दुनिया: विश्व मंच पर अकेले पड़े ट्रूडो और अपहरण के 4 महीने बाद घर लौटा पाक पत्रकार

लोगों की नजरों में कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो काफी हद तक अकेले पड़ गए हैं। प्रमुख पाकिस्तानी पत्रकार और एंकर इमरान रियाज खान चार महीने पहले अगवा होने के बाद सोमवार को अपने परिवार के पास लौट आए।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

कनाडा के स्पीकर ने यूक्रेनी नाज़ी युद्ध के दिग्गज की प्रशंसा के लिए माफ़ी मांगी

फोटो: IANS
फोटो: IANS

कनाडा के हाउस ऑफ कॉमन्स के स्पीकर एंथनी रोटा ने द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान नाजी डिविजन में सेवा करने वाले एक यूक्रेनी व्यक्ति की प्रशंसा करने के लिए माफी मांगी है। एक मीडिया रिपोर्ट में ये बात कही गई है। बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, यूक्रेनी राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की की यात्रा के दौरान यारोस्लाव हुंका (98) संसद में गैलरी में बैठे थे और रोटा ने कहा कि हुंका "हीरो" थे, जिसके बाद संसद में खड़े होकर उनका अभिनंदन किया गया। कनाडाई यहूदी समूह सीआईजेए ने कहा कि यह "बेहद परेशान" करने वाला था कि यहूदियों के नरसंहार में भाग लेने वाले नाजी डिवीजन के एक अनुभवी व्यक्ति का जश्न मनाया गया।

बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, इसमें कहा गया है कि ऐसा दोबारा कभी नहीं होना चाहिए। उस समय संसद में प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ज़ेलेंस्की के साथ थे। युद्ध के दौरान हजारों यूक्रेनियन जर्मन पक्ष से लड़े, लेकिन लाखों लोगों ने सोवियत लाल सेना में सेवा की।

प्रचंड की यात्रा के दौरान नेपाल और चीन में 12 समझौतों पर हस्ताक्षर

फोटो: IANS
फोटो: IANS

नेपाल और चीन में एक एमओयू सहित 12 विभिन्न समझौतों पर हस्ताक्षर हुए। यह करार नेपाल के प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल प्रचंड की आधिकारिक चीन यात्रा के दौरान किए गए। दहल अपने चीनी समकक्ष ली कियांग के निमंत्रण पर चीन के दौरे पर हैं। उन्होंने 19वें एशियन गेम्स से इतर शनिवार को हांगझोऊ में चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ बातचीत की।

नेपाली पक्ष के मुताबिक, ग्रेट हॉल ऑफ द पीपल में दहल और ली के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता के बाद एक एमओयू समेत इन 12 समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए। सोमवार को जिन समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए, उनमें चीन के राष्ट्रीय विकास और सुधार आयोग और नेपाल के राष्ट्रीय योजना आयोग के बीच सहयोग, नेपाल के उत्तरी पर्वतीय क्षेत्र में विभिन्न वस्तुओं के उत्पादन और वितरण पर 2017 नेपाल-चीन समझौता ज्ञापन के नोटों का आदान-प्रदान और एक अन्य समझौता शामिल है। डिजिटल अर्थव्यवस्था को बढ़ाने पर सहयोग के लिए चीन के राष्ट्रीय विकास और सुधार आयोग और नेपाल के वित्त मंत्रालय से संबंधित है।


ब्रिटेन के अस्पताल में भारतीय मूल के व्यक्ति की मौत की जांच करेगा कोरोनर कार्यालय

फोटो: IANS
फोटो: IANS

ब्रिटेन के एक अस्पताल से 30 वर्षीय भारतीय मूल के व्यक्ति की मौत का मामला सामने आ रहा है। यह घटना पिछले महीने की है। इस मामले में कोरोनर कार्यालय की जांच शुरू हो रही है।मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, मृतक के पिता का कहना है कि अगर परिवार को दूसरी मेडिकल राय का अधिकार दिया जाता तो उन्हें बचाया जा सकता था। गार्जियन अखबार ने सोमवार को बताया कि 58 वर्षीय जय पटेल ने कहा कि जब उनका बेटा बलराम बीमार पड़ गया, तो उसे अनुपयुक्त उपचार दिया गया और वरिष्ठ चिकित्सकों से दूसरी राय लेने से इनकार कर दिया गया, जिसे ब्रिटेन में मार्था के नियम के रूप में जाना जाता है।

नियम मरीजों और उनके परिवारों को उसी अस्पताल में वरिष्ठ चिकित्सकों से दूसरी राय लेने का कानूनी अधिकार देता है, यदि उन्हें लगता है कि उनकी चिंताओं को नजरअंदाज किया जा रहा है और यदि मरीज की स्थिति तेजी से बिगड़ रही है। जय ने कहा कि बलराम के फेफड़ों की हालत सही नहीं थी और 9 अगस्त को लंदन के सेंट थॉमस अस्पताल में उनकी मृत्यु हो गई, उन्होंने कहा कि कोरोनर कार्यालय "उपचार में देखभाल और देरी के संबंध में एक जांच" शुरू कर रहा है।

अपहरण के 4 महीने बाद घर लौटा पाक पत्रकार

फोटो: IANS
फोटो: IANS

प्रमुख पाकिस्तानी पत्रकार और एंकर इमरान रियाज खान चार महीने पहले अगवा होने के बाद सोमवार को अपने परिवार के पास लौट आए। वो देश के सैन्य प्रतिष्ठान के खिलाफ अपने मुखर रुख और पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान के खुले समर्थन के लिए जाने जाते हैं। उनकी सुरक्षित वापसी की रिपोर्ट की पुष्टि सियालकोट पुलिस ने की। इसमें कहा गया: “पत्रकार/एंकर इमरान रियाज़ खान को सुरक्षित बरामद कर लिया गया है... वह अब अपने परिवार के साथ हैं।"

इमरान रियाज़ खान के वकील ने भी उनके परिवार के पास सुरक्षित वापसी की खबर की पुष्टि की। वकील अशफाक ने कहा, "खुदा के आशीर्वाद, कृपा और दया से, मैं अपने राजकुमार को वापस ले आया हूं।"

उन्होंने कहा, "कमज़ोर न्यायपालिका और संविधान की वर्तमान स्थिति के साथ-साथ कानूनी लाचारी सहित कई कठिनाइयों का सामना करने के कारण इसमें काफी समय लगा।"

इमरान रियाज़ खान की वापसी से उनके परिवार और पाकिस्तान के पत्रकार समुदाय ने राहत की सांस ली, जो महीनों से उनके जबरन और अवैध अपहरण का मुद्दा उठा रहे थे। 11 मई को उनके खिलाफ दर्ज एक मामले में रिहा होने के बाद, इमरान रियाज़ खान का 15 मई को अज्ञात लोगों ने अपहरण कर लिया था। तब से, उसका ठिकाना अज्ञात रहा। उन्हें किसी भी अदालत के सामने पेश नहीं किया गया, न ही किसी प्राधिकारी द्वारा कोई आरोप तय किया गया।


विश्व मंच पर अकेले पड़ गए ट्रूडो को वास्तविकता से करना पड़ रहा है सामना

फोटो: IANS
फोटो: IANS

लोगों की नजरों में कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो काफी हद तक अकेले पड़ गए हैं, अपनी आबादी से 35 गुना आबादी वाले देश से पंगा लेने के बाद। वहां की मीडिया में ये बात कही गई है। बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, ट्रूडो की विस्फोटक घोषणा के कुछ दिनों बाद, फ़ाइव आइज़ ख़ुफ़िया गठबंधन में उनके सहयोगियों ने स्पष्ट रूप से सार्वजनिक बयान दिए, जो पूर्ण समर्थन से काफी कम थे। ब्रिटेन के विदेश सचिव जेम्स क्लेवरली ने कहा था कि उनका देश "कनाडा जो कह रहा है उसे बहुत गंभीरता से लेता है"। लगभग समान भाषा का प्रयोग करते हुए, ऑस्ट्रेलिया ने कहा कि वह आरोपों से "काफी चिंतित" है।

लेकिन शायद सबसे अधिक चौंकाने वाली चुप्पी कनाडा के दक्षिणी पड़ोसी, अमेरिका से आई। दोनों देश घनिष्ठ सहयोगी हैं, लेकिन अमेरिका ने कनाडा की ओर से नाराजगी व्यक्त नहीं की।जब अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने इस सप्ताह संयुक्त राष्ट्र में सार्वजनिक रूप से भारत का मुद्दा उठाया, तो यह निंदा करने के लिए नहीं, बल्कि एक नया आर्थिक मार्ग स्थापित करने में मदद करने के लिए भारत की प्रशंसा के लिए था।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


/* */