बीजेपी के असली चाल, चरित्र और चेहरे को चरितार्थ कर रहे बीजेपी के ये नेता, इनके लिए गांधी नहीं गोडसे हैं आदर्श?

बीजेपी के कई और नेताओं ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को लेकर विवादास्पद बयान दिया है। बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता अनिल सौमित्र ने महात्मा गांधी को पाकिस्तान का राष्ट्रपिता बताया है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

आज बीजेपी के चाल, चरित्र और चेहरे को लेकर विपक्ष सवाल कर रहा है। ऐसा पार्टी के नेताओं द्वारा हाल में दिए गए बयान के आधार पर किया जा रहा है। बीजेपी के कई नेता गोडसे के पक्ष में और महात्मा गांधी के खिलाफ बयान दे रहे हैं। विपक्ष उनके बयान को बीजेपी का असली चाल, चरित्र और चेहरा बता रहा है। विपक्ष का कहना है कि बीजेपी के लिए गांधी नहीं गोडसे आदर्श हैं।

भोपाल से बीजेपी उम्मीदवार प्रज्ञा ठाकुर के नाथूराम गोडसे पर दिए बयान के बाद सियासी गलियारों में हंगामा जारी है। इसी बीच बीजेपी के कई और नेताओं ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को लेकर विवादास्पद बयान दिया है। बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता अनिल सौमित्र ने महात्मा गांधी को पाकिस्तान का राष्ट्रपिता बताया है।

अनिल सौमित्र ने अपनी फेसबुक वॉल पर लिखा है, "राष्ट्रपिता थे, लेकिन पाकिस्तान राष्ट्र के। फेसबुक पर लिखे गए संदेश को लेकर संवाददाताओं ने सौमित्र से शुक्रवार को सवाल किया तो उन्होंने कहा, "महात्मा गांधी राष्ट्रपिता हो सकते हैं, अगर उसका अंग्रेजी में अनुवाद किया जाए तो 'फॉदर ऑफ नेशन' हो सकते हैं, तो वह पाकिस्तान नेशन के फॉदर हो सकते हैं। भारत राष्ट्र का पिता होने का अबतक ज्ञात और अज्ञात में किसी का उल्लेख नहीं है। हर किसी को इसमें पुत्र होने का सौभाग्य प्राप्त है।"

इससे पहले मोदी के मंत्री अनंत हेगड़ ने भी बापू का अपमान किया। उन्होंने कहा कि गोडसे पर माफी मांगने की जरूरत नहीं है। हेगड़े ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा, “मुझे खुशी है कि 7 दशक बाद आज की पीढ़ी एक बदले हुए वैचारिक माहौल में बहस करती है और निंदा की जाने की अच्छी गुंजाइश देती है। नाथूराम गोडसे को भी आखिरकार इस बहस से खुशी हुई होगी।” साथ ही हेगड़े ने लिखा, “अब समय आ गया है कि हम क्षमा मांगने के दौर से आगे बढ़े। अगर अभी नहीं तो...कब।”

बता दें कि साध्वी प्रज्ञा ने गुरुवार को कहा था कि नाथूराम गोडसे देशभक्त थे और देशभक्त रहेंगे। प्रज्ञा सिंह ने कहा था, “नाथूराम गोडसे देशभक्त थे और हमेशा रहेंगे। वैसे लोग जो उन्हें आतंकी कह रहे हैं उन्हें खुद के अंदर झांक कर देखना चाहिए। ऐसे लोगों को चुनाव के बाद जवाब मिल जाएगा।” हालांकि रात होने तक प्रज्ञा ने अपने बयान पर माफी मांग ली थी।

भोपाल से बीजेपी उम्मीदवार प्रज्ञा ठाकुर के बाद मोदी के मंत्री अनंत हेगड़े और बीजेपी सांसद नलिन कटील द्वारा नाथूराम गोडसे को लेकर दिए गए बयान पर कांग्रेस पार्टी ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। दिल्ली के कांग्रेस मुख्यालय में प्रेस से बात करते हुए पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेाला ने कहा बीजेपी और मोदी सरकार पर हमला बोला।

सुरजेवाला ने कहा, “लगता है कि बीजेपी और उसके नेता मोदी जी और शाह जी के इशारे पर आए दिन देश के स्वतंत्रता सेनानियों, देश के रणबांकुरों और देश के शहीदों का अपमान करने की उन्होंने ठान रखी है। आज फिर मोदी सरकार के मंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने उसके बीजेपी के सांसद नलिन कटील और मध्य प्रदेश बीजेपी इकाई के मीडिया प्रभारी अनिल सौमित्र ने आज फिर बापू के लेकर अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल किया। ऐसा लगता है कि मोदी सरकार ने भारत के सभी स्वतंत्रता सेनानियों और इतिहास पुरूषों के खिलाफ एक युद्ध छेड़ रखा है। रोज नया मुखौटा लगाकर एक मोदी अनुयायी आता है और भारत की आत्मा, महात्मा को अपमानित करने की कोशिश करता है। यह एक प्रकार से भारत की अस्मिता के खिलाफ मोदी सरकार का गोरिल्ला युद्ध है।

मोदी और शाह की जोड़ी प्रचार में गांधी और विचार में गोडसेवादी है। गोडसे ने 1948 में बापू की हत्या की मगर 2014 से 2019 तक मोदी जी के कट्टर समर्थकों ने गोडसे को राष्ट्रभक्त बनाकर भारत की आत्मा की कई बार हत्या की है।

वहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने गुरूवार को कहा था, “बापू का हत्यारा देशभक्त? हे राम! खुद को अपने उम्मीदवार से अलग कर लेना ही काफी नहीं है। बीजेपी के राष्ट्रवादी दिग्गजों को तुम्हारा रुख साफ करने की हिम्मत है।”

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;