पंजाब में नहीं चली मोदी लहर, कांग्रेस ने कब्जाईं 13 में से 8 सीटें

सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने लोकसभा चुनाव परिणाम में राज्य में कांग्रेस के प्रदर्शन पर खुशी जताते हुए कार्यकर्ताओं का आभार जताया और कहा कि पार्टी इस बात की समीक्षा करेगी कि अच्छे चुनाव प्रचार के बावजूद आखिर गुरदासपुर सीट पर सुनील जाखड़ की हार क्यों हुई।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

बिपिन भारद्वाज

उत्तर भारत के पंजाब में कांग्रेस ने मोदी लहर की धार को कुंद करते हुए राज्य की 13 में से 8 सीटों पर कब्जा कर लिया है। 2019 के लोकसभा चुनावों के नतीजों से साफ हो गया है कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ही असल में पंजाब के असली शेर हैं।

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने आक्रामकता के साथ चुनाव प्रचार किया था। अपने उम्मीदवारों की जीत की गारंटी लेते हुए उन्होंने ऐलान किया था कि अगर पंजाब में कांग्रेस का प्रदर्शन खराब रहेगा तो वे कांग्रेस से इस्तीफा दे देंगे।

वहीं 10 सीटों पर चुनाव लड़ने वाले शिरोमणि अकाली दल मात्र भटिंडा और फिरोजपुर की सीट जीत पाई है, जबकि 3 सीटों पर चुनाव लड़ने वाली बीजेपी के हिस्से में सिर्फ एक ही सीट आई है। पंजाब के पूर्व डिप्टी सीएम सुखबीर बादल और उनकी पत्नी हरसिमरत कौर बादल बमुश्किल जीत दर्ज कर पाए हैं, जबकि बाकी उम्मीदवारों के हाथ सिफर लगा है। वहीं अभिनेता से नेता बने सनी देओल ने गुरदासपुर से बीजेपी के उम्मीदवार के तौर पर बाजी मारी है। उन्होंने यह सीट मौजूदा कांग्रेस सांसद सुनील जाखड़ से जीती है।

इसके अलावा आम आदमी पार्टी के भगवंत मान ने दोबारा आम आदमी पार्टी के टिकट पर जीत हासिल की है। 2014 में आम आदमी पार्टी ने 4 सीटों पर जीत हासिल की थी, लेकिन 2 015 में पार्टी के दो सांसदों धर्मवीर गांधी और हरविंदर खालसा को सस्पेंड कर दिया था। इन नेताओं ने पार्टी के शीर्ष नेतृत्व पर सवाल उठाए थे।

चुनाव नतीजों पर प्रेस कांफ्रेंस कर मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने ऐलान किया कि लोकसभा चुनाव के जो भी नतीजे आए हैं, उनके संदर्भ में पंजाब सरकार के मंत्रियों के कामकाज की समीक्षा की जाएगी।

कैप्टन ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं का आभार जताते हुए कहा कि सभी कार्यकर्ताओं ने पार्टी की जीत सुनिश्चित की है और वे कार्यकर्ताओं और मतदाताओं की अपेक्षाओं पर खरा उतरने के लिए हर संभव कोशिश करेंगे।

उन्होंने कहा कि पार्टी इस बात की भी समीक्षा करेगी कि अच्छे चुनाव प्रचार के बावजूद आखिर गुरदासपुर में सुनील जाखड़ की हार क्यों हुई। वहीं होशियारपुर के बारे में उन्होंने कहा कि यहां कांग्रेस के वोट बीएसपी के खाते में चले गए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मोदी जी भले ही दोबारा प्रधानमंत्री बनने जा रहे हैं लेकिन अब उन्हें देश के धर्मनिरपेक्ष ताने-बाने की रक्षा करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि बीजेपी के राष्ट्रवाद से वे सहमत नहीं हैं, क्योंकि देश की मजबूती इसकी विविधता से है और वही इसकी ताकत है।

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने जिस तरह से बालाकोट एयर स्ट्राइक का श्रेय लिया, वह बेहद गलत है क्योंकि इससे पहले भी कई नेताओं ने सैन्य कार्रवाइयां कीं लेकिन उनका श्रेय सेनाओं को ही दिया।

लोकप्रिय