दुनिया: अमेरिकी राजदूत ने पीओके का किया दौरा और उर्स में शामिल होने पिरान कलियर पहुंचे पाकिस्तानी जायरीन

भारत ने पाकिस्तान में अमेरिकी राजदूत डोनाल्ड ब्लोम की हालिया पीओके यात्रा पर कड़ी आपत्ति जताई थी। रुड़की के पिरान कलियर में चल रहे उर्स में शामिल होने पाकिस्तान से भी जायरीन पहुंचे हैं।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

भारत में अमेरिकी राजदूत ने इस्लामाबाद में अमेरिकी दूत की पीओके यात्रा का किया बचाव

भारत में अमेरिकी राजदूत एरिक गार्सेटी ने इस्लामाबाद में अमेरिकी दूत के पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) के दौरे की आलोचना को मंगलवार को इस आधार पर खारिज कर दिया कि इस दौरान श्रीनगर में जी20 बैठक के दौरान एक अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल ने जम्मू-कश्मीर का भी दौरा किया था।

भारत ने पाकिस्तान में अमेरिकी राजदूत डोनाल्ड ब्लोम की हालिया पीओके यात्रा पर कड़ी आपत्ति जताई थी। इस दौरान उन्होंने बार-बार इस क्षेत्र को एजेके (आजाद जम्‍मू-कश्‍मीर) के रूप में संदर्भित किया था।

 उनके आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया था, "कायद-ए-आज़म मेमोरियल डाक बंगला पाकिस्तान की सांस्कृतिक और ऐतिहासिक समृद्धि का प्रतीक है। 1944 में जिन्ना ने इसका दौरा किया था। मैं एजेके की अपनी पहली यात्रा के दौरान इसका दौरा करके सम्मानित महसूस कर रहा हूं।"

इंडोनेशिया में 6.1 तीव्रता का आया जोरदार भूकंप

फोटो: IANS
फोटो: IANS

इंडोनेशिया के उत्तरी सुलावेसी प्रांत में मंगलवार को रिक्टर पैमाने पर 6.1 तीव्रता का जोरदार भूकंप आया, लेकिन इससे समुद्र में बड़ी लहरें नहीं उठीं। अधिकारियों ने ये बात कही। सिन्हुआ समाचार की रिपोर्ट के अनुसार, देश की मौसम एजेंसी ने पहले भूकंप की तीव्रता 6.3 बताई थी, लेकिन फिर इसे संशोधित किया।

इसमें कहा गया है कि भूकंप सुबह 8.39 बजे आया, जिसका केंद्र केपुलाउन तलौद जिले से 40 किमी दक्षिण पूर्व में और 109 किमी की गहराई में था। मौसम एजेंसी ने सुनामी की चेतावनी जारी नहीं की, क्योंकि भूकंप से संभावित रूप से बड़ी लहरें नहीं उठीं।


नागोर्नो-काराबाख में ईंधन डिपो विस्फोट में 20 की मौत, 290 से अधिक घायल

 संघर्ष प्रभावित नागोर्नो-काराबाख क्षेत्र में एक ईंधन डिपो में विस्फोट हो गया जिसमें कम से कम 20 लोग मारे गए और 290 से अधिक घायल हो गए। इस क्षेत्र पर पिछले हफ्ते अजरबैजान ने कब्जा कर लिया था।

सात पीड़ितों की अस्पताल में मौत हुई, और 13 अज्ञात शवों को कोरोनर के कार्यालय में ले जाया गया। सिन्हुआ समाचार एजेंसी ने स्थानीय स्वास्थ्य अधिकारियों का हवाला देते हुए मंगलवार को एक रिपोर्ट में आर्मेनिया संचालित आर्मेनप्रेस के हवाले से ये जानकारी दी।

रिपोर्ट में कहा गया है कि दर्जनों घायलों की हालत गंभीर है और कुछ अभी भी लापता हैं।इसमें कहा गया है कि मुख्य शहर स्टेपानाकर्ट में सोमवार को हुए विस्फोट के पीड़ितों की मदद के लिए डॉक्टरों की एक टीम आर्मेनिया की राजधानी येरेवन से हेलीकॉप्टर से जा रही है। विस्फोट का कारणों का अभी पता नहीं चला है।

उर्स में शामिल होने पिरान कलियर पहुंचे पाकिस्तान के 107 जायरीन, वफ्फ बोर्ड देगा खास तोहफा

फोटो: IANS
फोटो: IANS

 रुड़की के पिरान कलियर में इन दिनों हजरत मखदूम अलाउद्दीन अली अहमद साबिर पाक का 755वां उर्स चल रहा है। उर्स में शामिल होने पाकिस्तान से भी जायरीन पहुंचे हैं। इस साल पाकिस्तान से 107 सदस्यीय जत्था रुड़की पहुंचा। पाकिस्तानी जत्था लाहौरी एक्सप्रेस से रुड़की पहुंचे।

जिसके बाद रेलवे स्टेशन से प्रशासनिक अधिकारी बसों में जायरीनों को लेकर पिरान कलियर पहुंचे। सभी जायरीनों के ठहरने का इंतजाम साबरी गेस्ट हाउस में किया गया है। पाकिस्तान से हर साल जायरीन पिरान कलियर में आयोजित मेले में शामिल होने आते हैं। पाकिस्तानी जायरीन पहले पाक पट्टन स्थित दरगाह बाबा फरीदगंज शकर की दरगाह में हाजिरी लगाते हैं। उसके बाद कलियर के लिए रवाना होते हैं। यह जत्था तकरीबन एक सप्ताह कलियर में रहेगा। पाकिस्तानी जायरीनों के लिए सुरक्षा के कड़े इंतेज़ाम किए गए हैं।


ली छ्यांग ने नेपाली प्रधानमंत्री से बातचीत की

फोटो: IANS
फोटो: IANS

 चीनी प्रधानमंत्री ली छ्यांग ने सोमवार को पेइचिंग में चीन की यात्रा पर आए नेपाली प्रधानमंत्री प्रचंड से बातचीत की। ली छ्यांग ने कहा कि चीन और नेपाल के बीच राजनयिक संबंधों की स्थापना के बाद से अब तक के लगभग 70 सालों में दोनों देशों ने हमेशा एक-दूसरे का सम्मान, भरोसा और समर्थन किया है।

द्विपक्षीय संबंधों का स्वस्थ और स्थिर विकास किया जा रहा है। विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग की लगातार नई उपलब्धियां हासिल हुईं। इसने बड़े और छोटे देशों के बीच समान व्यवहार, सहयोग और समान जीत का उदाहरण स्थापित किया है।

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने हांगचो शहर में प्रधानमंत्री के साथ सफलतापूर्वक मुलाकात की और चीन-नेपाल संबंधों के विकास के लिए आगे की योजनाएं और व्यवस्थाएं कीं। चीन नेपाल के साथ दोनों देशों के नेताओं द्वारा संपन्न महत्वपूर्ण सहमति को लागू करने, विकास रणनीतियों के संरेखण को मजबूत करने, व्यावहारिक सहयोग को मजबूत करने और विस्तारित करने को तैयार है, ताकि चीन-नेपाल संबंधों को उच्च स्तर पर ले जा सके।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;