हरियाणा: ईवीएम बदलने की कोशिश? स्ट्रॉन्ग रूम परिसर में संदिग्ध ट्रक पहुंचने के बाद हंगामा

कांग्रेस का कहना है कि सुरक्षाकर्मी बीजेपी की एजेंट की तरह काम कर रहे हैं। उनका आरोप है कि ट्रक की जांच किए बिना ही उसे वापस भेज दिया गया। निर्वाचन अधिकारियों पर भी मामले में ढीला रवैया अपनाने का आरोप है। कहा जा रहा है कि ट्रक को ईवीएम बदलने के लिए बुलाया गया था।

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

नवजीवन डेस्क

ईवीएम में गड़बड़ी के आरोप लगते रहे हैं। विपक्षी दल अब ईवीएम बदले जाने की भी शिकायत करने लगे हैं। हरियाणा के फतेहाबाद में एक ऐसा ही मामला सामने आया है। दरअसल फतेहाबाद में ईवीएम स्ट्रॉन्ग रूम परिसर में एक संदिग्ध ट्रक पहुंच गया। जिसके बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने हंगामा किया। मामला फतेहाबाद के भोड़िया खेड़ा कॉलेज का है, जहां 12 मई को हुए वोटिंग के बाद ईवीएम मशीनों को स्ट्रॉन्ग रूम में रखा गया है। इस ट्रक में ईवीएम मशीनें लोड की गई थीं जब कांग्रिसियों को इसकी सूचना मिली तो वह तुंरत वहां पहुंच गए और जमकर हंगामा किया।

बताया जा रहा है कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं को इस ट्रक पर पहले से ही शक था और वो इसका पीछा पहले से ही कर रहे थे। खबर मिलते ही कांग्रेस के कई नेता वहां पहुंचे और कॉलेज परिसर में तैनात सुरक्षाकर्मियों से ट्रक के बारे में जानकारी मांगी। मामले को तूल पकड़ता देख पुलिस अधिकारी और जिला निर्वाचन अधिकारी भी वहां पहुंच गए।

हंगामा बढ़ता देख अधिकारियों को संदिग्ध ट्रक को वहां से भेजन पड़ा। कांग्रेस का कहना है कि सुरक्षाकर्मी बीजेपी की एजेंट की तरह काम कर रहे हैं। उनका आरोप है कि ट्रक की जांच किए बिना ही उसे वापस भेज दिया गया। निर्वाचन अधिकारियों पर भी मामले में ढीला रवैया अपनाने का आरोप है। कहा जा रहा है कि ट्रक को ईवीएम बदलने के लिए बुलाया गया था।

हालांकि जिला निर्वाचन अधिकारी ने इससे इनकार किया है। उनका कहना है कि ट्रक में खाली संदूकों से भरा हुआ था। मतगणना के बाद ईवीएम मशीनों को इन संदूकों में भरा जाता है। यह ट्रक तहसील द्वारा सहायक निर्वाचन अधिकारी के निर्देश पर भेजा गया था। लेकिन राजनीतिक दलों में किसी भी तरह का असंतोष न फैले इसकी वजह से हमने ट्रक को वापस भेज दिया।

Published: 15 May 2019, 3:00 PM
लोकप्रिय