बीजेपी के घोषणापत्र में सिर्फ एक व्यक्ति के ‘मन की बात’, जनता को नहीं मिली जगह!

बीजेपी ने अपने घोषणापत्र का नाम संकल्प पत्र रखा है। इसके कवर पेज पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की एक बड़ी सी तस्वीर है। संकल्प पत्र के कवर पेज पर जनता को जगह तो मिली है, लेकिन पीएम मोदी के तेज के समाने सब धुंधले दिख रहे हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

लोकसभा चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी ने अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया है। बीजेपी ने अपने घोषणापत्र का नाम संकल्प पत्र रखा है। इसके कवर पेज पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की एक बड़ी सी तस्वीर है। संकल्प पत्र के कवर पेज पर जनता को जगह तो मिली है, लेकिन पीएम मोदी के तेज के समाने सब धुंधले दिख रहे हैं। तस्वीरों से यह साफ नहीं है कि उनके पीछे ईंट-पत्थर की तरह दिख रहा चित्र किसी इनसान का है। वहीं कांग्रेस के घोषणापत्र में सबसे ज्यादा जगह जनता को दी गई है। घोषणापत्र के कवर पेज पर सबसे नीचे राहुल गांधी की एक छोड़ी सी तस्वीर लगी है। वहीं बीजेपी के घोषणापत्र का कवर पेज मोदीमय है। कांग्रेस ने बीजेपी के संकल्प पत्र पर छपे फोटो पर सवाल उठाए हैं। कांग्रेस का कहना है कि तस्वीरों से यह साफ है कि किस पार्टी के लिए क्या महत्वपूर्ण है। कांग्रेस ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि हमारे लिए देश के लोग महत्वपूर्ण हैं, जबकि बीजेपी के लिए सबसे ज्यादा जरूरी उनका चेहरा है। कांग्रेस ने बीजेपी और अपनी पार्टी के घोषणापत्र के कवर पेज को ट्वीट कर कहा, “घोषणा पत्र की तस्वीर बताती है कि हमारे लिए देश के लोग महत्वपूर्ण हैं और उनके लिए अपना चेहरा।“ कांग्रेस ने बीजेपी के संकल्प पत्र को सिर्फ एक व्यक्ति के ‘मन की बात’ बताया है। कांग्रेस ने कहा, ‘हमारे घोषणा पत्र में देश के करोड़ों लोगों के विचारों का समावेश है, जबकि भाजपा के घोषणा पत्र में सिर्फ एक व्यक्ति के "मन की बात"। अब देश अपने "मन का फैसला" सुनाएगा।“

गौरतलब है कि बीजेपी ने अपने पार्टी मुख्यालय से आज अपना घोषणा पत्र जारी की। बीजेपी के घोषणा पत्र में वादों की भरमार है। पिछली बार की तरह इस बार भी पार्टी ने कई वादे किए हैं। बीजेपी ने अपना पंसदीदा राम मंदिर निर्माण का वादा एक बार फिर से किया है। हालांकि केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि राम मंदिर को लेकर सभी तरह की संभावनाएं तलाशी जाएंगी और सौहार्दपूर्ण माहौल में जल्द राम मंदिर का निर्माण किया जाएगा। चुनाव में राष्ट्रीय सुरक्षा का राजनीतिकरण करने वाली पार्टी बीजेपी ने अपने घोषणा पत्र में राष्ट्रवाद को सबसे ऊपर रखा है। इसके आलावा किसानों, नौजवानों और रोजगार जैसे जुमलों को भी बीजेपी के संकल्प पत्र जगह मिली है। कांग्रेस ने बीजेपी के संकल्प पत्र को जुमला मैनिफेस्टो बताया है। कांग्रेस ने भ्रष्टाचार के मुद्दे पर भी मोदी सरका को घेरा है। ट्वीट में कहा गया है कि पांच साल पहले भ्रष्टाचार से छुटकारा दिलाने का वादा किया गया था, लेकिन पांच साल बाद भी लोकपाल को नियुक्त नहीं किया गया। नोटबंदी और राफेल जैसे घोटाले हुए। पार्टी ने एक और ट्वीट किया है, जिसमें कहा गया है कि 2014 में बीजेपी ने ‘चौकीदार’ का वादा किया था, लेकिन पांच साल बाद ‘मिला चोर’।

इस बार पार्टी के लिए राष्ट्रवाद सबसे अहम मु्द्दा है। पिछली बार के कई अहम वादों से तौबा कर लिया गया है। बीजेपी के संकल्प पत्र में न तो विकास का बयार है और न ही भ्रष्टाचार पर वार है। अब तो इन्हें बस राष्ट्रवाद से प्यार है। बीजेपी को लगता है कि इस चुनाव में राष्ट्रवाद का पतवार ही नैया पार लगा सकता है।

लोकप्रिय