुद्रास्फीति अप्रैल में सालाना आधार पर 36.4 प्रतिशत रही। यह पिछले महीने 35.4 प्रतिशत और अप्रैल 2022 में 13.4 प्रतिशत दर्ज की गई थी। आरिफ हबीब लिमिटेड ने कहा कि 1965 के बाद से उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक यह अब तक की सबसे ज्यादा महंगाई दर है।

जियो न्यूज के अनुसार, इस बीच मुद्रास्फीति में महीने-दर-महीने 2.4 प्रतिशत की वृद्धि हुई। ब्लूमबर्ग के अनुसार, पाकिस्तान में एशिया में सबसे तेजी से कीमतें बढ़ी हैं। यहां तक कि श्रीलंका को भी पीछे छोड़ दिया है, जहां बीते महीने मुद्रास्फीति 35.3 प्रतिशत थी। आरिफ हबीब लिमिटेड की एक अर्थशास्त्री सना तौफीक ने कहा कि मुद्रास्फीति उम्मीदों के अनुरूप है। गेहूं, सब्जियों और फलों की कीमतों ने खाद्य मुद्रास्फीति को बढ़ाया है। इस बीच महीने-दर-महीने मुद्रास्फीति मुख्य रूप से भोजन, कपड़े, घरेलू उपकरण और मनोरंजन उप-सूचकांकों द्वारा संचालित थी। अर्थशास्त्री ने कहा कि समग्र मुद्रास्फीति से जुड़े जोखिम कमजोर मुद्रा, अंतरराष्ट्रीय कमोडिटी की कीमतें और घरेलू खाद्य कीमतें हैं।

फ्रांस में मई दिवस पर लाखों लोगों का प्रदर्शन

फ्रांस के गृह मंत्रालय ने कहा कि इस साल अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस पर पूरे फ्रांस में करीब 782,000 लोगों ने विरोध-प्रदर्शन में भाग लिया। विवादास्पद पेंशन सुधार विधेयक को लेकर जारी सामाजिक तनाव के बीच विरोध-प्रदर्शन हुए। प्रदर्शन में शामिल लोगों की संख्या पिछले साल 1 मई को 116,500 थी जिसमें इस साल भारी वृद्धि हुई है। समाचार एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, पेंशन सुधारों के खिलाफ हुए हालिया आंदोलनों की तरह ही सोमवार का विरोध-प्रदर्शन भी पेरिस, ल्योन और मार्सिल सहित प्रमुख शहरों में हिंसक हो गया।

फ्रांसीसी गृह मंत्री गेराल्ड डर्मैनिन के अनुसार, विरोध- प्रदर्शनों के दौरान कम से कम 108 पुलिस और अर्धसैनिक जवान घायल हो गए। पेरिस में एक प्रदर्शनकारी ने मोलोटोव कॉकटेल चलाया जिससे एक पुलिस अधिकारी का चेहरा और हाथ झुलस गए। फ्रांस की प्रधानमंत्री एलिजाबेथ बोर्न ने सुरक्षा बलों के खिलाफ हिंसा की निंदा की। उन्होंने सोशल मीडिया पर कहा, मार्च के दौरान हिंसा के दृश्य अस्वीकार्य हैं। फ्रांस की संवैधानिक परिषद ने 14 अप्रैल को सेवानिवृत्ति की आयु धीरे-धीरे बढ़ाकर 62 से 64 साल करने की घोषण की थी।


इमरान का दावा- तीसरी बार उनकी हत्या की साजिश रची गई

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के प्रमुख इमरान खान ने मंगलवार को लाहौर उच्च न्यायालय को सूचित किया कि मीडिया में आई खबरों के मुताबिक 'तीसरी बार उनकी हत्या की साजिश रची गई'। द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, कार्यवाही के दौरान, पीटीआई प्रमुख ने अदालत को सूचित किया कि उन्होंने पहले खुलासा किया था कि उनकी हत्या का प्रयास किया जाएगा और सभी ने देखा कि वजीराबाद में क्या हुआ था।

उन्होंने दावा किया कि इस्लामाबाद न्यायिक परिसर में उनके खिलाफ दूसरा हमला किया जाना था, लेकिन सौभाग्य से वह बच गए। उन्होंने अदालत के संज्ञान में लाया कि उनके खिलाफ नई हत्या की साजिश रची गई है। द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, खान ने दावा किया कि जब वह अदालतों के सामने पेश होना चाहते थे, तो उन्हें पर्याप्त सुरक्षा प्रदान नहीं की गई थी और न ही पुलिस अधिकारियों द्वारा पेश होने की अनुमति दी गई थी। रिपोर्ट में कहा गया है कि उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि एक शीर्ष खुफिया अधिकारी पूरे खेल के पीछे था।

इजरायली मिसाइलों ने सीरिया में एयरपोर्ट, सैन्य स्थलों को बनाया निशाना

इजरायली मिसाइलों ने सीरिया के अलेप्पो प्रांत में अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे और कई सैन्य स्थलों को निशाना बनाया, जिसमें एक सैनिक की मौत हो गई और सात अन्य घायल हो गए। सेना ने मंगलवार को एक बयान में यह जानकारी दी। समाचार एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, हमले को आधी रात से ठीक पहले अंजाम दिया गया, हवाईअड्डे और अलेप्पो के ग्रामीण इलाकों में कई सैन्य ठिकानों पर हमला किया गया। घायलों में दो नागरिक भी शामिल हैं।

अलेप्पो के अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे के साथ-साथ राजधानी दमिश्क पर पहले इजराइल द्वारा हमला किया गया था और दिनों के लिए सेवा से बाहर हो गया था। इस बीच, सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स ने अलेप्पो अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे और अल-नायरब एयर बेस के क्षेत्र में कई विस्फोटों की सूचना दी। ब्रिटेन स्थित वॉचडॉग ने अधिक विवरण देने से रोक दिया, लेकिन कहा कि यह हमला 2023 की शुरुआत के बाद से अपनी तरह का 16वां हमला है। मार्च में, इजराइल ने दो अलग-अलग मौकों पर अलेप्पो के हवाईअड्डे पर हमला किया था और इसे कई दिनों के लिए बंद कर दिया था।


IMF कार्यक्रम को पुनर्जीवित करने के पाकिस्तान के विकल्प सीमित

तर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) कार्यक्रम को पुनर्जीवित करने के पाकिस्तान के विकल्प हर दिन बीतने के साथ सीमित होते जा रहे हैं। अभी यह पता लगाया जाना बाकी है कि देश 30 जून की समाप्ति की समय सीमा पर मौजूदा आईएमएफ कार्यक्रम को पूरा करने के लिए कैसे आगे बढ़ेगा। द न्यूज ने मंगलवार को सूचना दी कि बेलआउट कार्यक्रम के फिर से शुरू होने में देरी के बाद पाकिस्तानी अधिकारी और आईएमएफ एक-दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं।

दोनों पक्ष बकाया नौवीं समीक्षा को पूरा करने में 'अवांछित देरी' के लिए एक दूसरे को जिम्मेदार ठहरा रहे थे। दोनों पक्षों द्वारा 9 फरवरी को इस्लामाबाद वार्ता पूरी होने के लगभग 80 दिनों के बाद रुके हुए कार्यक्रम को फिर से शुरू किया गया था।द न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान के पास एक महीने से भी कम समय का विदेशी मुद्रा भंडार है और वह आईएमएफ से 1.1 अरब डॉलर के बेलआउट पैकेज का इंतजार कर रहा है, जो राजकोषीय नीति समायोजन से संबंधित मुद्दों पर नवंबर से विलंबित है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;