दुनिया: रेहड़ी-पटरी वालों की निगरानी कर रहा चीन और पाकिस्तान को 24 अरब डॉलर कर्ज की पेशकश

चीन ने तिब्बत की राजधानी ल्हासा और उसके आसपास के इलाकों में रेहड़ी-पटरी वालों की वीडियो निगरानी और निरीक्षण बढ़ा दिया है। मुद्रा डीलरों ने पाकिस्तान सरकार को अगले दो वर्षों के लिए 24 अरब डॉलर के ऋण की पेशकश की है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

चीन ने ल्हासा में रेहड़ी-पटरी वालों की वीडियो निगरानी, निरीक्षण बढ़ाया

चीन ने शहर को 'स्वच्छ' बनाने के प्रयास में तिब्बत की राजधानी ल्हासा और उसके आसपास के इलाकों में रेहड़ी-पटरी वालों की वीडियो निगरानी और निरीक्षण बढ़ा दिया है, हालांकि स्वायत्तशासी क्षेत्र के सूत्रों का कहना है कि यह उपाय किए जाने के बाद तिब्बती फेरीवाले सड़कों पर उतर गए। यह जानकारी मीडिया रिपोर्ट में दी गई। रेडियो फ्री एशिया ने बताया कि स्थानीय अधिकारियों ने 20 मार्च को लगभग 5,60,000 लोगों के शहर में 'क्लीन अप ल्हासा' अभियान को लागू करना शुरू किया, जिसमें वे जोखंग मंदिर या त्सुगलगखंग में और उसके आसपास के सभी रेहड़ी-पटरी वालों का निरीक्षण कर रहे हैं।

तिब्बती लोग ल्हासा के बरखोर स्क्वायर में चार मंजिला बौद्ध मंदिर को तिब्बत स्वायत्त क्षेत्र का सबसे पवित्र और महत्वपूर्ण मंदिर मानते हैं। रेडियो फ्री एशिया के मुताबिक, चीनी अधिकारी उन तिब्बती विक्रेताओं पर भी प्रतिबंध लगा रहे हैं जो जौ, शा-कम्पो या याक और भेड़ के मांस और अन्य खाद्य पदार्थो से बने तिब्बती प्रधान भोजन 'त्सम्पा' बेचते हैं, उनका आरोप है कि उनके पास उचित भोजन बैज नहीं है।

हमले और शरारत के आरोपों का सामना कर रहे कनाडाई सिख ने आत्मसमर्पण किया : पुलिस

फोटो: IANS
फोटो: IANS

 मारपीट, धमकी देने और शरारत करने सहित कई आरोपों का सामना कर रहे एक 28 वर्षीय कनाडाई सिख ने वैंकूवर प्रांतीय अदालत में आत्मसमर्पण किया। जिसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने यह जानकारी दी। 31 मार्च को आत्मसमर्पण करने वाले मनवीर सिंह धेसी को सुरे में रहने के लिए जाना जाता है, लेकिन पुलिस ने कहा कि वह ब्रिटिश कोलंबिया के कनाडाई प्रांत बर्नेबी में भी आता-जाता रहता है।

बर्नेबी रॉयल कैनेडियन माउंटेड पुलिस (आरसीएमपी) ने इस सप्ताह की शुरुआत में एक नोटिस जारी किया था, जिसमें ब्रिटिश कोलंबिया व्यापक गिरफ्तारी वारंट पर वांछित धेसी का पता लगाने में सार्वजनिक सहायता मांगी गई थी। रिपोर्ट के अनुसार, 31 मार्च को जमानत की सुनवाई के दौरान पेश की गई जानकारी के अनुसार, धेसी पर आरोप 13 मार्च को उसकी पूर्व प्रेमिका के घर पर हुई कथित घटनाओं से संबंधित हैं।


भारतीय-अमेरिकी प्रोफेसर को मिला यंग यूरोलॉजिस्ट ऑफ द ईयर अवार्ड

फोटो: IANS
फोटो: IANS

न्यूयॉर्क स्थित अल्बर्ट आइंस्टीन कॉलेज ऑफ मेडिसिन में एक भारतीय-अमेरिकी एसोसिएट प्रोफेसर को यंग यूरोलॉजिस्ट अवार्ड से सम्मानित किया गया है। मोंटेफियोर यूरोलॉजी रेजिडेंसी प्रोग्राम की निदेशक डॉ. नित्या अब्राहम ने न्यूयॉर्क क्षेत्र में कई छात्रों, निवासियों, साथियों और जूनियर फैकल्टी को मेंटॉर किया है।

अब्राहम ने एक बयान में कहा, मैं अपने गुरुओं और निश्चित रूप से, अपने माता-पिता और पति की आभारी हूं, जिन्होंने मुझे इस पुरस्कार को जीतने में मदद की। ऐसे समय में जब फिजिशियनों पर काम का दबाव बढ़ रहा है, यह आश्चर्यजनक है कि अमेरिकन यूरोलॉजिकल एसोसिएशन और इसके लीडर्स देश भर में कई युवा यूरोलॉजिस्टों की कड़ी मेहनत को पहचान रहे हैं।

विस्फोटक से लदी मूर्ति को सेंट पीटर्सबर्ग कैफे में ले गई थी युद्ध-विरोधी महिला

दुनिया: रेहड़ी-पटरी वालों की निगरानी कर रहा चीन और पाकिस्तान को 24 अरब डॉलर कर्ज की पेशकश

एक कैफे में विस्फोटकों से लदी एक मूर्ति को ले जाकर व्लादिमीर पुतिन के प्रचारकों में से एक की हत्या करने के संदेह में एक युद्ध-विरोधी महिला कार्यकर्ता को सोमवार को गिरफ्तार किया गया है। मीडिया रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है।

डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक, डारिया ट्रेपोवा (26) के कथित तौर पर सेंट पीटर्सबर्ग के एक कैफे में घुसने के बाद व्लाडलेन टाटास्र्की (जिनका असली नाम मैक्सिम फोमिन है) के टुकड़े-टुकड़े हो गए और उन्हें खुद की एक छोटी सी मूर्ति सौंपी, जिसके बारे में कहा जाता है कि यह विस्फोटकों से लदी हुई थी।

पुतिन और उनके यूक्रेन पर आक्रमण के कट्टर समर्थक, टाटास्र्की (40) स्ट्रीट फूड नंबर 1 कैफे में एक राजनीतिक कार्यक्रम में बोल रहे थे, जब बम उनके बगल में फट गया। क्रेमलिन ने दावा किया कि प्रचारक को मारना और 32 अन्य को घायल करना एक 'आतंकवादी हमला' था।


आईएमएफ पैकेज से दूर रहने के लिए करेंसी डीलरों ने पाक को दी 24 अरब डॉलर कर्ज की पेशकश

दुनिया: रेहड़ी-पटरी वालों की निगरानी कर रहा चीन और पाकिस्तान को 24 अरब डॉलर कर्ज की पेशकश

पाकिस्तान में खुले बाजार में मुद्रा डीलरों ने अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) कार्यक्रम से दूर रहने में मदद करने के लिए सरकार को अगले दो वर्षों के लिए 24 अरब डॉलर के ऋण की पेशकश की है। द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के मुताबिक, एक्सचेंज कंपनीज एसोसिएशन ऑफ पाकिस्तान (ईसीएपी) के अध्यक्ष मलिक बोस्टन ने कहा, "हमने आईएमएफ से छुटकारा पाने के लिए अगले दो वर्षों के लिए सरकार को वित्तपोषण में 1 अरब डॉलर प्रति माह की पेशकश की है।"

उन्होंने जोर देकर कहा कि सरकार को विदेशी कंपनियों, विदेशी फर्मों और वैश्विक विनिमय कंपनियों से सीधे अमेरिकी डॉलर उधार लेने की अनुमति देने के लिए एक आदेश पारित करना चाहिए। ऋण नि:शुल्क होंगे और आवश्यकता पड़ने पर इन्हें रिलीज किया जा सकता है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;