IPL: 'विराट ने T20 में बदला बल्लेबाजी की परिभाषा', शायद ही कोई तोड़ पाए किंग कोहली ये रिकॉर्ड!

आकाश चोपड़ा ने कहा, "विराट ने साबित किया कि सही तकनीक से भी टी20 क्रिकेट खेला जा सकता है लेकिन इससे भी उन्होंने एक-दो नहीं बल्कि चार शतक बना डाले। वह सत्र अद्भुत था और वह पूरी तरह नियंत्रण में नजर आ रहे थे।"

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

पूर्व भारतीय क्रिकेटर आकाश चोपड़ा का मानना है कि विराट कोहली ने अपने जबरदस्त 2016 आईपीएल सत्र के दौरान टी20 बल्लेबाजी की परिभाषा को बदल दिया। कोहली ने इस बेशुमार दौलत से भरपूर लीग के इतिहास में अपना नाम महानतम बल्लेबाजों में 2016 सत्र की बदौलत शुमार करा लिया है। विराट ने उस सत्र में 973 रन बनाये थे जो टूर्नामेंट के इतिहास में एक सत्र में सबसे ज्यादा हैं।

आकाश चोपड़ा ने जियो सिनेमा के शो इनसाइडर्स प्रिव्यू में कहा, "यदि आप उस सत्र से पहले बल्लेबाज विराट को देखें तो आपको लगेगा कि वह रन बना सकते हैं लेकिन किसी ने भी उनके रॉकस्टार टी20 बल्लेबाज होने के स्वरुप की उम्मीद नहीं की थी। वह रन जुटाने वाले थे, वह बॉउंड्री लगा सकते थे लेकिन एरियल रूट पकड़ना और 10 गेंदों में पांच छक्के मारना बहुत कम देखा होगा। वह उस स्तर के खिलाड़ी नहीं हैं विराट ने उस सत्र में टी 20 में बल्लेबाजी की परिभाषा को बदल डाला।"


उन्होंने कहा, "विराट ने साबित किया कि सही तकनीक से भी टी20 क्रिकेट खेला जा सकता है लेकिन इससे भी उन्होंने एक-दो नहीं बल्कि चार शतक बना डाले। वह सत्र अद्भुत था और वह पूरी तरह नियंत्रण में नजर आ रहे थे।"

पूर्व भारतीय कप्तान ने आईपीएल में अपनी शुरूआत पहले सत्र में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के साथ की और आज वह आईपीएल में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;