दुनिया की 5 बड़ी खबरें: क्या अमेरिका के इस सलाह को मानेगा पाकिस्तान और भारत के बारे में ये क्या बोल गए इमरान? 

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का कहना है कि ‘भारतीय लड़ाकू विमान को पाकिस्तानी वायुसेना द्वारा मार गिराया जाना’ बतौर प्रधानमंत्री उनके अब तक के कार्यकाल का सबसे अच्छा लम्हा रहा है। अमेरिका ने यह भी कहा है कि वह पाकिस्तान के लिए चीन की तुलना में एक बेहतर मॉडल दे सकता है।

फोटो: आईएएनएस
फोटो: आईएएनएस

नवजीवन डेस्क

भारतीय लड़ाकू विमान को 'मार गिराया जाना' मेरे कार्यकाल का सबसे अच्छा लम्हा : इमरान

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का मानना है कि 'भारतीय लड़ाकू विमान को पाकिस्तानी वायुसेना द्वारा मार गिराया जाना' बतौर प्रधानमंत्री उनके अब तक के कार्यकाल का सबसे अच्छा लम्हा रहा है। इमरान इस साल फरवरी में पाकिस्तान स्थित बालाकोट में आतंकी शिविरों पर भारत के हमले के बाद पाकिस्तानी वायुसेना के विमानों के भारत में घुसने के प्रयासों को भारतीय वायुसेना द्वारा विफल किए जाने की घटना का जिक्र कर रहे थे।

लगता है, हवाई जहाज देखते ही नवाज शरीफ ठीक हो गए : इमरान

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ पर तंज कसते हुए कहा है कि यह अपने आप में एक जांच का विषय है कि क्या वह (नवाज शरीफ) हवाईजहाज देखते ही सेहतमंद हो गए? भ्रष्टाचार के आरोप में कैद की सजा पाए शरीफ को अदालत ने इलाज के लिए विदेश जाने की अनुमति दी है। उनकी हालत एक समय काफी गंभीर हो गई थी।

इमरान के कार्यकाल के 13 महीने में पाकिस्तान पर कर्ज 35 फीसदी बढ़ा

अस्तित्व में आने के बाद से बीते 71 साल में जितना कर्ज पाकिस्तान पर चढ़ा है, उसमें 35 फीसदी हिस्सा अकेले इमरान सरकार के तेरह महीने के कार्यकाल में लिए गए कर्ज का है। पाकिस्तानी मीडिया में प्रक्राशित रिपोर्ट में कहा गया है कि कर्ज लेने के मामले में इमरान सरकार ने पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी और मुस्लिम लीग-नवाज को बहुत पीछे छोड़ दिया है।

पाकिस्तान स्टेट बैंक के ताजा आंकड़ों के मुताबिक, 30 जून 2018 को पाकिस्तान का कुल ऋण व उत्तरदायित्व 29879 अरब रुपये (पाकिस्तानी) था जो 30 सितंबर 2019 को बढ़कर 41489 अरब रुपये (पाकिस्तानी) हो गया। यह वृद्धि 15 महीनों में हुई जिनमें से 13 महीने इमराननीत पाकिस्तान तहरीके इंसाफ पार्टी के कार्यकाल के हैं। कर्ज में यह वृद्धि कुल 38.8 फीसदी की है।

पेपाल पाकिस्तान में अपनी सेवाएं देने के लिए तैयार नहीं

पाकिस्तान में सरकारी अधिकारियों ने स्वीकार किया है कि देश में पेपाल को लाने की कवायद फिलहाल विफल साबित हुई है। पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान के सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के एक प्रतिनिधिमंडल ने बीते महीने अमेरिका का दौरा कर अंतर्राष्ट्रीय आनलाइन भुगतान कंपनी को पाकिस्तान में अपनी सेवाएं शुरू करने के लिए राजी करने की कोशिश की थी।

अमेरिका ने पाकिस्तान को चीन के चंगुल में फंसने से आगाह किया

अमेरिका ने पाकिस्तान को चीन की आर्थिक नीतियों के प्रति चेताते हुए कहा है कि चीन के साथ बड़े पैमाने के आर्थिक संबंध में लंबे समय में उसे बहुत कम फायदा होगा जबकि नुकसान बहुत अधिक होगा। अमेरिका ने यह भी कहा है कि वह पाकिस्तान के लिए चीन की तुलना में एक बेहतर मॉडल दे सकता है। अमेरिका की दक्षिण व मध्य एशिया मामलों की मंत्री एलिस वेल्स ने गुरुवार को वुडरो विल्सन इंटरनेशनल सेंटर फार स्कॉलर्स में कहा कि जिस चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (सीपीईसी) को दोनों एशियाई देश 'गेम चेंजर' के रूप में प्रचारित कर रहे हैं, वह केवल चीन के लिए ही फायदेमंद होगा।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

लोकप्रिय