लोकसभा चुनाव 2019

रैप सॉन्ग के जरिए कांग्रेस ने बीजेपी की खोली पोल, जारी किया धमाकेदार वीडियो

कांग्रेस ने मोदी सरकार पर एक वीडियो के जरिए जोरदार प्रहार किया है। कांग्रेस ने द वॉयस ऑफ द स्ट्रीट नाम के रैप सॉन्ग का एक वीडियो अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर किया है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

एक फ्रेंच अखबार के आज के खुलासे के बाद राफेल के मामले पर मोदी सरकार एक बार फिर से घिरती नजर आ रही है। वहीं कांग्रेस ने मोदी सरकार पर एक वीडियो के जरिए जोरदार प्रहार किया है। कांग्रेस ने द वॉयस ऑफ द स्ट्रीट नाम के रैप सॉन्ग का एक वीडियो अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर किया है। इस वीडियो में मोदी सरकार के नाकामी और उनके घोटालों को रैप के जरिए उजागर किया गया है।

कांग्रेस द्वारा ट्वीट किया गया यह वीडियो पीएम मोदी पर करारा वार करता है। इस वीडियो में रैप के जरिए पीएम मोदी के मीडिया से भागने से लेकर राफेल घोटाले और चौकीदार चोर है जैसे मुद्दों का जिक्र किया गया है। शुरुआत में कहा गया है कि, पीएम मोदी स्क्रिप्टेड इंटरव्यू भी डर डर के करते हैं और खुद को शेर बुलाते हैं। वहीं न खाउंगा, न खाने दूंगा वाले बयान पर भी कहा गया है कि न खाउंगा, न खाने दूंगा के वादे के साथ आए पीएम मोदी अब गरीबों की रोट छीन अपने लोगों का जेब भर रहे हैं।

इस वीडियो में पीएम मोदी के विदेश दौरे पर भी तंज कसा गया है। वहीं राफेल सौदे का जिक्र करत हुए मोदी से पूछा गया है कि वो चौकीदार आम जनता के थे या अपने बॉस अनिल अंबानी के। इस वीडियो के जरिए पीएम मोदी के उनके वादे भी याद दिलाए गए हैं। दो करोड़ नौकरी देने का वादा कर पकौड़े तलवाने का भी जिक्र है। वीडियो में आगे कहा गया है कि इस बार नो गोदी सरकार। वहीं अंत में ‘चौकीदार चोर है’ के बारे में जिक्र किया गया है। इसमे कहा गया है कि ‘चौकीदार चोर है’ ये पता है हिंदुस्तान को।

बता दें कि एक फ्रेंच अखबार ने दावा किया है कि भारत और फ्रांस के बीच 2015 में राफेल डील पर सहमति बनने के 6 महीने बाद अनिल अंबानी की फ्रांस स्थिति कंपनी का 1200 करोड़ रुपये का टैक्स माफ कर दिया गया। फ्रेंच अखबार ने अपने रिपोर्ट में दावा किया, “फरवरी 2015 से अक्टूबर 2015 के बीच, जब फ्रांस भारत के साथ राफेल डील पर बातचीत कर रहा था, अनिल अंबानी की कंपनी का करीब 1100 करोड़ रुपये (143 मिलियन यूरो) टैक्स माफ कर दिया गया।”बता दें कि अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस डिफेंस 2015 में भारत और फ्रांस के बीच राफेल लड़ाकू विमान को लेकर किए गए समझौते में ऑफसेट पार्टनर है।

लोकप्रिय