उपराष्ट्रपति नायडू बोले- एग्जिट पोल ‘एग्जेक्ट पोल’ नहीं, 20 साल से गलत साबित हो रहे हैं ये अनुमान

उपराष्ट्रपति ने एग्जिट पोल को नकारते हुए इसके इतिहास पर सवाल उठाए हैं। वेंकैया नायडू का कहना है कि 1999 के बाद से जितने एग्जिट पोल हुए हैं वो ज्यादातर गलत ही साबित हुए हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

लोकसभा चुनाव के नजीते आने में अभी तीन दिन बाकि है। लेकिन उससे पहले ही लगभग सभी न्यूज चैनलों ने नरेंद्र मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनाने का ऐलान कर दिया है। सभी न्यूज चैनलों ने आखिरी चरण के मतदान के दिन सभी एग्जिट पोल दिखाए, जिसमें बीजेपी और एनडीए को बहुमत मिलता दिख रहा है। लेकिन पूर्व बीजेपी नेता और उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने भी एग्जिट पोल के नतीजों पर सावल उठाए हैं। उनका कहना है कि एग्जिट पोल के नतीजे सही नहीं होते।

उपराष्ट्रपति ने एग्जिट पोल को नकारते हुए इसके इतिहास पर सवाल उठाए हैं। वेंकैया नायडू का कहना है कि 1999 के बाद से जितने एग्जिट पोल हुए हैं वो ज्यादातर गलत ही साबित हुए हैं। उनका कहना है कि परिणाम आने से पहले सभी उम्मीदवार अपने आप को जीता हुआ ही मानता है।

उपराष्ट्रपति ने आज के राजनेताओं पर भी सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि आज के राजनीतिक दौर में राजनेता नम्रता खोते जा रहे हैं। उनका कहना है कि नेताओं के भाषणों में काफी ज्यादा नफरत नजर आती है। ऐसा लगता है जैसे वो एक दूसरे के दुश्मन बन गए हैं। लेकिन एक नेता दूसरे नेता का दुश्मन नहीं होता है, वो सिर्फ एक दूसरे के प्रतिद्वंदी होते हैं।

बता दें कि लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री के पद पर बैठे नेता भी भाषा की मर्यादा को तार तार करते दिखे। नेता आरोप लगाने के चक्कर में सारी रेखाओं को पार कर गए। राजीव गांधी से लेकर इंदिरा गांधी, जवाहर लाल नेहरू और महात्मा गांधी तक नहीं छोड़ा गया। राजनीतिक फायदे के लिए राष्ट्रपिता पर भी सवाल उठाए गए।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 20 May 2019, 12:59 PM
/* */