‘मतदान के दौरान कम हुई थी वोटिंग, लेकिन मतगणना के वक्त पता नहीं कहां से बढ़ गए 8 हजार वोट’

धर्मेंद्र यादव बदायूं लोकसभा सीट से एसपी के उम्मीदवार हैं। उनका कहना है कि आखिरी गिनती के दौरान करीब 8 हजार अतिरिक्त वोटों को गिना गया है। धर्मेंद्र यादव ने संबंध में जिलाधिकारी के समक्ष लिखित शिकायत देते हुए स्पष्टीकरण मांगा है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

चुनाव परिणाम पर प्रत्याशियों ने आशंका जाहिर करना शुरू कर दिया है। समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी धर्मेंद्र यादव ने चुनाव परिणाम पर आपत्ति दर्ज कराई है। धर्मेंद्र यादव बदायूं लोकसभा सीट से एसपी के उम्मीदवार हैं। उनका कहना है कि आखिरी गिनती के दौरान करीब 8 हजार अतिरिक्त वोटों को गिना गया है। धर्मेंद्र यादव ने संबंध में जिलाधिकारी के समक्ष लिखित शिकायत देते हुए स्पष्टीकरण मांगा है। वो अगर जिलाधिकारी की बातों से संतुष्ट नहीं होते तो बदायूं लोकसभा चुनाव परिणाम को वह कोर्ट में चुनौती भी दे सकते हैं।

मीडिया से बातचीत में धर्मेंद्र यादव ने कहा, 'मेरी आपत्ति बिल्सी विधानसभा सीट पर हुई मतगणना को लेकर है। वोटिंग होने के बाद जो रिकॉर्ड मुझे उपलब्ध कराया गया था उन आंकड़ों के मुताबिक 1,88,248 वोट पड़े थे। सबसे कम वोट बिल्सी में ही पड़े थे। लास्ट राउंड की गिनती के बाद जो आंकड़े आए हैं, उनमें उस सीट पर 1,96,110 वोट पाए गए। इस तरह फाइनल गिनती में इस सीट पर करीब 8 हजार वोट ज्‍यादा पड़ गए हैं।'

उन्होंने कहा कि इस मामले में सबूत जिलाधिकारी को सौंप दिए गए हैं। धर्मेंद्र यादव ने जिलाधिकारी से स्पष्टीकरण देने की मांग की है। उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि बिल्सी विधानसभा में ही करीब 8 हजार वोट कहां से ज्यादा आ गए? एसपी नेता ने कहा कि सहसवान में हम जीत रहे थे, इसलिए वहां गड़बड़ी नहीं हुई।

धर्मेंद्र यादव ने कहा कि अगर वो जिलाधिकारी के जबाव से संतुष्ट नहीं हुए तो वो कोर्ट का दरवाजा खटखटा सकते हैं। धर्मेंद्र यादव ने एग्जिट पोल पर भी सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि एग्जिट पोल के मुताबिक ही नतीजे कैसे आए? अभी मैं ईवीएम को लेकर कुछ नहीं बोलूंगा, वरना लोग कहेंगे हार के बाद ऐसा कहा जा रहा है।

Published: 25 May 2019, 3:00 PM
लोकप्रिय