दुनिया की 5 बड़ी खबरें: अमेरिकी लोकतंत्र को लेकर सवाल और बांग्लादेश में मछली पकड़ने वाली नाव पलटी, 20 लोग लापता और

चक्रवाती तूफान जवाद के बीच बांग्लादेश में मछली पकड़ने की एक नौका डूबने से कम से कम 20 लोगों के लापता होने की खबर है। अमेरिका सबसे अमीर लोगों द्वारा नियंत्रित देश है, जबकि लोकतांत्रिक देश नहीं है। सिंगापुर के विद्वान किशोर मेहबुबानी ने हाल में साक्षात्कार यह टिप्पणी की।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

बांग्लादेश में मछली पकड़ने वाली नाव पलटी, 20 लोग लापता

फोटो: IANS
फोटो: IANS

चक्रवाती तूफान जवाद के बीच बांग्लादेश में मछली पकड़ने की एक नौका (छोटा जहाज) डूबने से कम से कम 20 लोगों के लापता होने की खबर है। एक अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि तलाशी अभियान जारी है।

राजधानी ढाका से लगभग 180 किलोमीटर दक्षिण में बरगुना में बरगुना डिस्ट्रिक्ट फिशरमेन्स ट्रॉलर ओनर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष गोलाम मुस्तफा चौधरी ने कहा, "21 मछुआरों को ले जा रहा जहाज बंगाल की खाड़ी में पलट गया और उनमें से 20 लापता हैं।"

"हमें सोमवार रात घटनाक्रम में बचे हुए व्यक्ति से पता चला है कि जहाज पलट गया और बंगाल की खाड़ी में डूब गया।"

सेंट्रल बैंक ऑफ लीबिया ने एकीकरण योजना की घोषणा की

फोटो: IANS
फोटो: IANS

सेंट्रल बैंक ऑफ लीबिया ने देश के पूर्वी और पश्चिमी बैंकों के बीच वर्षो के विभाजन को समाप्त करने की योजना की घोषणा की है।

यह एक बयान में कहा गया, "सेंट्रल बैंक ऑफ लीबिया के गवर्नर, अल-सिद्दीक अल-कबीर और उनके डिप्टी, अली अल-हिबरी, ट्यूनीशिया में आज एक बैठक के बाद सेंट्रल बैंक को एकजुट करने की प्रक्रिया शुरू करने के लिए एक विस्तृत योजना पर सहमत हुए।"

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने बयान के हवाले से कहा, "बैठक में जुलाई में सेंट्रल बैंक के लिए अंतरराष्ट्रीय वित्तीय ऑडिट समीक्षा के पूरा होने के साथ अंतरराष्ट्रीय लेखा फर्म डेलॉइट द्वारा प्रस्तावित रोडमैप के अनुसार एकीकरण के चरणों पर चर्चा हुई।"


फिलीस्तीनी गुटों के लिए समावेशी बैठक की मेजबानी करेगा अल्जीरिया

फोटो: IANS
फोटो: IANS

अल्जीरिया के राष्ट्रपति अब्देलमदजीद तेब्बौने ने घोषणा की है कि उनका देश सभी फिलिस्तीनी गुटों के लिए एक समावेशी बैठक की मेजबानी करेगा। तेब्बौने ने अल्जीयर्स में संवाददाताओं से कहा, "मेरे भाई (फिलिस्तीनी राष्ट्रपति) महमूद अब्बास के साथ विचार-विमर्श के बाद, अल्जीरिया जल्द ही एक समावेशी बैठक की मेजबानी करेगा, जो सभी फिलिस्तीनी गुटों को इकट्ठा करेगी।"

अल्जीरिया और फिलिस्तीन मजबूत संबंधों से बंधे हैं, तेब्बौने ने कहा, "अल्जीरियाई सरकार और लोग सभी अंतर्राष्ट्रीय और क्षेत्रीय मंचों में पवित्र फिलिस्तीनी का समर्थन और बचाव करते हैं।"

उन्होंने आगे अरब लीग के प्रासंगिक प्रस्तावों के साथ-साथ 300 फिलिस्तीनी छात्रों के लिए विश्वविद्यालय छात्रवृत्ति के अनुसार फिलिस्तीन को 10 करोड़ डॉलर आवंटित करने का भरोसा दिया।

दारफुर में आदिवासियों के बीच संघर्ष में 48 लोगों की मौत

फोटो: IANS
फोटो: IANS

सूडान के पश्चिमी दारफुर राज्य में एक आदिवासी संघर्ष में कम से कम 48 लोग मारे गए। इसकी जानकारी एक गैर-सरकारी संगठन (एनजीओ) ने एक बयान में दी। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने सूडानी डॉक्टरों की केंद्रीय समिति के हवाले से कहा, "शुरूआती रिपोटरें से संकेत मिलता है कि पश्चिम दारफुर राज्य के किरैनिक क्षेत्र में खूनी संघर्ष के कारण गोला-बारूद से 48 मौतें हुई हैं और बड़ी संख्या में घायल हुए हैं और कुछ गंभीर हैं।"

एक अलग रिपोर्ट में, दारफुर में शरणार्थियों और विस्थापित लोगों के लिए सामान्य समन्वय, एक गैर सरकारी संगठन, ने पुष्टि की है कि किरैनिक में सशस्त्र लोगों के हमले के कारण दर्जनों लोग मारे गए या घायल हो गए।

उन्होंने नोट किया कि, "इस क्षेत्र में हिंसा भड़क उठी जब सशस्त्र मिलिशिया ने कई आंतरिक रूप से विस्थापित लोगों (आईडीपी) को मार डाला और घायल कर दिया और आईडीपी शिविर और बाजार को जला दिया।"


क्या अमेरिकी लोकतंत्र सच में लोकतंत्र है?

फोटो: IANS
फोटो: IANS

अमेरिका सबसे अमीर लोगों द्वारा नियंत्रित देश है, जबकि लोकतांत्रिक देश नहीं है। सिंगापुर के विद्वान किशोर मेहबुबानी ने हाल में साक्षात्कार यह टिप्पणी की। वास्तव में अमेरिका में लोकतंत्र अमीरों की सेवा करता है।

तथ्यों से साबित है कि पैसा अमेरिकी राजनीति की जड़ है, जो चुनाव, संविधान और प्रशासन के सभी चरणों में शामिल है। अमेरिकी कांग्रेस में 91 प्रतिशत के चुनाव में सबसे ज्यादा पैसे पाने वाले उम्मीदवार जीतते हैं। अमेरिकी शैली वाला लोकतंत्र पूंजी के आधार पर अमीरों का खेल है। अमेरिका में सत्ता इन गिने-चुने अमीरों के पास रहती है, अनगिनत आम लोगों की अपील और हितों को नजरअंदाज किया गया है।

2020 में 163 देशों पर जारी की गयी एक रिपोर्ट से जाहिर है कि इधर के दस वर्षों में सामाजिक विकास सूचकांक में केवल अमेरिका आदि तीन देशों में गिरावट आयी, जबकि अमेरिका में यह गिरावट सबसे अधिक है। अमेरिका में मध्यम वर्ग वाले समूहों की स्थिति भी दिन ब दिन खराब होने लगी है। पिछले 20 वर्षों में अमेरिकी परिवार की संपत्ति में वृद्धि नहीं हुई है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia