दुनिया की खबरें: हजारों लग्जरी कार के साथ समुद्र में जला जहाज और यूक्रेन में फंसे भारतीयों के लिए ‘देवदूत’ बनी AI

वोक्सवेगन ग्रुप की हजारों लक्ज़री गाड़ियां जा रहे बड़े मालवाहक जहाज़ फेसिलिटी ऐस में अटलांटिक सागर बुधवार को आग लग गई और एयर इंडिया ने भारतीयों को यूक्रेन से बाहर निकालने के लिए फ्लाइट्स ऑपरेट करने का फैसला किया है

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

हजारों लग्ज़री कारों को अमेरिका ले जा रहे जहाज में लगी आग

वोक्सवेगन ग्रुप की हजारों लग्ज़री कारों से भरा एक मालवाहक जहाज गुरूवार को अटलांटिक महासागर में बह गया है। हालांकि जहांज के चालक दल को बचा लिया गया है। लेकिन जहाज में आग लगने के कारण फॉक्सवैगन ग्रुप को खासा नुकसान हुआ है। पोत, ‘फेलिसिटी ऐस’, 10 फरवरी को जर्मनी के एम्डेन से रवाना हुआ और बुधवार को अमेरिका के रोड आइलैंड के डेविसविले पहुंचने वाला था। जहाज के कार्गो होल्ड में आग तब लगी जब यह पुर्तगाली द्वीप क्षेत्र अज़ोरेस में टेरसेरा द्वीप से लगभग 200 मील की दूरी पर था। बुधवार को पुर्तगाली बलों ने आग लगने के तुरंत बाद चालक दल को बाहर निकाला। बचाए गए चालक दल के सदस्यों को पास के पुर्तगाली द्वीप फैयाल ले जाया गया।

अभी तक, यह स्पष्ट नहीं है कि आग में 650 फुट, 60,000 टन मालवाहक जहाज का कितना माल नष्ट हो गया है। ऑटोमोटिव वेबसाइट, ‘द ड्राइव’ के अनुसार, वोक्सवैगन समूह का अनुमान है कि जहाज में लगभग 4,000 वाहन थे, जिसमें 189 बेंटले शामिल थी। पोर्श ने जहाज पर अपनी 1,100 कारों की मौजूदगी की पुष्टि की।पोर्श कार्स नॉर्थ अमेरिका के एक प्रवक्ता ने गुरुवार शाम को एक बयान जारी कर कहा कि कंपनी की 1,100 कारें बोर्ड पर थीं लेकिन वाहनों का भविष्य अज्ञात था। उन्होंने अपनी कारों के लिए चिंतित ग्राहकों को अपने संबंधित डीलरों से संपर्क करने के लिए प्रोत्साहित किया। फॉक्सवैगन ग्रुप के स्पोक्स पर्सन ने जहाज में जलने वाली गाड़ियों के ब्रेंड की जानकारी नहीं दी है लेकिन अमेरिका में ये ग्रुप पोर्श, ऑडी, लेम्बोर्गिनी, बेंटले, और बुगाटी जैसी गाड़ियों को बेचता है। ऐसे में अंदेशा यह भी है कि फॉक्सवैगन ग्रुप को इस हादसे से बड़ा नुकसान हुआ है।

यूक्रेन में फंसे भारतीयों के लिए ‘देवदूत’ बनी एयर इंडिया

रूस और यूक्रेनके बीच जारी संकट की वजह से वहां पर बड़ी संख्या में भारतीय छात्र और नागरिक यूक्रेन में फंस गए हैं। ऐसे में इनकी सुरक्षा पर खतरा मंडरा गया है। वहीं, एयर इंडिया ने भारतीयों को यूक्रेन से बाहर निकालने के लिए फ्लाइट्स ऑपरेट करने का फैसला किया है। एयर इंडिया 22, 24 और 26 फरवरी 2022 को भारत-यूक्रेन के बीच तीन फ्लाइट्स को ऑपरेट करेगी। भारत से ये विमान बोरिस्पिल इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर पहुंचेंगे। फ्लाइट्स के लिए बुकिंग एयर इंडिया बुकिंग कार्यालयों, वेबसाइट, कॉल सेंटर और अधिकृत ट्रैवल एजेंटों के जरिए की जा सकती है। हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, यूक्रेन में 20 हजार भारतीय नागरिक रहते हैं, जिसमें से 18 हजार भारतीय छात्र हैं। रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे विवाद की वजह से भारत के लिए उड़ानें महंगी हो गई हैं और 20 फरवरी के बाद ही उपलब्ध हैं। सूत्रों ने बुधवार को कहा कि भारत और यूक्रेन के बीच उड़ानों की संख्या बढ़ाने पर विदेश मंत्रालय और नागरिक उड्डयन मंत्रालयों और कई एयरलाइनों के बीच चर्चा चल रही है। यूक्रेन के शिक्षा और विज्ञान मंत्रालय के अनुसार, यूक्रेन में पढ़ाई करने वाले विदेशी छात्रों में से 24 फीसदी भारत से हैं।

ग्रीस में क्रूज पर लगी आग, बाल-बाल बचे यात्री

इटली के झंडे वाले एक क्रूज जहाज में शुक्रवार को भूमध्य सागर के आयोनियन सागर से गुजरते वक्त आग लग गई। इस क्रूज जहाज पर 288 लोग सवार थे। यह जानकारी ग्रीक तटरक्षक ने दी। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, तटरक्षक बल के अनुसार, क्रूज जहाज में 237 यात्री और चालक दल के 51 सदस्य सवार थे। ग्रीक राष्ट्रीय प्रसारक ईआरटी ने बताया कि एक व्यक्ति को सांस लेने में तकलीफ हुई और उसे स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने कहा कि यात्रियों की मदद के लिए नौकाएं भेजी गई हैं। ग्रीक रेडियो स्टेशन स्काई के अनुसार, जहाज पर सवार सभी यात्रियों, यूरोफेरी ओलंपिया, ग्रीस से इटली जा रहे हैं, जिन्हें बचा लिया गया है। तटरक्षक ने कहा कि उन्हें पास के ग्रीक द्वीप कोर्फू ले जाया जा रहा था। आग लगने के कारण की जांच की जा रही है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

यूक्रेन ने ईयू के साथ किया 'ओपन स्काई' समझौता

यूक्रेन की संसद ने यूरोपीय संघ के साथ एक 'ओपन स्काई' समझौते का अनुमोदन किया है जिससे दोनों देशों के बीच हवाई क्षेत्र में संयुक्त सहयोग किया जाएगा। संसद की वेबसाइट पर गुरूवार को जारी किए गए एक बयान में कहा गया कि इस समझौते पर कीव में यूक्रेन और यूरोपीय संसद की 23वीं शिखर बैठक में हस्ताक्षर किए गए थे। उस समय इसका समर्थन 450 में से 311 सांसदों ने किया था। संवाद समिति शिन्हुआ के मुताबिक इस समझौते के बाद यूक्रेन और यूरोपीय संघ के हवाई क्षेत्र में तकनीकी जरूरतों, प्रशासनिक प्रक्रियाओं और मानक संचालन प्रक्रिया दोनों पक्षों पर लागू होंगी। इसे अस्तित्व में आने के लिए हालांकि यूरोपीय संघ के प्रत्येक देश को व्यक्तिगत स्तर पर मंजूरी देनी है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

ब्राजील में भूस्खलन, बाढ़ से मरने वालों की संख्या 105 तक पहुंची

ब्राजील के रियो डी जनेरियो राज्य के पेट्रोपोलिस शहर में इस सप्ताह की शुरुआत में भारी बारिश के कारण हुए भूस्खलन और बाढ़ के कारण मरने वालों की संख्या बढ़कर 105 हो गई, जबकि 140 लोग अभी भी लापता हैं। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, गुरुवार को एक बयान में, रियो डी जनेरियो नागरिक सुरक्षा अधिकारियों ने कहा कि कम से कम 400 अग्निशामक बचे लोगों की तलाश के लिए सेना के कर्मियों के साथ काम कर रहे हैं, भूस्खलन और बाढ़ से पेट्रोपोलिस का एक बड़ा हिस्सा नष्ट हो गया है।

रियो डी जनेरियो शहर से लगभग 68 किमी उत्तर में स्थित पहाड़ी शहर में मंगलवार को भारी बारिश के कारण 50 से अधिक भूस्खलन हुए। 500 से अधिक परिवारों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया, जबकि बिजली ग्रिड और पेयजल आपूर्ति भी प्रभावित हुई। रियो डी जनेरियो राज्य के गवर्नर क्लाउडियो कास्त्रो ने परिस्थितियों की तुलना "युद्ध की स्थिति" से की, जबकि पेट्रोपोलिस के मेयर के कार्यालय ने सार्वजनिक आपदा की स्थिति का फैसला किया और अगले 48 घंटों में और अधिक बारिश की संभावना के बारे में आबादी को अलर्ट जारी किया। इस बीच, विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नवाचार मंत्रालय ने संकेत दिया कि नए भूस्खलन के जोखिम बहुत अधिक है, क्योंकि तीव्र बारिश ने मिट्टी में नमी का स्तर बढ़ा दिया।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia