‘मोदी सत्ता में नहीं लौट रहे, उनका फ्लॉप शो खत्म’ 

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा, “नरेंद्र मोदी लौट कर नहीं आ रहे, फ्लॉप शो, खत्म, वह घड़ी गई, उनके चेहरे को देख लो, उनकी ऊर्जा को देख लो। उदास से हैं, वे हार रहे हैं चुनाव। इसलिए कांग्रेस को मध्य प्रदेश में पूरी ताकत लगानी है।”

फोटो: @INC
फोटो: @INC

आईएएनएस

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नीतियों की आलोचना करते हुए बुधवार को दावा किया कि मौजूदा चुनाव में नरेंद्र मोदी की सत्ता में वापसी नहीं हो रही है, और यह बात उनके चेहरे पर साफ झलक रही है।

मध्य प्रदेश के भिंड संसदीय क्षेत्र में आयोजित एक सभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने नरेंद्र मोदी के सत्ता में न लौटने का दावा करते हुए कहा, "नरेंद्र मोदी लौट कर नहीं आ रहे, फ्लॉप शो, खत्म, वह घड़ी गई, उनके चेहरे को देख लो, उनकी ऊर्जा को देख लो। उदास से हैं, वे हार रहे हैं चुनाव। इसलिए कांग्रेस को मध्य प्रदेश में पूरी ताकत लगानी है।"

राहुल गांधी ने एक बार फिर 'चौकीदार चोर है' का नारा दोहराया। उन्होंने रॉफेल सौदे का जिक्र करते हुए कहा, "मेरे पास सबूत है कि चौकीदार चोर है। जब भी बोलता हूं सबूत लेकर बोलता हूं। फ्रांस के राष्ट्रपति ने बोला था कि हिंदुस्तान के चौकीदार प्रधानमंत्री मोदी ने उनसे कहा था कि हवाई जहाज भारत में नहीं फ्रांस में बनेगा और 526 करोड़ रुपए का हवाई जहाज नहीं खरीदा जाएगा, 1600 करोड़ रुपए का हवाई जहाज खरीदा जाएगा।"

नोटबंदी और जीएसटी से हुई परेशानियों का जिक्र करते हुए गांधी ने कहा, "नोटबंदी और गब्बर सिंह टैक्स (जीएसटी) के कारण व्यापार बंद हुए। ऐसा इसलिए हुआ, क्योंकि प्रधानमंत्री मोदी ने माताओं-बहनों से लेकर हर किसी की जेब से पैसा निकाला। इससे देश की अर्थव्यवस्था गड़बड़ा गई।"

कांग्रेस अध्यक्ष ने आरोप लगाया, "मोदी ने पांच साल अन्याय की सरकार चलाई और कांग्रेस न्याय की सरकार चलाना चाहती है। इसीलिए न्याय योजना तैयार की गई है। इस योजना के तहत हिंदुस्तान के सबसे गरीब लोगों के बैंक खातों में सीधे पैसा डाला जाएगा। 72 हजार रुपए साल के और तीन लाख 60 हजार रुपए पांच सालों में डाले जाएंगे। इस योजना से देश के पांच करोड़ परिवारों के 25 करोड़ लोगों को लाभ होगा।" उन्होंने आगे कहा, "72 हजार रुपए का नंबर उनका नहीं, बल्कि देश की जनता के दिल का नंबर है। कांग्रेस मन की बात नहीं करेगी, बल्कि देश की जनता की मन की बात सुनेगी।"

उन्होंने आगे कहा, "न्याय योजना से लाखों करोड़ रुपये जैसे ही सबसे गरीब परिवारों के खातों में जाएंगे, वैसे ही खरीददारी शुरू होगी। यह खरीदी दुकानों से होगी, जैसे ही माल बिकना शुरू होगा, फैक्टरी चालू होगी। उसके बाद युवाओं को रोजगार मिलेगा। इस योजना का मकसद गरीबों की मदद तो है ही, साथ में देश की अर्थव्यवस्था को सुधारना भी है।"

न्याय योजना का ब्यौरा देते हुए गांधी ने कहा, "जिस भी व्यक्ति की आमदनी 12 हजार रुपए माह से कम है, उसके खाते में इस योजना की राशि तब तक जाएगी, जब तक उसकी आमदनी 12 हजार रुपए प्रति माह नहीं हो जाती।"

गांधी ने कांग्रेस के सत्ता में आते ही 22 लाख नौकरियों की भर्ती का वादा किया और कहा, "कांग्रेस सरकार झूठे वादे नहीं करेगी। 22 लाख नौकरियां हैं, तो उतना ही कहा जाएगा। खातों में 15 लाख रुपए आने, हर साल दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने जैसे झूठे वादे नहीं किए जाएंगे।"

लोकप्रिय