दुनिया की 5 बड़ी खबरें: लंदन में नवाज शरीफ को गोली मारने के लगे नारे और श्रीलंका के इस कदम ने बढ़ाई भारत की टेंशन

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) समर्थकों के एक समूह ने लंदन स्थित उस अपार्टमेंट के बाहर विरोध प्रदर्शन किया, जहां फिलहाल बीमार पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ रह रहे हैं। श्रीलंका के नवनियुक्त प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे ने कहा कि श्रीलंका चीन के साथ मैत्रीपूर्ण संबंधों को आगे बढ़ाएगा।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

चीन के साथ मैत्रीपूर्ण संबंधों को आगे बढ़ाएगा श्रीलंका : महिंदा राजपक्षे

श्रीलंका के नवनियुक्त प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे ने कहा कि श्रीलंका चीन के साथ मैत्रीपूर्ण संबंधों को आगे बढ़ाएगा। उन्होंने कहा कि नई सरकार के सामने सबसे जरूरी काम राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था का पुनर्निर्माण है और एक मजबूत नई सरकार स्थापित हुई है और हमें राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था बहाल करने का विश्वास है। कोलंबो में 7 दिसंबर को सिन्हुआ न्यूज एजेंसी से साक्षात्कार में महिंदा राजपक्षे ने कहा कि श्रीलंका की नई सरकार भविष्य में चीन के साथ मैत्रीपूर्ण संबंधों का विकास करने की अपेक्षा रखती है।

लंदन में प्रदर्शन के दौरान नवाज शरीफ को गोली मारने के नारे लगे

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) समर्थकों के एक समूह ने लंदन स्थित उस अपार्टमेंट के बाहर विरोध प्रदर्शन किया, जहां फिलहाल बीमार पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ रह रहे हैं। इस दौरान एक प्रदर्शनकारी ने पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री को गोली मारने का नारा लगाया। द न्यूज इंटरनेशनल की रिपोर्ट के अनुसार, लगभग 40 प्रदर्शनकारियों ने तारिक महमूद के नेतृत्व में रविवार को पीटीआई के समर्थन में नारे लगाए। तारिक 'पाकिस्तान पैट्रियटिक फ्रंट' नाम से एक समूह चलाते हैं।

पाकिस्तान : ईसाइयों को आतंकवाद रोधी कानून के तहत फंसाने का आरोप

पाकिस्तान के प्रांत पंजाब में टोबा टेक सिंह जिले के ईसाई धर्मगुरुओं व अन्य नेताओं ने अपने समुदाय के कई लोगों को आतंकवाद रोधी कानून के तहत फंसाने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा है कि अगर इस मामले को रद्द नहीं किया गया तो समुदाय पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन पर बाध्य होगा। बिशप जॉन सैमुअल ने एक प्रेस कांफ्रेंस में आरोप लगाया कि जिले के चक 281-जेबी दवाखरी की क्रिश्चियन कालोनी के 15 नामजद और 30 अज्ञात लोगों के खिलाफ पुलिस ने आतंकवाद रोधी कानून के तहत 'अन्यायपूर्ण' तरीके से मामला दर्ज किया है।

'पानीपत' पर ट्वीट कर भारतीयों के निशाने पर आईं इमरान की सलाहकार

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की सूचना एवं प्रसारण मामलों की सलाहकार डॉ. फिरदौस आशिक अवान 'पानीपत' फिल्म पर ट्वीट कर सोशल मीडिया पर भारतीयों के निशाने पर आ गईं। उन्हें कहना पड़ा कि भारतीय इस ट्वीट पर उन्हें ट्रोल कर रहे हैं। इस पर उन्होंने अपना पक्ष रखने पर बाध्य भी होना पड़ा है। अवान ने ट्वीट किया, "भारतीय अकाउंट मुझे ट्रोल कर रहे हैं कि आप अफगानिस्तानियों पर क्यों ट्वीट कर रही हैं। तो देखिए, मैं केवल अफगानों के बारे में ट्वीट नहीं कर रही हूं बल्कि पाकिस्तान में रह रहे पश्तूनों के बारे में भी कर रही हूं। पाकिस्तान में दो करोड़ साठ लाख पश्तून रहते हैं और अफगानिस्तान में एक करोड़ बीस लाख पश्तून हैं। सभी नाराज हैं।"

पाकिस्तान में आर्थिक बदहाली से किन्नरों को खाने के लाले

पाकिस्तान में बेतहाशा महंगाई और रिकार्डतोड़ आर्थिक बदहाली की मार समाज के कई अन्य हिस्सों की तुलना में कहीं अधिक किन्नरों पर पड़ी है। नौबत यहां तक आ गई है कि इनके लिए दो वक्त की रोटी जुटा पाना मुश्किल हो रहा है। किन्नरों का कहना है कि जब लोगों के पास नोट है ही नहीं तो वे हम पर उन्हें भला न्योछावर कैसे करें? किन्नर समुदाय का कहना है कि एक समय था जब उनके इलाकों में लोगों की भीड़ लगी रहती थी। लोग उन्हें कार्यक्रमों के लिए बुलाने आते थे। नौबत यहां तक आती थी कि उनके पास सभी के लिए समय नहीं होता था और लोगों को मायूस लौटना पड़ता था। आज हालत यह है कि उनके इलाके, उनकी महफिलें वीरान पड़ी हुई हैं।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

लोकप्रिय
next